भारत, पाक सिंधु जल संधि पर इस सप्ताह लाहौर में फिर बातचीत शुरू करेंगे

Samachar Jagat | Monday, 27 Aug 2018 12:43:25 PM
India, Pak Sindhu will start talks again in Lahore on this weekend

इस्लामाबाद। प्रधानमंत्री इमरान खान के कार्यभार संभालने के बाद पहली द्बिपक्षीय वार्ता के तहत भारत और पाकिस्तान बुधवार को लाहौर में सिधु जल संधि के विभिन्न आयामों पर फिर से अपनी बातचीत शुरू करेंगे। समाचार पत्र डॉन ने एक सरकारी अधिकारी के हवाले से खबर दी है कि भारत के सिंधु जल आयुक्त पीके सक्सेना के बुधवार को उनके पाकिस्तानी समकक्ष सैयद मेहर अली शाह के साथ दो दिवसीय बातचीत के लिए सोमवार को यहां पहुंचने की संभावना है।

भारत-पाकिस्तान के स्थायी सिधु आयोग की पिछली बैठक मार्च में नयी दिल्ली में आयोजित की गई थी। इस दौरान दोनों पक्षों ने 1960 की सिंधु जल संधि के तहत जल बहाव और इस्तेमाल किए जाने वाले पानी की मात्रा पर ब्यौरा साझा किया था। इमरान खान के 18 अगस्त को प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच यह पहली अधिकारिक वार्ता होगी।

पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री बनने पर खान को लिखे पत्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दोनों देशों के बीच अच्छे पड़ोसियों के संबंध बनाने का भारत का संकल्प व्यक्त किया था। मोदी ने 30 जुलाई को फोन कर खान को उनकी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ की जीत पर मुबारकबाद दी थी और उम्मीद व्यक्त की थी कि दोनों देश द्बिपक्षीय संबंधों में एक नये अध्याय की शुरूआत करने के लिए काम करेंगे। पाकिस्तानी पक्ष 29-30 अगस्त को निर्धारित दो दिवसीय बातचीत के दौरान भारत द्बारा बनाई गई 2 जल संग्रहण और पनबिजली परियोजनाओं पर अपनी आपत्तियां फिर से दर्ज करा सकता है। अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान चेनाब नदी पर 1000 मेगावॉट पाकुल डुल और 48 मेगावॉट लोअर कलनई पनबिजली परियोजनाओं पर अपनी चिताएं व्यक्त करेगा।

अधिकारी ने बताया कि दोनों पक्ष स्थायी सिंधु आयोग पर भविष्य में होने वाली बैठकों का कार्यक्रम और सिधु आयुक्तों की टीमों के दौरों को भी निर्धारित करेंगे। उन्होंने कहा पाकिस्तान और भारत के जल आयुक्तों की साल में दो बैठकें होती हैं और परियोजना स्थलों की तकनीकी यात्राओं की व्यवस्था करनी होती है।

हालांकि समयबद्ध बैठकों और यात्राओं को लेकर पाकिस्तान को कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। दो दिवसीय बैठक में नदियों पर जलीय आंकड़ों को समय पर और सुचारू रूप से साझा करने के तौर-तरीकों और साधनों पर भी चर्चा होने की उम्मीद है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.