यमन युद्ध में अमेरिकी मदद से विमानों में ईंधन भराने संबंधी करार खत्म किया जाए: सऊदी नीत गठबंधन

Samachar Jagat | Saturday, 10 Nov 2018 01:10:37 PM
Fuel Agreement for Aircraft  To be over With American help

दुबई। यमन पर बमबारी करने वाले सऊदी अरब के नेतृत्त्व वाले गठबंधन ने अमेरिका की मदद से विमानों में ईंधन भराने संबंधी करार को खत्म करने लिए कहा है। सऊदी प्रेस एजेंसी (एसपीए) की तरफ से शनिवार को जारी एक बयान में यह बात कही गई। यह बयान वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट के बाद आया है। वाशिंगटन पोस्ट ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि यमन में सऊदी अरब की कार्रवाइयों की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रही निंदा के बीच अमेरिका ने इस करार को खत्म करने का फैसला किया है। इसमें खासतौर पर गठबंधन के द्वारा लगातार किए गए उन बड़े हमलों का जिक्र किया गया जिनमें बच्चों सहित कई नागरिकों की मौत हो गई।

एसपीए ने कहा, हाल ही में सऊदी शासन और उसके नेतृत्त्व वाले गठबंधन ने यमन में स्वतंत्र रूप से लड़ाकू विमानों में ईंधन भरने की अपनी क्षमता में वृद्धि की है। बयान में कहा गया, नतीजतन, अमेरिका के परामर्श से गठबंधन ने यमन में अपने अभियानों के लिए लड़ाकू विमानों में ईंधन भरने में अमेरिकी सहायता को समाप्त करने का अनुरोध किया है। इससे पहले, पेंटागन की प्रवक्ता कमांडर रेबेका रेबरिच ने कहा, सऊदी गठबंधन के साथ चर्चा चल रही है। लेकिन उन्होंने वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट की पुष्टि नहीं की।

अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने अगस्त में चेतावनी दी थी कि सऊदी गठबंधन के लिए अमेरिकी समर्थन बिना शर्त के नहीं है और यह ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी निर्दोष व्यक्ति के जीवन को बचाने के लिए मानवीय रूप से संभव सभी प्रयास किए जाने चाहिए। अमेरिका यमन में चल रहे युद्ध के लिए विमानों में भरे जाने वाले ईंधन के करीब 20 फीसदी हिस्से की सहायता अपनी ओर से दे रहा था। गौरतलब है कि यमन में चल रहे युद्ध में अब तक 10,000 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं और यह देश अब भुखमरी के कगार पर खड़ा है। -एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.