19 मई : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 19 May 2019 03:34:52 PM
19 May top 10 news

भगवान केदारनाथ का आशीर्वाद भारत और संपूर्ण मानव जाति पर बना रहे: मोदी

Baba Bholes blessings remain on India Modi

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को केदारनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद कहा कि भगवान केदारनाथ का आशीर्वाद भारत और संपूर्ण मानव जाति पर बना रहे । मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद प्रधानमंत्री ने वहां मौजूद मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, ‘‘मैं कुछ नहीं मांगता । मैं मांगने की प्रवृत्ति से सहमत भी नहीं हूं । क्योंकि उसने आपको मांगने योग्य नहीं बनाया है बल्कि देने योग्य बनाया है । ईश्वर ने उसे देने योग्य क्षमता दी है उसे वह समाज को देना चाहिए ।’’ उन्होंने कहा, 'भगवान बाबा केदारनाथ का भारत ही नहीं पूरी मानव जाति के लिए, उनकी सुख समृद्धि और कल्याण के लिए आशीर्वाद बना रहे ।' प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि केदारनाथ की आध्यात्मिक चेतना की भूमि पर उन्हें कई वर्षों से आने का अवसर मिलता रहा है ।

उन्होंने केदारनाथ आने की अनुमति देने के लिए चुनाव आयोग का भी आभार जताया और कहा कि इससे उन्हें दो दिन का विराम मिला। केदारनाथ के निकट एक गुफा में बिताए समय का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस दौरान वह बाहर के वातावरण से पूरी तरह कटे रहे जहां कोई कम्युनिकेशन नहीं था। उन्होंने कहा कि वहां एक छोटी सी खिड़की से 24 घंटे केदारनाथ के दर्शन होते रहते हैं। केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास एक मिशन है जिसमें प्रकृति, पर्यावरण और पर्यटन का ध्यान रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि केदारनाथ के काम के लिए एक समर्पित टीम है जो बहुत मुस्तैदी से काम कर रही है । उन्होंने कहा कि वह स्वयं भी समय-समय पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से वहां चल रहे कार्यों की निगरानी करते रहते हैं ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सामान्यत: कपाट खुलने के बाद बहुत लोग दर्शन के लिए पहुंचते हैं लेकिन जो सैकड़ों लोग उन्हें सुविधा प्रदान करते हैं, उनका भी इसमें एक बड़ा योगदान है । मोदी ने कहा,‘‘अब केदारनाथ में काम ठीक चल रहा है और मैं अपेक्षा करता हूं कि लोग सिंगापुर और दुबई जाने के अलावा केदारनाथ तथा भारत की अन्य जगहों पर भी जाएं क्योंकि अपने देश में भी देखने लायक काफी कुछ है । उन्होंने मीडिया का भी आभार व्यक्त किया कि चुनाव की व्यस्तता के बावजूद वह केदारनाथ पहुंचे और इससे अच्छा संदेश जाएगा कि केदारनाथ में सुख सुविधाएं विकसित हो चुकी हैं। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वोट डालने के बाद कहा, केंद्र में राजग की प्रचंड बहुमत की सरकार बनेगी

A big majority of NDA will form government at the Center

गोरखपुर। लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखपुर में अपने मताधिकार का प्रयोग करने के बाद केन्द्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के बनने का दावा किया। योगी गोरखनाथ क्षेत्र में स्थित प्राथमिक कन्या विद्यालय स्थित मतदान केन्द्र पर सुबह सात बजकर 10 मिनट पर पहुंचे और मतदान किया।

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा ''केन्द्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन राजग की प्रचंड बहुमत की सरकार बनेगी। जिस प्रकार राष्ट्रवाद , विकास और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार द्बारा किए कार्यों को लेकर जनता में उत्साह है वह इस ओर एक इशारा है कि ..अबकी बार फिर .मोदी सरकार..। ’’ मुख्यमंत्री ने चुनाव आयोग के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और शान्तिपूर्ण ढंग से इस बार छह चरणों के चुनाव सम्पन्न हुए हैं और आज सातवां चरण भी इसी प्रकार पूरा होगा।

उन्होंने कहा कि वर्ण, जातिवाद, क्षेत्रवाद और भाषावाद से ऊपर उठकर मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। बंगाल की घटना को लोकतंत्र को खतरनाक बताते हुए कहा कि ममता बनर्जी ने जिस प्रकार अपने कार्यकर्ताओं द्बारा सम्पूर्ण चुनाव को प्रभावित करने का काम किया है वह निन्दनीय है।

यूएई का मक्का में आपात सम्मेलन के सऊदी के आह्वान को समर्थन

UAE support for the call of the emergency conference in Mecca

अबु धाबी। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने फारस के खाड़ी क्षेत्र में हुए हाल के हमलों को देखते हुए सऊदी अरब के राजा सलमान बिन अब्दुलाजीज अल सऊद की ओर से 30 मई को अरब नेताओं के आपातकालीन सम्मलेन में भाग लेने के आह्वान का समर्थन किया है। यूएई के विदेश मंत्रालय ने रविवार को अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित एक बयान में कहा,''मौजूदा महत्वपूर्ण परिस्थितियां एक एकीकृत अरब और खाड़ी रुख को घेरने वाली चुनौतियों और जोखिमों की ओर ले जाती हैं ... (सऊदी नेता का आह्वान) क्षेत्र के देशों के लिए शांति और स्थिरता स्थापित करने तथा हमारी संयुक्त सुरक्षा, संप्रभुता एवं उपलब्धियां सुनिश्चित करने के लिए उनकी आकांक्षाओं को हासिल करने का महत्वपूर्ण अवसर प्रदान करता है।’’

गौरतलब है कि 12 मई को दो सऊदी जहाजों और संयुक्त अरब अमीरात के झंडे वाले एक जहाज सहित चार तेल टैंकरों को यूएई तट के पास रहस्यमय विध्वंसक हमले के दौरान निशाना बनाया गया था। कुछ दिनों बाद, यमनी हौउती विद्रोहियों ने एक सऊदी तेल पाइपलाइन पर ड्रोन हमले किए, जिससे आग लग गई और सुविधा को मामूली नुकसान पहुंचा।

तेल टैंकरों पर हमले की जिम्मेदारी अभी तक किसी ने नहीं ली है, लेकिन अमेरिका, जिसने फारस की खाड़ी में अपनी सैन्य उपस्थिति बढ़ा दी है, का ईरान के साथ तनाव बढ गया है। कथित तौर पर यह माना जा रहा है कि ईरान ने तोड़फोड़ का विरोध किया होगा। मक्का आगामी 30 मई को इस्लामी सहयोग संगठन के नेताओं की एक उच्च स्तरीय बैठक की मेजबानी करने के लिए तैयार है।

वेनेजुएला दूतावास को कब्जे में लेने के विरोध में प्रदर्शन

Demonstrate protest against occupying the Venezuela embassy

वाशिंगटन। अमेरिका में वेनेजुएला दूतावास को कब्जे में लिए जाने और वेनेजुएला सरकार के मेहमानों के रूप में राजनयिक सुविधा में रह रहे चार कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के विरोध में व्हाइट हाउस के बाहर लगभग 200 लोगों ने प्रदर्शन किया। 
सूत्रों के अनुसार प्रदर्शनकारी शुरू में वेनेजुएला के दूतावास के सामने एकत्र हुए और फिर व्हाइट हाउस की ओर मार्च किया जहां कई वक्ताओं ने एक संप्रभु राष्ट्र के दूतावास को अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन कर भंग करने के अमेरिकी सरकार के कार्यों को दोहराया और एक खतरनाक मिसाल पेश की जो अमेरिका समेत विश्व की सभी राजनयिक सुविधाओं को खतरे में डालती है।

करीब 20 पुलिस अधिकारी वर्दी में और कई अन्य बगैर वर्दी के वेनेजुएला दूतावास के बाहर मौजूद रहे जिसे लोहे के बैरिकेड से बंद किया जाना है। पुलिस ने जुलूस के व्हाइट हाउस की ओर बढने से रोकने के लिए यातायात अवरूद्ध किया। अमेरिकी विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि गुआइदो की सरकार जिसे अमेरिका वेनेजुएला के नेता के रूप में मान्यता दी है, ने प्रदर्शनकारियों को दूतावास से हटाने में अमेरिकी मदद मांगी।

वेनेजुएला में जनवरी से ही स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है क्योंकि विपक्ष के नेता जुआन गुआइदो ने खुद को अंतरिम राष्ट्रपति घोषित कर दिया था। इसके बाद अमेरिका और इसके सहयोगी देशों ने गुआइदो को मान्यता देते हुए मादुरो से पद से हट जाने को कहा था। अमेरिकी अधिकारियों ने बार-बार कहा है कि वेनेजुएला संकट के समाधान के लिए सैन्य कार्रवाई से लेकर तमाम विकल्प खुले हुए हैं। मादुरो ने अमेरिका पर पलटवार करते हुए गुआइदो को अपनी कठपुतली के रूप में स्थापित करने और वेनेजुएला के प्राकृतिक संसाधनों पर कब्जा करने की नीयत से तख्तापलट करने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। 

'मुन्ना भाई’ फिल्म इतनी सफल होगी, इसका अंदाजा नहीं था : प्रिया बापट

Munna Bhai movie will be so successful it was not an idea Priya Bapat

मुंबई। सुपरहिट फिल्म 'मुन्ना भाई एमबीबीएस’ और उसके सीक्वल 'लगे रहो मुन्ना भाई’ में छोटी सी भूमिका निभाने वाली प्रिया बापट का कहना है कि उन्हें अंदाजा नहीं था कि यह फिल्म इतनी सफल होगी। प्रिया मराठी सिनेमा का जाना माना नाम हैं। एक कलाकार के तौर पर अपने करियर के बारे में बात करते हुए वह कहती हैं, ''मेरे करियर में कुछ भी योजनाबद्ध नहीं था। 

जब मैंने 'मुन्ना भाई’ की तब मैं कॉलेज में थी। मेरी एक अध्यापक ने मुझे एक कॉलेज छात्रा का रोल निभाने को कहा। मैंने ऑडिशन दिया और मैं चुन ली गई।’’ प्रिया ने कहा, फिल्म के सीक्वल के लिए मुझे फिल्मकारों का फोन आया और मुझे फिल्म मिल गई। अभिनेत्री कहती हैं कि उस वक्त वह यह समझ नहीं पाईं थीं कि फिल्म इतनी सफल रहेगी। 

वह कहती हैं, मैं जानती थी कि संजय दत्त फिल्म के हीरो हैं और राजकुमार हिरानी इसे निर्देशित कर रहे हैं, यहां तक कि फिल्म के प्रीमियर के दौरान और उसके रिलीज के बाद भी मैं समझ नहीं पाई थी कि यह इतनी सफल रहेगी। मुझे ऐसा नहीं लग रहा था। प्रिया फिलहाल हॉटस्टार पर नागेश कुकनूर की वेब सीरीज 'सिटी ऑफ ड्रीम्स’ में दिखाई दे रही हैं। वह कहती हैं कि आज के वक्त में कंटेन्ट का बोलबाला है।

एक-दो फ्लॉप फिल्मों से खान त्रिमूर्ति का जमाना नहीं चला जाएगा : नवाजउद्दीन

Khan trimurti will not go away from doing one or two flopsfilms Nawazuddin

मुंबई। बॉलीवुड में अपने संजीदा अभिनय के लिए मशहूर नवाजउद्दीन सिद्दिकी का कहना है कि एक-दो फ्लॉप फिल्मों से खान त्रिमूर्ति का जमाना नहीं चला जाएगा। हाल के समय में खान त्रिमूर्ति शाहरूख खान, आमिर खान और सलमान खान की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर उम्मीद के अनुरूप कारोबार नही कर पायी हैं। 

नवाजुद्दीन हाल ही में अरबाज खान के चैट शो पर पहुंचे थे। इसमें नवाजुद्दीन से एक फैन के सवाल का जवाब देने के लिए कहा गया। सवाल था कि क्या उन्होंने बॉलीवुड के सभी खान (सलमान, शाहरुख और आमिर) को पीछे छोड़ दिया है? यह सुनकर नवाजुद्दीन जोर-जोर से हंसने लगे और कहा, एक पिक्चर फ्लॉप हो तो थोड़ी ना खान का जमाना चला गया। भाई, मुझे काम करने दो। मैं एक्टर हूं और मैं हर रोल को करूंगा। अब मैं अपने प्रोफेशन से तो बाज नहीं आऊंगा। -एजेंसी 

पोलार्ड, ब्रावो सहित 10 खिलाड़ियों को वेस्टइंडीज़ क्रिकेट बोर्ड ने किया विश्वकप के रिजर्व खिलाड़ियों में शामिल

West Indies Cricket Board included 10 players including Pollard, Bravo, in World Cup reserve players

सेंट जॉन्स। कीरोन पोलार्ड, ड्वेन ब्रावो और सुनील एम्ब्रिस सहित 10 खिलाड़ियों को वेस्टइंडीज़ क्रिकेट बोर्ड ने 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने जा रहे आईसीसी क्रिकेट विश्वकप के लिए रिजर्व खिलाड़ियों में शामिल किया है। विडीज़ बोर्ड में चयनकर्ता प्रमुख रॉबर्ट हाएंस ने रिजर्व खिलाड़ियों की सूची जारी करते हुए कहा,''हमने रिजर्व खिलाड़ियों में अपने चुनिंदा चेहरों को जगह दी है ताकि हमारे पास ​बढ़िया खिलाड़ियों का पूल तैयार हो सके और यदि जरूरी हो तो जरूरत के हिसाब से हमारे पास विकल्प मौजूद हों।’’

उन्होंने कहा,''हमें लगता है कि पूल में जो भी खिलाड़ी मौजूद हैं वे प्रतिभाशाली और अनुभवी हैं साथ ही युवाओं को भी मौका दिया गया है जो अपना योगदान राष्ट्रीय टीम को दे सकते हैं।’’ इससे पहले उम्मीद थी कि पोलार्ड को 15 सदस्यीय विश्वकप टीम में किसी चोटिल खिलाड़ी की जगह शामिल किया जा सकता है, इस पर कोई आधिकारिक सूचना नहीं दी गई लेकिन फिर उन्हें रिजर्व खिलाड़ियों की सूची में जगह दे दी गई। गत वर्ष अक्टूबर में अपने संन्यास की घोषणा करने वाले ब्रावो को भी रिजर्व खिलाड़ियों में जगह दी गई है और विंडीज़ बोर्ड उनके अनुभव का इस्तेमाल करना चाहता है। 

बल्लेबाज़ सुनील एम्ब्रिस, ऑलराउंडर रेमन रीफर को एविन लुईस के कवर के तौर पर जगह दी गई है जो हाल ही में संक्रमण से ठीक होकर लौटे हैं। विंडीज़ टीम 19 से 23 मई तक इंग्लैंड के साउथम्पटन में अपना ट्रेनिंग कैंप जारी रखेगी जहां वह विश्वकप के लिए तैयारी में जुटी है। चार दिवसीय इस कैंप में विश्वकप में हिस्सा लेने वाली पूरी 15 सदस्यीय टीम खेलेगी और ऑस्ट्रेलिया से 22 मई को एजियस बाउल में अभ्यास मैच में उतरेगी। 10 रिजर्व खिलाड़ियों में चयनकर्ताओं ने जिन खिलाड़ियों को चुना है उनमें सुनील एम्ब्रिस, ड्वेन ब्रावो, जॉन कैम्पबेल, जोनाथन कार्टर, रोस्टन चेज, शेन डाउरिच, कीमो पॉल, खारी पिएरे, रेमन रीफर और कीरोन पोलार्ड शामिल हैं। 

युजवेंद्र चहल विश्व कप के लिए एक नया हथियार तैयार कर रहा है जिससे वह दुनिया के बल्लेबाजों को चौंका सके: कोच रणधीर सिंह

Yuzvendra Chahal is preparing a new weapon for the World Cup

नई दिल्ली। टीम इंडिया के कलाई के जादूगर लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल इंग्लैंड की जमीन पर 30 मई से होने वाले एकदिवसीय विश्व कप के लिए एक नए हथियार पर काम कर रहे हैं ताकि वह बल्लेबाजों को चौंका सकें। चहल के कोच रणधीर सिंह ने यह दिलचस्प खुलासा करते हुए उम्मीद जताई है कि उनका शिष्य विश्व कप में शानदार प्रदर्शन करेगा और टीम इंडिया इस बार विश्व कप जीतने में कामयाब होगी। रणधीर ने कहा, ''इंग्लैंड की पिचें कलाई के स्पिनरों को काफी भाती हैं और ऐसे स्पिनरों के सफल होने का प्रतिशत ज्यादा होता है।

इंग्लैंड की पिचें पहले के मुकाबले काफी बदली हैं और स्पिनरों खास तौर पर कलाई के स्पिनरों को मदद करती हैं। मुझे चहल के साथ-साथ चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव से काफी उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा, ''इंग्लैंड की पिचें इस समय काफी पाटा खेल रहीं हैं जैसा इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच के सीरीज में देखने में आ रहा है। इस सीरीज में लगातार 350 के आसपास के स्कोर बन रहे हैं। जून के महीने में तो पिच और टूटेगी जिससे स्पिनरों को खास तौर पर फायदा होगा।

अपने शिष्य को विश्व कप के लिए कोई गुरुमंत्र दिए जाने के बारे में पूछने पर रणधीर ने कहा, वह कई साल से टीम इंडिया में खेल रहा है और उसका प्रदर्शन अच्छा रहा है, चाहे वह आईपीएल हो या फिर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट। वह विश्व कप के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है और एक नया हथियार तैयार कर रहा है जिससे वह दुनिया के बल्लेबाजों को चौंका सके। चहल ने अब तक 41 वनडे में 72 विकेट लिए हैं।

इंडियन ऑयल की अगले 5-7 साल में विभिन्न ऊर्ज़ा क्षेत्रों में दो लाख करोड़ रुपए निवेश की योजना

Indian Oil plans to invest two lakh crores in various Urja zones in the next 5-7 years

नई दिल्ली। पेट्रोलियम उत्पादों का कारोबार करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की अग्रणी कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) की भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए अगले 5 से 7 साल के दौरान ईंधन और ऊर्ज़ा के विविध क्षेत्रों में दो लाख करोड़ रुपए निवेश की योजना है। कंपनी अपनी मौजूदा रिफाइनरियों का विस्तार करने के साथ ही स्वच्छ ईंधन और उत्पादन बढ़ाने में नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को बढ़ावा दे रही है। रिफाइनरी- पेट्रोरसायन एकीकृत परिसरों, जैव- ईंधन, कोल गैसिफिकेशन, हाइड्रोजन ईंधन सेल और बैटरी प्रौद्योगिकी जैसे नए क्षेत्रों में अपनी अनुसंधान एवं विकास विशेषज्ञता के बल पर आगे बढ़ रही है। 

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के चेयरमैन संजीव सिंह ने कंपनी की भविष्य की योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि वित्त वर्ष 2019- 20 में कंपनी रिफाइनरी, पाइपलाइन, पेट्रोरसायन और ऊर्ज़ा के विभिन्न क्षेत्रों में 25,000 करोड़ रुपए का पूंजी निवेश करेगी। कंपनी ने 2018- 19 में भी तय लक्ष्य के मुकाबले 116 प्रतिशत निवेश करते हुए 26,548 करोड़ रुपए का पूंजी निवेश किया है। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में देश में पेट्रोलियम, तेल और लुब्रिकेंट्स उत्पादों की बढ़ती मांग को देखते हुए इंडियन ऑयल 2030 तक अपनी मौजूदा रिफाइनिंग क्षमता को दोगुना कर 14 करोड़ टन तक पहुंचाने के एजेंडा पर काम कर रही है। इसके साथ ही पाइपलाइन नेटवर्क और विपणन ढांचे को भी मजबूत बनाया जाएगा।

'फार्च्यून की वैश्विक-500’ सूची में शीर्ष रैकिंग वाली इंडियन ऑयल भविष्य की एक ऐसी कंपनी बनने की दिशा में अग्रसर है जहां नवीन प्रौद्योगिकी और ऊर्ज़ा क्षेत्र में बदलावों के इस दौर में विविध प्रकार की ऊर्ज़ा मांग की जरूरतों को पूरा किया जा सके। सिंह ने बताया कि 2018- 19 में पेट्रोलियम पदार्थों, गैस, पेट्रोरसायन और अन्य उत्पादों सहित कंपनी ने घरेलू बाजार में 3.9 प्रतिशत की वृद्धि हासिल करते हुए 8 करोड़ 46 लाख 50 हजार टन उत्पादों की बिक्री की। कंपनी की नौ रिफाइनरियों में 7.19 करोड़ टन कच्चे तेल का प्रसंस्करण किया गया, जबकि देशभर में फैले पाइपलाइन नेटवर्क में 8.85 करोड़ टन रिकार्ड कच्चे तेल और पेट्रोलियम उत्पादों का परिवहन किया गया। 

देश में स्वच्छ ईंधन इस्तेमाल को बढ़ावा दिए जाने के साथ ही कंपनी ने दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक अप्रैल, 2018 से भारत चरण- छह ईंधन की आपूर्ति शुरू कर दी थी। एक अप्रैल, 2019 से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के राजस्थान, उत्तर प्रदेश के 12 और जिलों में बीएस- छह मानक के ईंधन की आपूर्ति शुरू कर दी गई। इसमें आगरा शहर को भी शामिल किया गया है। 

सिंह ने बताया कि इंडियन ऑयल की रिफाइनरियां इस समय बीएस- छह मानक के पेट्रोल, डीजल की आपूर्ति के लिए प्रौद्योगिकी उन्नयन कार्य में लगी हुई हैं। अप्रैल, 2020 तक देशभर में बीएस- छह मानक के स्वच्छ ईंधन की आपूर्ति शुरू की जानी है। उन्होंने कहा की कि बीएस- चार से सीधे बीएस- छह मानक के ईंधन की आपूर्ति को अपनाना अपने आप में अप्रत्याशित है और इंडियन ऑयल इस मुश्किल लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में आगे बढ़ रही है। 

घरेलू शेयर बाजार पर आगामी सप्ताह दिखेगा एग्जिट पोल और चुनावी परिणाम का असर

Exit pole and election results will decide the market move

मुंबई। बीते सप्ताह हरे निशान में लौटे घरेलू शेयर बाजार पर आगामी सप्ताह सबसे अधिक एग्जिट पोल और चुनावी परिणाम का असर दिखेगा। इसके अलावा डॉलर की तुलना में रुपए की स्थिति, कच्चे तेल की कीमत और वैश्विक रुख भी निवेश धारणा को प्रभावित करेंगे। आलोच्य सप्ताह में घरेलू शेयर बाजार लगातार तीन सप्ताह की गिरावट से उबरने में कामयाब रहे। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1.25 प्रतिशत यानी 467.78 अंक की साप्ताहिक बढत में 37,930.77 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 128.25 अंक यानी 1.14 प्रतिशत की तेजी में 11,407.15 अंक पर बंद हुआ।

दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मंझोली कंपनियों को आलोच्य सप्ताह में बिकवाली का दबाव झेलना पड़ा। बीएसई का मिडकैप 81.40 अंक यानी 0.57 प्रतिशत की गिरावट में 14,308.36 अंक पर और स्मॉलकैप 1.55 प्रतिशत यानी 218.59 अंक की गिरावट में 13,887.14 अंक पर बंद हुआ। बाजार विश्लेषकों का कहना है कि आम चुनाव के एक्जिट पोल और चुनाव के परिणाम से जहां अगले सप्ताह बाजार की चाल तय होगी वही संभावित नई सरकार की नीतियों से भारी उथलपुथल हो सकती है जिससे निवेशकों विशेषकर छोटे निवेशकों को सतर्कता बरतने की जरूरत है।

बाजार अध्ययन करने वाली कंपनी कैपिटलऐम के शोध प्रमुख मनीष यादव और एपिक रिसर्च के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुस्तफा नदीम ने निवेशकों को यह सलाह देते हुए कहा कि अब तक बाजाार पर वैश्विक कारक हावी रहे हैं लेकिन अगले सप्ताह एग्जिट पोल और चुनाव परिणाम का असर अधिक होगा। वैश्विक कारकों का भी प्रभाव देखा जा सकता है लेकिन आम चुनाव के बाद आने वाली नई सरकार की नीतियों से बाजार की आगे का रूख तय होता है।

यादव ने कहा कि आम चुनाव का अंतिम चरण भी रविवार को समाप्त हो जाएगा और उसी दिन शाम में आने वाले एग्जिट पोल का असर सप्ताह के प्रारंभ में ही बाजार पर दिखेगा और 23 मई को मतगणना के दिन तक इसका प्रभाव दिखेगा। अगली सरकार को लेकर सटटेबाजी का बोलबाला है और इसका भी बाजार में असर देखा जा सकता है। नदीम ने कहा कि एग्जिट पोल और चुनाव परिणाम का असर साफ तौर पर बाजार पर होगा और इसके कारण बाजार में शेयरों में भारी उथलपुथल की संभावना जताई जा रही है। वैश्विक स्तर पर चीन और अमेरिका के बीच बने व्यापारिक तनाव से वैश्विक बाजार के रूख का असर घरेलू बाजार पर होगा।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.