म्यांमार में 500 दिन जेल में रहने के बाद दो पत्रकार रिहा

Samachar Jagat | Tuesday, 07 May 2019 01:40:44 PM
Two journalists released after 500 days in Myanmar jail

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

कुआलालंपुर।  म्यांमार मेें आधिकारिक गोपनीयता कानून तोडऩे के मामले में यांगून के बाहरी इलाके में स्थित एक जेल में 500 से अधिक दिनों से कैद रायटर के दो पत्रकारों वा लोन (33) और क्याव सू ओ (29) को मंगलवार को रिहा कर दिया गया। 
वा लोन और क्याव सू को राष्ट्रपति की ओर से माफी दिये जाने के बाद रिहा किया गया है। दोनों को सितंबर में दोषी ठहराते हुए सात वर्ष की कैद की सजा सुनाई गई थी। इस घटना के बाद म्यांमार में लोकतंत्र की प्रगति पर सवाल उठाये जाने लगे तथा राजनयिकों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं समेत विभिन्न वर्गाें ने भी इसका पुरजोर विरोध किया। 

वा लोन ने रिहाई के बाद इंसीन जेल के बाहर कहा,‘‘मैं पत्रकार हूं तथा आगे भी अपना काम जारी रखूंगा। मैं बहुत खुश हूं तथा अपने परिवार एवं सहयोगियों से मिलने के लिए उत्साहित हूं। मैं अपने न्यूजरूम में जाने के लिए और इंतजार नहीं कर सकता। बीबीसी न्यूज के मुताबिक म्यांमार में हर वर्ष नववर्ष के मौके पर जेल में बंद कैदियों को सामूहिक माफी दी जाती है जिसके तहत ना केवल इन दोनों पत्रकारों बल्कि हजारों की संख्या में अन्य कैदियों को भी रिहा किया गया है।

रायटर के मुख्य संपादक स्टीफन जे एडलर ने संवाददाताओं से कहा कि दोनों पत्रकार प्रेस की आजादी के प्रतीक बन चुके हैं। दोनों को ही पिछले माह प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्होंने कहा,‘‘हम बहुत खुश हैं कि म्यांमार ने हमारे साहसी पत्रकारों को रिहा कर दिया है।’’
एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.