15 अप्रैल: बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 15 Apr 2018 04:56:34 PM
15 april top 10 news in hindi
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

किशोरी से रेप के मामलों में मौत की सजा का प्रावधान करने के लिए विधेयक लाया जाए: फारूक अब्दुल्ला

Bill to bring death penalty for teenager from rape cases: Farooq Abdullah

श्रीनगर। विपक्षी दल नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने रविवार को मांग की है कि नाबालिगों से रेप करने वालों के लिए मौत की सजा का प्रावधान करने की खातिर एक विधेयक लाया जाए और इसके लिए जम्मू -कश्मीर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया जाए। अब्दुल्ला ने ये टिप्पणी जम्मू-कश्मीर के कठुआ में 8 वर्षीय एक बच्ची से रेप और उसकी हत्या की बर्बर घटना की देशभर में हो रही निंदा की पृष्ठभूमि में की। उन्होंने मीडिया से कहा कि इस तरह के मामलों में मौत की सजा का प्रावधान किया जाना चाहिए। अब्दुल्ला ने कहा कि वे ( कठुआ मामले में पीडि़त बच्ची ) मेरी बेटी की तरह है।

ऊपर वाले का शुक्रिया कि देश की आंखे खुल गई और इसे बहुत गंभीरता से लिया गया। मुझे उम्मीद है कि न्याय होगा और हम विधानसभा सत्र में एक विधेयक लाएंगे जिसमें इस तरह की घटनाओं में मौत की सजा का प्रावधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस तरह के अपराधों पर रोक लगाने के लिए विधेयक पारित किया जाए और इसके लिए पीडीपी -बीजेपी की सरकार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाना चाहिए। अब्दुल्ला ने कहा कि सरकार केवल इस काम के लिए विशेष सत्र बुलाए। विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया जाएगा और विधेयक पारित किया जाएगा तो यह भविष्य के लिए बहुत अच्छा होगा, ऐसे अपराध नहीं होंगे। जम्मू- कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी कहा कि उनकी सरकार नया कानून लाकर नाबालिगों से दुष्कर्म करने वालों के लिए मौत की सजा को अनिवार्य बनाएगी। महबूबा ने 12 अप्रैल को ट्वीट किया था , हम किसी और बच्चे को इस तकलीफ से नहीं गुजरने देंगे। हम नया कानून लाएंगे जिसमें नाबालिगों से दुष्कर्म करने वालों के लिए मौत की सजा को अनिवार्य बनाया जाएगा। 

 

अफगानिस्तान में जांच चौकी पर आतंकी हमला, 11 की मौत

Terrorist attack on Afghan checkpoint in Afghanistan, 11 killed

काबुल। अफगानिस्तान की जांच चौकी पर तालिबान के हमले में अफगान अर्द्धसैनिक बल के कम से कम 11 सैनिक मारे गए। उत्तरी सारी पुल प्रांत के गर्वनर के प्रवक्ता जाबी अमानी ने बताया कि शनिवार की शाम को हुए हमले में बल के 2 अन्य सदस्य घायल हो गए। उन्होंने बताया कि एक स्थानीय कमांडर सहित 3 आतंकवादी मारे गए और 4 अन्य घायल हो गए। जिन्हें निशाना बनाया गया वे सरकार समर्थित मिलिशिया ‘ लोकल अपराइजिंग फोर्स’ के सदस्य थे। तत्काल किसी ने भी हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन अमानी ने इलाके में मौजूद तालिबान पर आरोप लगाया है।

प्रांतीय गर्वनर के प्रवक्ता आरिफ नूरी के अनुसार अफगानिस्तान में दूसरी जगह आतंकवादियों ने पूर्वी गजनी प्रांत में दो सुरक्षा जांच चौकियों पर हमला किया और इसमें 4 पुलिस कर्मी मारे गए और 5 अन्य घायल हो गए। उन्होंने बताया कि तालिबान ने जांच चौकियों पर अंधाधुंध गोलीबारी की और इसके बार सडक़ किनारे बम लगा कर भेजे गए अतिरिक्त सुरक्षा बल को निशाना बनाया। प्रांत के बड़े हिस्से पर नियंत्रण रखने वाले तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली और कहा है कि उसने हथियारों और गोलाबारूद पर कब्जा कर लिया।गुरूवार की रात को गजनी के एक अन्य हिस्से में तालिबान ने एक सरकारी परिसर पर हमला किया। कई घंटों तक चली मुठभेड़ में 3 वरिष्ठ स्थानीय अधिकारियों समेत 15 लोग मारे गए। 

 

भारत के साथ सभी लंबित मुद्दों का शांतिपूर्ण हल करें, संरा ने पाक से कहा

Peacefully solve all pending issues with India, Sanra told Pak

संयुक्त राष्ट्र। नियंत्रण रेखा पर तनाव को लेकर महासचिव एंतोनियों गुतारेस की चिंता पर जोर देते हुये संयुक्त राष्ट्र के एक प्रमुख अधिकारी ने पाक से कहा है कि वे भारत के साथ सभी लंबित मामलों को शांतिपूर्ण ढंग से सुलझाए। राजनीतिक मामलों के लिए संयुक्त राष्ट्र के सहायक महासचिव मिरोस्लाव जेन्का ने 13 अप्रैल को अपने पाकिस्तान दौर के समापन के बाद यह टिप्पणी की। उन्होंने 12 अप्रैल को विदेश सचिव तहमीना जांजुआ और विदेश मंत्रालय के विशेष सचिव तस्नीम असलम से मुलाकात की। उन्होंने कूटनीतिक समुदाय के प्रतिनिधियों और संयुक्त राष्ट्र कंट्री टीम ( यूएनसीटी ) के सदस्यों से भी मुलाकात की। संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता के कार्यालय की तरफ से जारी एक बयान के अनुसार जेंका ने इस बात पर जोर दिया कि महासचिव भारत और पाकिस्तान के बीच नियंत्रण रेखा पर बढ़ते तनाव को लेकर चिंतित हैं। बयान में कहा गया कि , वे अधिकतम संयम के महासचिव के आव्हान और दोनों देशों के बीच शांतिपूर्ण माध्यम से तनाव को कम करने के प्रयासों को दोहरा रहे हैं। जेंका ने इस्लामाबाद में अपनी बातचीत को रेखांकित करते हुए कहा पाकिस्तान क्षेत्र में शांति और स्थायित्व तथा बहुपक्षवाद के महत्व को समझता है। 

 

केंद्रीय गृह सचिव बोले, माओवाद प्रभावित इलाके घटे, 44 जिलों को सूची से हटाया 

Union Home Secretary said, Maoist affected areas were reduced, 44 districts removed from list

नई दिल्ली। देश के 44 जिले अब माओवाद प्रभावित नहीं हैं या फिर वहां माओवादियों की मौजूदगी न के बराबर है। वाम चरमपंथ अब केवल 30 जिलों तक ही सीमित रह गया है। केंद्रीय गृह सचिव राजीव गॉबा ने कहा कि वाम चरमपंथ की हिंसा का भौगोलिक फैलाव बीते 4 साल में उल्लेखनीय ढंग से सिमटा है। इसका श्रेय सुरक्षा और विकास संबंधी उपायों की बहुमुखी रणनीति को जाता है। उन्होंने पीटीआई - भाषा को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि 44 जिलों में वाम चरमपंथ या तो है ही नहीं या फिर उसकी मौजूदगी न के बराबर है। नक्सली हिंसा अब उन 30 जिलों तक सीमित रह गई है जो जिले कभी इससे बुरी तरह प्रभावित थे।

गॉबा ने कहा कि नक्सल विरोधी नीति की मुख्य विशेषता है हिंसा को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं करना और विकास संबंधी गतिविधियों को बढ़ावा देना ताकि नई सडक़ों , पुलों , टेलीफोन टॉवरों का लाभ गरीबों और प्रभावित इलाकों के लोगों तक पहुंच सके। गृह मंत्रालय ने 10 राज्यों में 106 जिलों को वाम चरमपंथ प्रभावित की श्रेणी में रखा है। ये जिले सुरक्षा संबंधी खर्च ( एसआरई ) योजना के तहत आते हैं। इसका उद्देश्य सुरक्षा संबंधी खर्च जैसे ढुलाई , वाहनों को भाड़े पर लेना , आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों को वजीफा देना , बलों के लिए आधारभूत ढांचे का निर्माण आदि के लिए भुगतान करना है। श्रेणीबद्ध करने से सुरक्षा और विकास संबंधी संसाधनों की तैनाती पर ध्यान केंद्रित करने का आधार मिल जाता है। गत कुछ वर्षों में कुछ जिलों को छोटे जिलों में विभाजित किया गया है।

इसके परिणामस्वरूप 106 एसआरई जिलों का भौगोलिक इलाका 126 जिलों में फैला है। गृह मंत्रालय ने प्रभावित जिलों के निरीक्षण के लिए हाल में राज्यों के साथ व्यापक स्तर पर बातचीत की ताकि बदलती जमीनी सचाई के अनुसार बलों और संसाधनों की तैनाती की जा सके। इस तरह एसआरई सूची से 44 जिलों को बाहर किया गया और आठ नए जिलों को इसमें जोड़ा गया। अपने प्रभाव वाले इलाकों को बढ़ाने के माओवादियों के किसी भी प्रयास को देखने के लिए यह अग्रसक्रिय कदम है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि इसलिए एसआरई जिलों की कुल संख्या 90 है। इसी तरह माओवाद से बुरी तरह प्रभावित जिलों की संख्या 35 से घटकर 30 रह गई है।

 

रजनीकांत और सलमान की होगी बॉक्स ऑफिस पर टक्कर

Rajinikanth and Salman will hit the box office

मुंबई। दक्षिण भारतीय फिल्मों के महानायक रजनीकांत और दबंग स्टार सलमान खान की फिल्मों की बॉक्स ऑफिस पर टक्कर हो सकती है। ईद के अवसर पर 15 जून को सलमान खान और रजनीकांत की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर टकरा सकती हैं। रजनीकांत स्टारर फिल्म काला (काला-कलिकरण) की रिलीज़ डेट आगे बढ़ा दी गई है। पहले इस फिल्म को 27 अप्रैल को रिलीज़ होना था, लेकिन निर्माताओं ने तय किया है कि ये फिल्म अब उस दिन रिलीज़ नहीं की जाएगी।

काला को अब ईद के मौके पर लाने की तैयारी की जा रही है। उसी दिन सलमान खान की फिल्म रेस-3 भारत सहित दुनिया के कई देशों में रिलीज़ की जाएगी। अभी तक इस बात की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है कि काला को ईद पर ही रिलीज़ किया जाएगा, लेकिन मेकर्स को रजनीकांत की फिल्म को रिलीज़ करने के लिए यही डेट सूट कर रही है।

फिल्म काला को रजनीकांत के दामाद धनुष ने प्रोड्यूस किया है। पी ए रंजीत निर्देशित काला मुंबई की पृष्ठभूमि में एक गैंगस्टर ड्रामा है। फिल्म में रजनीकांत ने डॉन की भूमिका निभाई है, ये तमिलनाडु से भाग कर मुंबई आए ऐसे आदमी की कहानी है जो धारावी इलाके में अपना सिक्का चलाता है। ये रजनीकांत की 164वीं फिल्म है। यह फिल्म तमिल और तेलुगू के अलावा हिंदी में भी रिलीज़ की जाएगी। 

 

ऐश्वर्या के साथ डेट पर जाना चाहते हैं टाइगर

Tiger wants to go on date with Aishwarya

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्रॉफ, ऐश्वर्या राय के साथ डेट पर जाना चाहते हैं। टाइगर श्रॉफ की फिल्म बागी-2 हाल ही में प्रदर्शित हुई है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर 150 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई कर चुकी है। टाइगर श्रॉफ बेहद शर्मीले हैं और अपनी हीरोइनों से बात करते हुए भी शरमा जाते हैं। टाइगर ने बताया कि वह किस एक्ट्रेस के साथ डेट पर जाना पसंद करेंगे। उन्होंने बताया कि वह ऐश्वर्या राय बच्चन जो उनसे 16 साल बड़ी हैं उनके साथ डेट पर जाना चाहते हैं। टाइगर ने बताया कि वह ऐश्वर्या को उस समय से पसंद करते हैं जब उन्होंने फिल्मों में कदम रखा था। ऐश्वर्या की खूबसूरती का जादू उन पर भी चल गया था और वे अभी भी ऐश्वर्या को पसंद करते हैं। हो सकता है कि ऐश्वर्या के साथ टाइगर को स्क्रीन पर ही रोमांस करने का मौका मिल जाए क्योंकि इन दिनों ऐश्वर्या अपनी उम्र में छोटे हीरो के साथ फिल्में कर रही हैं।

 

गंभीर की अगुवाई वाली डेयरडेविल्स के सामने कार्तिक की होगी कड़ी परीक्षा

Karthik will face tough test in front of Gambhir Daredevils

कोलकाता। दिनेश कार्तिक की आईपीएल में सोमवार को तब बड़ी परीक्षा होगी, जब उनकी अगुवाई में कोलकाता नाइटराडर्स की टीम दिल्ली डेयरडेविल्स का सामना करेगी जिसके कप्तान गौतम गंभीर हैं जिनके नेतृत्व मेेंं केकेआर 2 बार चैंपियन बना था। लगातार 2 हार के बाद कार्तिक की अगुवाई वाली केकेआर वापसी के लिए बेताब है जबकि दिल्ली ने मुंबई के खिलाफ जीत दर्ज करके वापसी की है और वे इसे बरकरार रखने की कोशिश करेगी।

कोलकाता ने रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ जीत के साथ शुरूआत की थी लेकिन इसके बाद उसे चेन्नई सुपरकिंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। दूसरी तरफ दिल्ली अपने शुरूआती मैच में किंग्स इलेवन पंजाब से हार गई थी और इसके बाद बारिश से प्रभावित मैच में राजस्थान रायल्स के खिलाफ उसने पूरे अंक गंवाये लेकिन मुंबई के खिलाफ जैसन रे की नाबाद 91 रन की पारी से टीम जीत दर्ज करने में सफल रही। डेयरडेविल्स के कोलकाता मे मैच होने का मतलब है कि भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी गत माह अपनी पत्नी के आरोप झेलने के बाद पहली बार शहर में होंगे। उनकी पत्नी ने दस अप्रैल को अलीपुर अदालत में केस दर्ज कराया। इस पर शमी को 15 दिन के अंदर उपस्थिति होने के लिये कहा गया है।

शमी अब तक डेयरडेविल्स के तीनों मैच में खेले हैं और एक टीम अधिकारी ने कहा कि उनके उपलब्ध नहीं रहने का सवाल नहीं उठता। मैदान पर गंभीर की टीम का पलड़ा भारी रहने की संभावना है भले ही केकेआर के खिलाफ उसका रिकार्ड 8-12 है। गंभीर 2011 से 2017 तक केकेआर से जुड़े रहे और वह परिस्थितियों से अच्छी तरह वाकिफ हैं। वे अपनी पूर्व टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना चाहेंगे जिसने उसे रिटेन नहीं किया। केकेआर के बल्लेबाज अभी तक जलवा नहीं दिखा पाए हैं। कार्तिक को उप कप्तान रोबिन उथप्पा से बड़ी पारी की उम्मीद रहेगी जो अब तक तीन मैचों में 13, 29 और 3 रन ही बना पाए हैं। कार्तिक को खुद भी प्रभाव छोडऩे की जरूरत है। 

 

गेंद छेड़छाड़ प्रकरण के बाद राष्ट्रमंडल खेलों ने ऑस्ट्रेलिया की प्रतिष्ठा फिर से कायम की

Commonwealth Games reinstated Australia reputation after ball tampering episode

गोल्ड कोस्ट। राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन समिति के अध्यक्ष पीटर बैटी ने रविवार को कहा कि ‘ गेंद से छेड़छाड़ ’ प्रकरण के बाद हुई ऑस्ट्रेलिया की बदनामी के बाद इसके सफल अयोजन ने खेलों की दुनिया में देश की खोई प्रतिष्ठा वापस दिला दी है। बैटी ने कहा कि इन खेलों ने ऑस्ट्रेलिया की वैश्विक प्रतिष्ठा को बहाल किया है। राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान हमारी खेलभावना देखने को मिली जो ऑस्ट्रेलिया की पहचान भी है। इसमे उचित खेल के साथ कोई धोखाधड़ी ना हो और विजेताओं का सम्मान करना शामिल है। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ , उपकप्तान डेविड वार्नर और कैमरन बैनक्रॉफ्ट को केप टाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच में गेंद को छेड़छाड़ करने का दोषी ठहराया गया था जिससे ऑस्ट्रेलिया की खेल संस्कृति की कड़ी आलोचना हुई थी। 

 

आईडीबीआई बैंक ने वित्तीय सेहत सुधारने, एनपीए कम करने की रूपरेखा बनाई

IDBI Bank outlines financial health reform, NPA reduction

मुंबई। सार्वजनिक क्षेत्र के आईडीबीआई बैंक ने अपनी वित्तीय सेहत सुधारने और गैर निष्पादित आस्तियों ( एनपीए ) में कमी लाने के लिए विस्तृत रूपरेखा बनाई है। रिजर्व बैंक ने हाल में आईडीबीआई बैंक को पत्र भेजकर उसकी विभिन्न कमजोरियों का जिक्र किया है। सूत्रों ने कहा कि बैंक ने अपना पूंजी आधार मजबूत करने के लिए कई गैर प्रमुख संपत्तियों तथा रियल एस्टेट संपत्तियों की पहचान कर उनकी बिक्री की योजना पर काम कर रहा है। रियल एस्टेट परिसंपत्तियों के मामले में आईडीबीआई बैंक सबसे अमीर बैंकों में से एक हैं। पिछले महीने बैंक ने मुंबई में बांद्रा कुर्ला परिसर में स्थित अपनी एक इमारत को भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड ( सेबी ) को 1,000 करोड़ रुपए में बेचने के लिए सौदा किया है। इससे पहले 27 मार्च को बैंक को सरकार की तरह से 7,881 करोड़ रुपए का पूंजी निवेश मिला है। यह भारत सरकार द्बारा 2017-18 में आईडीबीआई बैंक में 10,610 करोड़ रुपए की पूंजी डालने की घोषणा के तहत शेष बीच राशि थी। पिछले साल बैंक में 2,729 करोड़ रुपए डाले गए थे। 

 

चालू तिमाही में 19 कोयला खानों की नीलामी करेगी सरकार

Government to auction 19 coal mines in the current quarter: Secretary

नई दिल्ली। कोयला खान नीलामी दो बार रद्द होने के बाद सरकार बोली लगाने वालों को कुछ और छूट देने पर विचार कर रही है और चालू तिमाही में उसकी योजना 19 ब्लॉकों की बिक्री करने की है। एक शीर्ष अधिकारी ने यह बात कही। पिछले साल बोलीदाताओँ से खराब प्रतिक्रिया मिलने के बाद सरकार ने नीलामी के पांचवें दौर को रद्द कर दिया था। कोयला सचिव सुशील कुमार ने कहा , हां हम कोयला ब्लॉक नीलामी के अगले दौर के इच्छुक हैं।

शायद यह सही समय है इसलिए इस तिमाही में कोयला ब्लॉक नीलामी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि 19 ब्लॉक में से 6 ब्लॉकों की पहचान इस्पात क्षेत्र के लिए की गई है जबकि अन्य 13 ब्लॉकों को सीमेंट , स्पंज आयरन और बिजली जैसे गैर - विनियमित क्षेत्रों के लिए चिह्नित किया गया है। कुमार ने कहा कि हम इस बात पर विचार कर रहे हैं कि बोलीदाताओं को क्या छूट दी जा सकती है , जिससे इस दौर की नीलामी को पर्याप्त प्रतिस्पर्धा और पारदर्शिता के साथ सफल बनाया जा सके। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 
loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.