परमाणु मुद्दे पर अमेरिका की मांग 'धमकाने वाली': उत्तर कोरिया

Samachar Jagat | Sunday, 08 Jul 2018 10:40:57 AM
 North Korea says US demand nuclear threat on nuclear issue

तोक्यो। अमेरिका और उत्तर कोरिया की दो दिन तक चली गंभीर शांति वार्ता अब संकट में पड़ती दिख रही है। प्योंगयांग ने वाभशगटन की परमाणु निरस्त्रीकरण की मांगों को ''धमकाने वाली" करार देते हुए उन्हें मानने से इनकार कर दिया।

समाचार एजेंसी 'केसीएनए' ने उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता के हवाले से कहा कि पोम्पिओ ने परमाणु मुद्दे पर "एकपक्षीय एवं धमकाने वाली" मांगे रखी, वहीं वाशिंगटन की ओर से किसी भी रचनात्मक कदम की पेशकश नहीं की गई। उन्होंने कहा, ''ऐसा प्रतीत होता है कि अमेरिका ने हमारी सद्भावना और धैर्य को गलत समझ लिया है।"

परमाणु निरस्त्रीकरण योजना की विस्तृत रूप-रेखा तैयार करने प्योंगयांग पहुंचे पोम्पिओ

बयान में कहा गया, '' हमें लगा था कि अमेरिका किसी रचनात्मक प्रस्ताव के साथ आएगा, लेकिन हमारी यह उम्मीद एवं आशा बेहद मूर्खतापूर्ण थी।" पोम्पिओ ने प्योंगयांग के उनके प्रयासों को खारिज करने और अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से शांति प्रक्रिया को फिर शुरू करने के अपील करने के सवाल पर कोई टिप्पणी नहीं की।

विदेश मंत्री ने कहा कि ये पेचीदा मुद्दे हैं लेकिन हमने सभी मुख्य मुद्दों पर कार्य शुरू कर दिए हैं। कुछ में कामयाबी मिली तो कुछ पर अभी और कार्य किया जाना बाकी है। उत्तर कोरिया के साथ हुई बातचीत पर अपने जापानी और दक्षिण कोरियाई समकक्षों के साथ चर्चा के लिये तोक्यो पहुंचे पोम्पिओ ने कहा कि बातचीत सकारात्मक रही।

अमूल थापर अमेरिकी सु़प्रीम कोर्ट जज बनने की दौड़ से बाहर, अंतिम 3 में नहीं बना पाए जगह

पोम्पिओ ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि जापानी समकक्ष के साथ उनकी बैठक रचनात्मक हुई और उन्होंने उत्तर कोरियों पर ''अधिकतम दबाव बनाने" पर चर्चा की। इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री भशजो आबे से भी मुलाकात की, जिन्होंने इस बात पर जोर दिया कि उत्तर कोरिया परमाणु प्रस्ताव का मुद्दा वैश्विक एवं क्षेत्रीय स्थिरता दोनों के लिए महत्वपूर्ण है।- एजेंसी

पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को दस साल की सजा, मरियम को सात साल की कैद

कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग में फंसे 340 से अधिक भारतीयों को नेपाल के सिमीकोट से निकाला गया



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.