‘शुभ कार्य में रहे उत्साह -उमंग’

Samachar Jagat | Thursday, 12 Apr 2018 10:05:20 AM
'Auspiciousness in auspicious work'

मदनगंज-किशनगंज। मुनि पुंगव श्री सुधा सागर जी महाराज ने कहा कि हमें यदि कोई शुभ कार्य करने का अवसर प्राप्त हो तो उस कार्य को अपने जीवन का अंतिम पुण्य कार्य मानकर उत्साह, उमंग और भक्ति के साथ करें क्योंकि जीवन क्षणभंगुर जल की बूंद की तरह है, पता नहीं कब नष्ट हो जाए। हमारी क्रिया जीवन में तभी महत्वशाली होती है जब हम उस पुण्य क्रिया को महत्व दे अन्यथा कोरी क्रिया सम्पूर्ण फलदायी नहीं होती। मुनिश्री ने उक्त विचार बुधवार को महाअतिशयकारी ज्ञानोदय तीर्थ क्षेत्र नारेली में धर्मसभा में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि जीवन का मूल सिद्धांत है कि जो जीव जैसा कर्म करता है वैसा उसे फल भोगना ही पड़ता है।

 जो कर्म सिद्धांत का उल्लेख जैन दर्शन में है वैसा अन्य किसी दर्शन में नहीं। गुरु का आर्शीवाद प्राप्त होते ही प्राणों में उर्जा का संचार होता है। दिगम्बर संत नदी की तरह सत्त प्रवाहमान रहकर सम्पूर्ण धरा पर नंगे पैर पैदल विचरण करते हैं सिर्फ चार्तुमास का अवसर ही ऐसा है जब साधु चार माह एक स्थान पर रूकते हैं, जिससे श्रावक धर्म का लाभ ले लेेते हैं। श्रावक और साधु मिलकर ही वर्षायोग होता है।

मुनिश्री ने कहा कि जिस प्रकार नदी को बहने के दो तट आवश्यक है, गाड़ी चलने के लिए कम से कम दो समान पहिए होने चाहिए उसी प्रकार जिंदगी के रथ को चलाने के लिए श्रावक और साधु का संयमित होकर चलना आवष्यक है। चार दिन की जिंदगी के लिए चार बाते पर्याप्त है- 1-न्यायपूर्वक अर्जन, 2- मार्यादापूर्वक भोग, 3-उदारता पूर्वक दान, 4-जीवन के लिए बिना विचारों सम्र्पण अर्थात् त्याग। ये चार बातें हमें चतुर्गति के बंधन से छुड़ाने में सहायक है। प्रचार-प्रसार संयोजक विनीत कुमार जैन ने बताया गुरुवार प्रात: 8:15 बजे से मुनि सुव्रतनाथ भगवान का अभिषेक एवं शांतिधारा होगी। इसके बाद प्रात: 9:30 बजे मुनिश्री के प्रवचन, 10:30 बजे मुनिश्री की आहारचर्या, 12 बजे सामायिक व सांय 5:30 बजे महाआरती एवं जिज्ञासा समाधान का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.