चीन करेगा भारतीय कैंसर की दवाओं में सीमाशुल्क कटौती 

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 05:49:20 PM
China will cut customs duties in Indian cancer drugs

बीजिंग। चीन भारतीय दवाओं विशेषकर कैंसर दवाओं के चीन में आयात पर लगने वाले सीमा शुल्क (टैरिफ) में कटौती पर सहमत हुए हैं। चीन के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी।  

इससे कुछ दिन पहले अधिश्वेत रक्तता (ल्यूकेमिया) के एक मरीज पर बनी चीन की एक फिल्म में सस्ती भारतीय दवाओं के आयात का रास्ता साफ करने की जरूरत को रेखांकित किया गया था।

जाकिर नाइक की मलेशियाई प्रधानमंत्री से मुलाकात, भारत नहीं भेजने के फैसले का सत्ताधारी पार्टी ने किया बचाव

हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि क्या चीन यहां बड़े बाजार में कैंसर की दवाओं को बेचने के लिए भारतीय कंपनियों को लाइसेंस देने पर सहमत हुआ है या नहीं, क्योंकि यह एक बड़ा कदम हो सकता है।  

ब्रिटेन के ब्रेग्जिट मामलों के मंत्री डेविड डेविस ने इस्तीफा दिया

सरकार की एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन में हर साल करीब 43 लाख लोग कैंसर से पीडि़त हो रहे हैं। भारतीय दवाओं विशेषकर कैंसर की दवाओं की चीन में बड़ी मांग हैं क्योंकि ये पश्चिमी देशों की तुलना में बहुत सस्ती हैं।  

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने सोमवार को  यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारत और चीन दवाओं पर सीमाशुल्क में कमी पर सहमत हुए हैं। विस्तृत जानकारी के लिए, मैं आपको सम्बंधित अधिकारियों के पास भेजूंगा।  

जीएसपीसी अगले 2-3 महीने में तैयार कर लेगी मुंद्रा एलएनजी टर्मिनल

मई में चीन ने कैंसर की दवाओं के आयात पर सीमाशुल्क में कटौती की थी। यह स्पष्ट नहीं है कि हुआ इसी घोषणा की जिक्र कर रहे थे या नहीं।  मई की घोषणा से भारतीय कंपनियों में कोई खास उत्साह पैदा नहीं हुआ था क्योंकि वे चीन में अपनी दवाओं को कानूनी रूप से नहीं बेच सकते हैं।  

इसके लिए देश के खाद्य एवं दवा विभाग से लाइसेंस की जरूरत है। इससे भारतीय दवाई निर्माता चीन में भी अपनी दवाइयां बेच सकेंगे।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.