दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति को 25 वर्ष का कारावास

Samachar Jagat | Friday, 24 Aug 2018 11:54:10 AM
South Korea former President imprisoned for 25 years

सोल। दक्षिण कोरिया की एक कोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून हे को 25 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है जिस वजह से उन्हें 2017 में सत्ता भी गंवानी पड़ी थी। पार्क लोकतांत्रिक तरीके से निर्वाचित दक्षिण कोरिया की पहली राष्ट्रपति हैं जिन्हें संवैधानिक कोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त होने के कारण पद से हटा दिया था।

सोल की कोर्ट ने 66 वर्षीय पार्क को अपनी दोस्त चोई सून सिल के साथ सांठगांठ करके उनके परिवार और उनके गैर लाभकारी संस्थानों को अरबों वोन का लाभ पहुंचाने का दोषी पाया। पीठासीन न्यायाधीश किम मून सुक ने कहा कि राजनीतिक और वित्तीय शक्तियों के बीच इस तरह के अनैतिक व्यवहार लोकतंत्र की मूल धारणा को नुकसान पहुंचाते हैं और बाजार की अर्थव्यवस्था में विकृतियां पैदा करते हैं।

इससे लोगों को भारी नुकसान तथा समाज में अविश्वास पैदा होता है। इस वजह से सख्त सजा दिया जाना अनिवार्य है। कोर्ट ने सत्ता का गलत इस्तेमाल, रिश्वत और तानाशाही का दोषी पाए जाने के बाद पूर्व सैन्य तानाशाह की बेटी पार्क को 20 अरब वोन का जुर्माना भरने का भी आदेश दिया।

इससे पहले एक निचली अदालत ने अप्रैल में पार्क को 24 वर्ष कारावास की सजा सुनाई थी लेकिन सरकारी अभियोजकों ने उन्हें और कड़ी सजा देने की मांग करते हुए इस फैसले को चुनौती दी थी। दक्षिण कोरिया की एक अन्य अदालत ने जुलाई में सरकारी निधि को नुकसान पहुंचाने और साल 2016 में संसदीय चुनाव में हस्तेक्षप करने के मामले में दोषी पाये जाने के बाद पार्क को अतिरिक्त 8 वर्ष की सजा सुनाई थी।

गौरतलब है कि पार्क 31 मार्च 2017 से जेल में बंद हैं, लेकिन उन्होंने कोर्ट में कुछ भी गलत करने से इनकार किया है। वह अपने पिता द्वारा तीन दशक बाद राष्ट्रपति पद छोडऩे के बाद वर्ष 2012 में देश की पहली महिला राष्ट्रपति बनी थीं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.