जानिए! क्यों किया जाता है कर्पूरगौरं मंत्र का जाप और क्या होता है इसका लाभ

Samachar Jagat | Tuesday, 16 Apr 2019 04:30:56 PM
Learn Why is the chanting of the mantra Karpur Gauram

धर्म डेस्क। कुछ व्यक्ति ऐसे होते हैं जिन्हें हमेशा मृत्यु का भय सताता रहता है, ऐसे व्यक्तियों को एक खास मंत्र का जाप करने से लाभ होता है। लोग इस मंत्र का जाप तो करते हैं लेकिन इसके प्रभाव के बारे में नहीं जानते हैं। इस मंत्र से शिवजी की स्तुति की जाती है और भगवान शिव को ये मंत्र बहुत प्रिय है। अगर व्यक्ति प्रतिदिन इस मंत्र का जाप करता है तो इससे वह भयमुक्त रहता है। आइए आपको बताते हैं इस मंत्र के बारे में ...........

कर्पूरगौरं मंत्र :-

कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारम्।
सदा बसन्तं हृदयारबिन्दे भबं भवानीसहितं नमामि।।

एक महीने से बंद शुभ कार्य ख्रर मास समाप्त होते ही हुए शुरू, अप्रैल माह में हैं विवाह के इतने शुभ मुहूर्त

मंत्र का अर्थ :-

कर्पूरगौरं- कर्पूर के समान गौर वर्ण वाले।
करुणावतारं- करुणा के जो साक्षात् अवतार हैं।
संसारसारं- समस्त सृष्टि के जो सार हैं।
भुजगेंद्रहारम्- इस शब्द का अर्थ है जो सांप को हार के रूप में धारण करते हैं।
सदा वसतं हृदयाविन्दे भवंभावनी सहितं नमामि- इसका अर्थ है कि जो शिव, पार्वती के साथ सदैव मेरे हृदय में निवास करते हैं, उनको मेरा नमन है।

महाभारत के युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाली ये महिला हवनकुंड से हुई उत्पन्न, जानिए जन्म से जुड़ी रोचक कथा के बारे में...

मंत्र का पूरा अर्थ- 

जो कर्पूर जैसे गौर वर्ण वाले हैं, करुणा के अवतार हैं, संसार के सार हैं और भुजंगों का हार धारण करते हैं, वे भगवान शिव माता भवानी सहित मेरे ह्रदय में सदैव निवास करें और उन्हें मेरा नमन है।

(आपकी कुंडली के ग्रहों के आधार पर राशिफल और आपके जीवन में घटित हो रही घटनाओं में भिन्नता हो सकती है। पूर्ण जानकारी के लिए कृपया किसी पंड़ित या ज्योतिषी से संपर्क करें।)

अगर इस मंदिर में पति-पत्नी एक साथ कर लें माता के दर्शन तो वैवाहिक जीवन में परेशानियां हो जाती है शुरू

जो भूखा शेर मां दुर्गा को अपना भोजन बनाने के लिए आया था उसे ही बना लिया देवी ने अपना वाहन, जानिए क्यूं



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.