परमाणु समझौते को बचाए रखने वाला यूरोप का प्रस्ताव पर्याप्त नहीं : ईरान

Samachar Jagat | Friday, 06 Jul 2018 11:19:59 AM
Europe's proponent to protect nuclear deal is not enough: Iran

विएना।  ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने आज कहा कि परमाणु समझौते से अमेरिका के अलग हो जाने के प्रभावों से निपटने के लिए यूरोप की ओर से दिया गया आर्थिक उपायों का प्रस्ताव पर्याप्त नहीं है। समाचार एजेंसी आईआरएनए की खबर के मुताबिक रूहानी ने फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों को फोन पर कहा कि पैकेज से हमारी सभी मांगे पूरी नहीं हो रही।

थाईलैंड में नाव डूबी, 49 लोग लापता

रूहानी ने उम्मीद जताई है कि वार्ता के लिए बुलाई गए एक बैठक में यह मामला सुलझ सकता है। यह बैठक 2015 में हुए ऐतिहासिक परमाणु समझौते से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अलग होने के दो महीने बाद हो रही है।

मैक्सिको में पटाखा फैक्ट्री में विस्फोटों से 24 की मौत, 49 घायल

इस समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले अन्य देशों - ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, चीन और रूस ने इस समझौते में बने रहने की प्रतिबद्धता जाहिर की है लेकिन अमेरिकी जुर्माने के डर से ईरान से बाहर निकल रही कंपनियों को रोक पाने में असमर्थ प्रतीत हो रहे हैं। एक यूरोपीय राजनयिक ने बताया कि विएना में होने वाली मंत्री स्तरीय बैठक में आर्थिक उपायों के यूरोपीय पैकेज पर चर्चा होगी। इन उपायों का मकसद ईरान को इस समझौते से जोड़े रखना है।

मोदी सरकार का आक्रामक हाव भाव भारत-पाक गतिरोध के लिए जिम्मेदार : इमरान खान

वहीं संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) ने आज कहा कि यमन को संकट से उबारने के लिए एक राजनीतिक हल निकालने की दिशा में सभी पक्षकारों को काम करना चाहिए। साथ ही परिषद ने प्रमुख बंदरगाह हुदैदा को भी खुला रखने का आह्वान किया। संयुक्त राष्ट्र दूत मार्टिन ग्रिफिथ्स ने सुरक्षा परिषद को एक वीडियो लिक के जरिए क्षेत्र की स्थिति से अवगत कराया जिसके बाद परिषद का यह बयान सामने आया।

गुफा में फंसी टीम को एक बार में बाहर नहीं निकाला जा सकता : थाई अधिकारी

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.