नया घर बनवाने की सोच रहे हैं तो वास्तु के इन नियमों का रखें ध्यान

Samachar Jagat | Thursday, 09 Aug 2018 07:00:01 AM
If you are thinking of build a new house then keep these rules of Vaastu meditation

धर्म डेस्क। आधुनिक युग में वास्तु का चलन काफी बढ़ गया है लोग घर खरीदने से पहले उसका वास्तु सही है या नहीं ये देखते हैं वहीं जो लोग जमीन खरीदकर घर बनवाते हैं वे भी घर का नक्शा वास्तु के अनुसार ही बनवाते हैं। नक्शा बनवाने के अलावा घर बनवाते समय भी वास्तु से जुड़ी कई बातों को ध्यान में रखना आवश्यक होता है।

अगर वास्तु से जुड़े इन टिप्स को ध्यान में रखा जाए तो घर में रहने वाले लोगों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है। ऐसे में अगर आप अपना घर बनवाने की सोच रहे हैं तो एक बार वास्तु सारणी पर नजर अवश्य डाल लें। इस सारणी में कौनसा कमरा किस दिशा में होना चाहिए इसके बारे में बताया गया है। हम आपको इस सारणी के बारे में यहां बता रहे हैं ये सारणी आपको नया घर बनवाते समय काम आएगी। 

पूजा कक्ष - ईशान कोण 
स्नान घर- पूर्व 
रसोई घर-आग्नेय 
मुखिया का शयन कक्ष- दक्षिण 
युवा दम्पति का शयन कक्ष - वायव्य कोण एवं उत्तर के बीच 
बच्चों का कक्ष - वायव्य एवं पश्चिम 
स्टोर- नैत्रत्य कोण 
जल कूप या बोरिंग - उत्तर दिशा या ईशान कोण 
सीढ़ी घर - नैत्रत्य कोण 
जल कूप या बोरिंग - उत्तर दिशा या ईशान कोण 


सीढ़ी घर- नैत्रत्य कोण 
शौचालय- पश्चिम या उत्तर पश्चिम (वायव्य) 
अविवाहित कन्याओं के लिये शयन कक्ष-वायव्य कोण
अतिरिक्त कक्ष- वायव्य 
भोजन कक्ष-पश्चिम 
अध्ययन कक्ष- पश्चिम एवं  नैत्रत्य कोण के बीच।
कोषागार- उत्तर 

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका नया प्लॉट वास्तुदोष से मुक्त हो तो इन चीजों का रखें ध्यान

अगर चाहते हैं कि माता लक्ष्मी आप पर रहें मेहरबान तो इस तरह से अपनी झाडू का रखें ध्यान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.