कश्मीर घाटी में दो दिन बाद जनजीवन सामान्य रहा

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 04:11:00 PM
After two days, life was normal in Kashmir Valley

श्रीनगर। दो दिन से कश्मीर घाटी में हड़ताल के मध्यनजर लगाया गया कफ्यू सोमवार को हटा लिया गया।  इसके बाद कश्मीर घाटी में सोमवार को जनजीवन सामान्य हो गया है।

अलगाववादियों ने सुरक्षा बलों के साथ आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के दो वर्ष पूरा होने पर हड़ताल का आह्वान किया था। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले शनिवार को सुरक्षा बलों की कार्रवाई में एक लडक़ी सहित तीन लोगों की मौत हो गई थी। वहां कारोबारी और अन्य गतिविधियां अभी भी ठप हैं। 

पीड़ित महिला का दर्द : शौहर ने तलाक देकर घर से निकाला, ससुर के बाद देवर से हलाला की रखी शर्त

राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर तथा घाटी के अन्य बड़े शहरों और तहसील मुख्यालयों में दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों में सामान्य रूप से काम हुआ और सभी मार्गों पर वाहनों का आवागमन रोजाना की तरह नजर आया। 

घाटी में सरकारी दफ्तरों तथा बैंकों में सामान्य रूप से काम हुआ और सुरक्षा वजहों से स्थगित की गई रेल सेवाएं फिर शुरू हो गईं। विद्यालयों, कॉलेजों तथा विश्वविद्यालयों में सामान्य रूप से कक्षाएं संचालित हुईं। 

निर्भया कांड के दोषियों की फांसी की सजा बरकरार, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला
श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चौक, गोनिखान, रेजिडेंसी रोड, मौलाना आजाद रोड, महराज बाजार, बटमालू, इकबाल पार्क, डलगेट, रिगल चैक तथा बदशाह चौक के साथ सिविल लाइंस के मुख्य व्यापारिक प्रतिष्ठान में सभी दुकानें खुलीं। 

अलगाववादियों के उदारवादी धड़े हुर्रियत कॉन्फ्रेंस (एसची) के अध्यक्ष मीरवाइज मौलवी उमर फारूक के गढ़ माने जाने वाले ऐतिसाहासिक जामिया मस्जिद के सभी दरवाजे खोल दिए गए। इस मस्जिद के सभी दरवाजे शुक्रवार से बंद थे।

मध्य प्रदेश में किसानों को गत एक वर्ष में दिए गए 35,000 करोड़ रुपए: चौहान

जामिया बाजार में दुकानदारों ने सामान्य रूप से व्यापारिक कामकाज किया। अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज मौलवी उमर फारूक तथा मोहम्मद यासीन मलिक ने रविवार को संयुक्त रूप से कुलगाम में तीन लोगों के मारे जाने तथा हुजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की दूसरी बरसी पर हड़ताल का आह्वान किया था।

सुरक्षा बलों ने आठ जुलाई, 2016 को अनंतनाग में एक मुठभेड़ के दौरान बुरहान को मार गिराया था। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.