जीवन भर के लिए राष्ट्रपति बनें रह सकते हैं शी चिनफिंग

Samachar Jagat | Sunday, 11 Mar 2018 02:17:40 PM
Chi Chinfing can remain president for a lifetime.

बीजिंग। चीन की संसद यदि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिए महज दो कार्यकाल की अनिवार्यता को आज खत्म कर देती है तो देश के मौजूदा राष्ट्रपति शी चिनफिंग जीवन भर शीर्ष पद पर आसीन रह सकेंगे। चीनी संसद नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) के करीब 3,000 सांसद देश के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति को महज दो कार्यकाल देने की अनिवार्यता खत्म करने के कानून पर मतदान करेंगे।

अगले चुनाव के लिए ट्रंप का नया नारा : 'अमेरिका को महान बनाए रखना है’

गौरतलब है कि सत्तारूढ़ चीनकी कम्युनिस्ट पार्टी के शीर्ष संगठन सात सदस्यीय स्थाई समिति ने इस संशोधन को आम सहमति से मंजूरी दे दी है। एनपीसी के अध्यक्ष झांग देजिआंग ने अपनी कार्य रिपोर्ट में कहा, ‘‘ एनपीसी की स्थाई समिति का प्रत्येक सदस्य संविधान में संशोधन की मंजूरी देता है और उसका समर्थन करता है।’’

पाकिस्तान विदेश मंत्री के चेहरे पर पोती स्याही

एनपीसी को देश के अधिकार विहीन संसद के रूप में देखा जाता है जो हमेशा सीपीसी के सभी प्रस्तावों को मंजूरी दे देता है। इस संविधान संशोधन के भी संसद में बिना किसी रूकावट के ध्वनिमत से पारित होने की पूर्ण संभावना है। पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष माओ त्से तुंग के बाद पिछले दो दशक से पार्टी के नेता दो कार्यकाल की अनिवार्यता का पालन करते रहे हैं ताकि तानाशाही से बचा जा सके और एक दलीय राजनीति वाले देश में सामूहिक नेतृत्व सुनिश्चित किया जा सके।

उ कोरिया के मुद्दे पर ट्रंप ने जिनपिंग से की बातचीत

संविधान संशोधन के बाद 64 वर्षीय शी के जीवन भर चीन का नेता बने रहने के मार्ग का अवरोध समाप्त हो जाएगा। फिलहाल शी का पांच साल का दूसरा कार्यकाल चल रहा है और मौजूदा प्रणाली के तहत वह शासन के 10 साल पूरे होने के बाद 2023 में सेवानिवृत्त होंगे। माओ के बाद शी को देश का सबसे मजबूत नेता माना जाने लगा है क्योंकि वह सीपीसी, सेना दोनों के प्रमुख तथा देश के राष्ट्रपति हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.