12 अप्रैल: बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Thursday, 12 Apr 2018 05:13:33 PM
12 april top 10 news in hindi

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से SC/ST कानून कमजोर हुआ : केंद्र

SC / ST laws weaken by Supreme Court verdict: Center

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण कानून से संबंधित उसके फैसले से देश में दुर्भावना, क्रोध एवं असहजता का भाव पैदा हुआ है। केंद्र सरकार की ओर से शीर्ष अदालत के समक्ष लिखित तौर पर रखे गए पक्ष में एटर्नी जनरल ने इसे बहुत ही संवेदनशील मसला बताते हुए कहा कि न्यायालय के फैसले से देश में क्षोभ, क्रोध और उत्तेजना का माहौल बना है, साथ ही आपसी सौहार्द का वातावरण भी दूषित हुआ है। वेणुगोपाल ने कहा कि कार्यपालिका, विधायिका और न्यायपालिका के अपने-अपने अधिकार सन्निहित हैं और इनका उल्लंघन नहीं किया जा सकता। सरकार का कहना है कि न्यायालय के फैसले से कानून कमजोर हुआ है और इसकी वजह से देश को बहुत नुकसान उठाना पड़ेगा। केंद्र सरकार ने इन परिप्रेक्ष्यों में न्यायालय से 20 मार्च के फैसले पर पुनर्विचार करने तथा अपने दिशानिर्देशों को वापस लेने का अनुरोध किया है।

उल्लेखनीय है कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के माध्यम से सरकार ने इस मामले में याचिका दायर करके शीर्ष कोर्ट से अपने गत 20 मार्च के आदेश पर फिर से विचार करने का अनुरोध किया है। सरकार का मानना है कि SC / ST के खिलाफ कथित अत्याचार के मामलों में स्वत: गिरफ्तारी और मुकदमे के पंजीकरण पर प्रतिबंध के शीर्ष कोर्ट के आदेश से 1989 का यह कानून ‘दंतविहीन’ हो जाएगा। मंत्रालय की ये भी दलील है कि सर्वोच्च न्यायालय के हालिया आदेश से लोगों में संबंधित कानून का भय कम होगा और SC / ST समुदाय के व्यक्तियों के खिलाफ हिंसा की घटनाओं में बढ़ोतरी होगी। सुप्रीम कोर्ट ने एक महत्वपूर्ण फैसले में व्यवस्था दी है कि SC / ST अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के तहत दर्ज मामलों में उच्चाधिकारी की बगैर अनुमति के आरोपी अधिकारियों की गिरफ्तारी नहीं होगी।

न्यायालय ने यह भी स्पष्ट किया कि गिरफ्तारी से पहले आरोपों की प्रारम्भिक जांच जरूरी है। पीठ ने गिरफ्तारी से पहले मंजूर होने वाली जमानत में रुकावट को भी खत्म कर दिया है। शीर्ष कोर्ट के इस फैसले के बाद अब दुर्भावना के तहत दर्ज कराये गये मामलों में अग्रिम जमानत भी मंजूर हो सकेगी। न्यायालय ने माना है कि SC / ST अधिनियम का दुरुपयोग हो रहा है। शीर्ष कोर्ट के इस फैसले पर गत दो अप्रैल को भारत बंद का आयोजन किया गया था, जिससे कई राज्यों में सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। कई स्थानों पर आगजनी और हिंसक घटनाएं भी हुई।

 

उपवास छोड़ महिला अपराधों पर मौन तोड़े पीएमः कांग्रेस

Congress targets at PM Modi

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आज बीजेपी की और से किए गए उपवास पर निशाना साधते हुए कहा की सरकार को उपवास छोड़कर महिलाओं की सुरक्षा पर ध्यान देना चाहिए। देश में महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ रहा है और सरकार उपवास कर रही है सरकार को अपना मौन तोड़ना चाहिए।  कांग्रेस के प्रवक्ता कपिल सिब्बल ने यहां पार्टी मुख्यालय में एक विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रधानमंत्री का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान अब बेटी छिपाओ साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि लोग प्रधानमंत्री का उपवास नहीं बल्कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराधों पर उनका रुख जानना चाहते हैं। 

कपिल सिब्बल ने यह निशाना उस समय साधा है जब यूपी के उन्नाव में महिला के साथ बीजेपी विधायक और उसके भाईयों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म और जम्मू के कठुआ में नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री को देश की चिंता नहीं है। लोगों को उनके मौन की जरुरत नहीं बल्कि मुद्दों और समस्याओं पर उनके मन की बात जानना चाहते हैं। 

 

बांग्लादेश में सरकारी नौकरियों से आरक्षण हटाने की घोषणा

bangladesh-ends-reservation-goverment jobs

ढाका। जहां भारत जैसे बड़े देशों में लोग आरक्षण की मांग को लेकर मरने मारने पर उतारू हो जाते है वहीं एक छोटे से देश बांग्लादेश ने सरकारी नौकरियों में से आरक्षण को खत्म कर दिया गया है।बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने बुधवार को सरकारी नौकरियों में आरक्षण को खत्म करने का ऐलान किया है। बांग्लादेश में आरक्षण नीति के खिलाफ हजारों लोग प्रदर्शन कर रहे है इस दौरान पुलिस के साथ देश में कई जगह लोगों का टकराव भी हुआ है जिसमें सैकड़ों लोग घायल भी हुए है। सरकार ने इसमें एक नई व्यवस्था शुरू करने का भी प्रावधान किया है अपाहिजों और अल्पसंख्यकों का सरकारी नौकरियों में प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया जाएगा।

विरोध प्रदर्शन के बीच प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अपने एक बयान में कहा कि विरोध को देखते हुए उनकी सरकार ने आरक्षण व्यवस्था को खत्म करने का फैसला किया है। हसीना ने कहा कि छात्रों को अब सड़कों को खाली कर देना चाहिए और उन्हें अपने घरों को लौट जाना चाहिए। आपकों बता दे की ढाका यूनिवर्सिटी से आरक्षण व्यवस्था को लेकर आंदोलन शुरू हुआ था और ये काफी बढ़ गया था। 

 

उत्तरी चीन में विस्फोटक लेकर जा रहे ट्रक में धमाका, सात लोगों की मौत

blast in Truck in North China seven people die

बीजिंग। उत्तरी चीन में पांच टन से ज्यादा विस्फोटक सामग्री लेकर जा रहे एक ट्रक में विस्फोट होने से सात लोगों की मौत हो गयी जबकि 13 लोग घायल हो गये। शांन्सी प्रांत की झेंआन काउंटी सरकार की ओर से आज उनकी वेबसाइट पर जारी बयान में कहा गया है कि विस्फोट मध्यरात्रि से ठीक पहले विस्फोटकों के गोदाम के पास हुआ। गोदाम में खादानों और निर्माण कार्यों में प्रयोग के लिए विस्फोटक रखा जाता है। सरकार की ओर से जारी बयान के अनुसार, विस्फोट के कारणों की जांच की जा रही है। सरकारी संवाद समिति शिन्हुआ के अनुसार, मरने वालों में ट्रक चालक, गोदाम के कर्मचारी और सुरक्षा गार्ड शामिल हैं।

 

कान फिल्म महोत्सव के लिए नंदिता दास की फिल्म 'मंटो' का चयन

election of Nandita Das's movie Manto for the Cannes Film Festival

मुंबई। अफसानानिगार सआदत हसन मंटो के जीवन पर बनी फिल्म 'मंटो' का चयन कान फिल्म महोत्सव के 'सब सेक्शन अन सर्टन रिगार्ड' श्रेणी में हुआ है। इस फिल्म का निर्देशन भारत की जानी - मानी अभिनेत्री और निर्देशक नंदिता दास ने किया है। साल 2008 में 'फिराक' के बाद उनके निर्देशन में बनी यह दूसरी फिल्म है। दास ने अपने प्रशंसकों के लिए यह खबर ट्विटर पर शेयर की। उन्होंने लिखा, हम कान फिल्म महोत्सव में ! मंटो का चयन इसके आधिकारिक वर्गअन सर्टन रिगार्ड्स में किया गया है। यह खबर इस फिल्म के सभी सदस्यों को रोमांचित कर देने वाली है। इस फ्रेंच फिल्म महोत्सव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने भी इसकी घोषणा की है। इस फिल्म में अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने लेखक मंटो का किरदार अदा किया है।

अभिनेता ने फिल्म महोत्सव की इस घोषणा को साझा करते हुए ट्वीट किया , और यह संभव है कि सआदत हसन मर जाए और मंटो जिंदा रहे। इसकी सूचना देते हुए खुशी हो रही है कि मंटो का चयन कान फिल्म महोत्सव, 2018 के 'अन सर्टन रिगार्ड सेक्शन' में हुआ है। यह फिल्म लेखक मंटो के 1946 से 1950 तक के जीवन पर केंद्रित है। लेखक भारत विभाजन पर लिखी गई अपनी कहानियों के लिए दुनिया भर में विख्यात हैं। उनका जन्म 11 मई, 1912 को हुआ था और वह बाद में पाकिस्तान चले गए। मंटो की मौत 55 साल की उम्र में 18 जनवरी, 1955 को हुई।

 

कठुआ, उन्नाव रेप केस: बॉलीवुड ने न्याय की मांग की

Bollywood's demand  justice In Kathua and Unnao rape case

मुंबई। भारतीय फिल्म उद्योग के कलाकारों ने उन्नाव और कठुआ मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए इस घटना के अपराधियों के खिलाफ तेजी से कार्रवाई करने और उन्हें कठोर सजा देने की मांग की है। देश को झकझोर देने वाले इन दोनों घटनाओं पर जावेद अख्तर, अभिषेक बच्चन, स्वरा भास्कर और हंसल मेहता सहित फिल्म उद्योग के अन्य कलाकारों ने सोशल मीडिया पर इसकी भत्र्सना की हैं।

उन्नाव में बलात्कार पीड़िता एक किशोरी ने दावा किया था कि भाजपा सांसद कुलदीप सिंह सेंगर ने उसके साथ बलात्कार किया। लड़की के पिता की मौत पुलिस हिरासत में हो गई। योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने सेंगर के खिलाफ पहली प्राथमिकी दर्ज की है। वहीं, कठुआ में आठ साल की एक बच्ची के साथ कथित तौर पर आठ लोगों ने बलात्कार करके उसकी निर्मम हत्या कर दी। जाने-माने पटकथा लेखक जावेद अख्तर ने कहा कि लोगों को महिलाओं के अधिकारों के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने लिखा, वह सभी लोग जो महिलाओं के लिए न्याय चाहते हैं उन्हें बलात्कारियों के खिलाफ और इन्हें बचाने वाले लोगों के खिलाफ कठुआ और उन्नाव मामले में आवाज उठानी चाहिए। 

अभिनेता अभिषेक बच्चन ने कठुआ की पीडि़ता आसिफा की तस्वीर हैशटैग करते हुए साझा की। निर्देशक हंसल मेहता ने न्यूयॉर्क टाइम्स की, आसिफा मामले की उस रिपोर्ट को रिट्वीट किया जिसमें हिंदू राष्ट्रवादी, आरोपियों के बचाव में प्रदर्शन कर रहे थे। उन्होंने इस रिपोर्ट का लिंक साझा करते हुए लिखा, क्या यह राष्ट्रवाद है? सोनम कपूर ने भी इस लेख को साझा करते हुए ट्वीट किया,फर्जी राष्ट्रवादी और फर्जी हिंदू ...। अभिनेत्री ने लिखा, फर्जी राष्ट्रवादियों और फर्जी हिंदुओं की वजह से शॄमदा हूं। मैं विश्वास नहीं कर सकती कि यह मेरे देश में हो रहा है।

अभिनेता फिल्म निर्माता फरहान अख्तर ने लिखा, आठ साल की बच्ची के मन में क्या चल रहा होगा ... उसका अपहरण करके कई दिनों तक बलात्कार किया गया और फिर उसकी हत्या। अगर आप उस बच्ची के डर को महसूस नहीं कर सकते, तो आप मनुष्य नहीं हैं। अगर आप आसिफा के लिए न्याय की मांग नहीं कर सकते हैं तो आप किसी चीज से ताल्लुक नहीं रखते हैं।

अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने ट्वीट किया, आठ साल की एक बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या मंदिर में हुई क्योंकि वह मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखती थी  जिसे हिंदू दक्षिणपंथी गुंडे इस क्षेत्र से भगाना चाहते थे। अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने लिखा कि अगर इन लोगों के पास हिंदूत्व के लिए जरा भी आदर है तो उन्हें मंदिर में बच्ची के साथ बलात्कार और हत्या के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। ये लोग नवरात्र करते हैं और देवी मां से प्रार्थना करते हैं और फिर भी बलात्कार करने वाले लोगों के समर्थन में आते हैं तो इन्हें शर्म आनी चाहिए।

 

सुशील की स्वर्णिम हैट्रिक, राहुल ने भी जीता स्वर्ण

Sushils Golden Hat-trick

गोल्ड कोस्ट। भारत के दिग्गज पहलवान सुशील कुमार ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्णिम सफलता हासिल कर इन खेलों में स्वर्ण पदकों की हैट्रिक बना ली है। इससे पहले गुरु सतपाल के शिष्य सुशील ने 2010 (दिल्ली) और 2014 (ग्लास्गो) में स्वर्ण पदक पर कब्जा किया था। दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार ने फाइनल में अपने प्रतिद्वंद्वी दक्षिण अफ्रीका के जोहानेस बोथा को केवल 80 सेकंड में चित करते हुए स्वर्ण पर कब्जा किया। सुशील ने यह मुकाबला 4-0 से अपने नाम किया। यह भारत का 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में 14वां स्वर्ण पदक था।

सुशील से पहले राहुल अवारे ने कुश्ती में भारत को स्वर्ण दिलाया। वहीं पिछली बार की स्वर्ण पदक विजेता बबीता फोगाट को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। उनके अलावा किरण को (76 किलो) कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। राहुल अवारे (57 किलो) ने कनाडा के स्टीवन ताकाहाशी को 15-7 से शिकस्त दी। गत चैम्पियन बबीता फोगाट (53 किलो) को खिताबी मुकाबले में कनाडा की डायना वेकर हार का सामना करना पड़ा। 
 

किदाम्बी श्रीकांत बने दुनिया के नंबर वन शटलर

Kidambi Srikanth becomes world number one

नई दिल्ली। गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में विजयी रथ पर सवार भारत के स्टार शटलर किदाम्बी श्रीकांत ने गुरुवार को ताजा जारी विश्व बैडमिंटन रैंकिंग में बड़ी उपलब्धि अपने नाम कर ली और पहली बार दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी बन गए। श्रीकांत ने गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें राष्ट्रमंडल खेलों की शुरुआत विश्व के दूसरे नंबर खिलाड़ी के रूप में की थी, लेकिन गुरुवार को जारी बीडब्ल्यूएफ विश्व रैंकिंग में वह एक स्थान उठकर शीर्ष पर पहुंच गए जो उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग है। भारतीय शटलर ने वर्ष 2017 में रिकॉर्ड चार सुपर सीरीज खिताब अपने नाम किए थे।

25 वर्षीय शटलर के अब सर्वाधिक 76895 रेटिंग अंक हो गए हैं। वहीं डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसन को एक स्थान का नुकसान हुआ है और वह दूसरे नंबर पर खिसक गए हैं। दुनिया के शीर्ष 10 बैडमिंटन खिलाडिय़ों में वह भारत के शीर्ष और एकमात्र खिलाड़ी भी हैं। गोल्ड कोस्ट में मिश्रित टीम बैडमिंटन स्पर्धा में श्रीकांत ने जीत में अहम भूमिका निभाई और फाइनल में पूर्व नंबर एक मलेशिया के ली चोंग वेई के खिलाफ अपना अहम एकल मैच जीता। गत वर्ष अक्टूबर में श्रीकांत ने डेनमार्क ओपन खिताब जीता था और यह उपलब्धि हासिल करने वाले प्रकाश पादुकोण के बाद वह दूसरे भारतीय शटलर हैं।

इसके अलावा सायना नेहवाल के बाद वह एक ही वर्ष में तीन सुपर सीरीज खिताब जीतने वाले भी वह देश के पहले पुरूष बैडभमटन खिलाड़ी भी हैं। श्रीकांत फ्रेंच ओपन खिताब जीतने के बाद रैंकिंग में चौथे स्थान से उठकर दूसरी रैंकिंग पर पहुंचे थे। महिला एकल में भारत की पीवी सिंधु अपने तीसरे स्थान और सायना नेहवाल अपने 12वें स्थान पर बनी हुई हैं। महिला युगल, पुरूष युगल तथा मिश्रित युगल में फिलहाल शीर्ष 10 में भारत का कोई खिलाड़ी नहीं है। 

 

जुकरबर्ग बोले, मेरा डेटा भी हुआ चोरी, कैंब्रिज एनालिटिका ने बेचा

Zuckerberg says, My data was also stolen, Cambridge Antilica sold

वॉशिंगटन। डेटा लीक मामले में फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग ने अमेरिकी सांसदों के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मेरा भी निजी डेटा चोरी हुआ था और कैंब्रिज एनालिटिका द्वारा बेचा गया। साथ ही जुकरर्बग ने ब्रिटिश कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करने की भी मंशा जताई है। कंपनी पर निजी जानकारियां चुराने और उसका राजनीतिक उपयोग करने का आरोप है। सदन की ऊर्जा एवं वाणिज्य समिति के सामने कल सुनवाई के दौरान जब अमेरिकी सांसदों ने उनसे पूछा कि क्या जिन जानकारियों को दुर्भावनापूर्ण तरीके से तीसरे पक्ष को बेचा गया उसमें उनका निजी डेटा भी शामिल था , इस पर उन्होंने हां में जवाब दिया। ब्रिटिश कंपनी ने 8.7 करोड़ उपयोगकर्ताओं की निजी जानकारियां गलत तरीके से हासिल की है , जिसमें भारतीय उपयोगकर्ता भी शामिल हैं।

सांसदों ने कहा कि अमेरिकी इस बात से चिंतित हैं कि फेसबुक कैसे अपने उपयोगकर्ता के डेटा की सुरक्षा करता है। जुकरबर्ग ने कहा कि ब्रिटिश कंपनी ने क्या किया है , हम इसकी तह तक जाएंगे और प्रभावित लोगों को इसकी जानकारी देंगे। उन्होंने कहा कि अभी हम सिर्फ यह जानते हैं कि कैंब्रिज एनालिटिका ने अनुचित तरीके से फेसबुक उपयोगकर्ताओं की जानकारियां हासिल की। ये सामान्य जानकारियां हैं , जिसे लोग सार्वजनिक रूप से अपने फेसबुक पेज पर साझा करते हैं , जिसमें नाम , प्रोफाइल फोटो और अन्य चीजें शामिल हैं। जब हमने पहले कैंब्रिज एनालिटिका से संपर्क किया तो हमें बताया गया कि डेटा नष्ट कर दिया गया है और उसके करीब एक माह बाद हमने सुना की डेटा नष्ट नहीं किया गया है।

जुकरबर्ग ने अमेरिकी सांसदों के एक सवाल के जवाब में कहा कि वह निजी डेटा चुराने और उसका इस्तेमाल अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में करने की आरोपी ब्रिटिश कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करनी की मंशा रखते हैं। उन्होंने कहा कि कोई अन्य ऐप डेवलपर डेटा का दुरुपयोग तो नहीं कर रहा है यह सुनिश्चित करने के लिए फेसबुक हर ऐप की जांच कर रही है। यदि हम किसी को अनुचित तरीके से डेटा का यूज करते हुए पाएंगे तो उसे अपने मंच से प्रतिबंधित कर देंगे और सभी प्रभावित लोगों को इसकी जानकारी देंगे। एक सवाल के जवाब में जुकरबर्ग ने जोर देते हुए कहा कि फेसबुक डेटा की बिक्री नहीं करती है।

 

161 अंक की बढ़त से साथ बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes with a gain of 161 points

मुंबई। शेयर बाजार में आज कारोबार की शुरुआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर भी ये बढ़त के साथ हरे निशान पर बंद हुआ। बढ़त के माहौल में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 160.69 अंक यानि 0.47 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 34,101.13 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 41.50 अंक यानि 0.40 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,458.65 के स्तर पर बंद हुआ। गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान शेयर बाजार में कारोबार की शुरुआत गिरावट के साथ लाल  निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर ये बढ़त के साथ हरे निशान पर बंद हुआ।

काराबोर की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स सुबह 30 अंक यानी 0.38 प्रतिशत गिरकर 33,750.74 अंक पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 60.19 अंक यानि 0.18 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 33,940.44 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी भी काराबोर की शुरुआत में 35.50 अंक यानी 0.34 प्रतिशत गिरकर 10,366.75 अंक पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 14.90 अंक यानि 0.14 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,417.15 के स्तर पर बंद हुआ। 



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.