सेना को राजनीति से अलग रखा जाना चाहिएः रावत

Samachar Jagat | Wednesday, 06 Dec 2017 04:17:06 PM
Army should be kept away from politics Rawat

नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने बुधवार को कहा कि सैन्य बलों का राजनीतिकरण हुआ है लेकिन सेना को राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह जरूरी है कि जीवंत लोकतंत्र के लिए सेना राजनीति से दूर रहे।

शिवसेना ने 2018 से पहले राममंदिर बनवाने का संकल्प जताया

जनरल रावत ने कहा, सेना को राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए। हाल फिलहाल हम यह देखते रहे हैं कि सेना का राजनीतिरण होता रहा है। मेरा मानना है कि हम बहुत ही धर्मनिरपेक्ष माहौल में काम करते हैं। हमारे यहां बहुत जीवंत लोकतंत्र है जहां सेना को राजनीतिक व्यवस्था से दूर रहना चाहिए। वह यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूट की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। 

उन्होंने कहा कि अच्छे पुराने दिनों में नियम ये थे कि सैन्य बलों में महिला और राजनीति को लेकर कभी चर्चा नहीं होती थी। बहरहाल, ये विषय धीरे-धीरे विमर्श में आते चले गये और इनको नजरअंदाज किया जाना चाहिए।

जदयू का यादव गुट तीर चिन्ह को लेकर फिर उच्च न्यायालय पहुंचा

रावत ने कहा, जब कभी किसी सैन्य प्रतिष्ठान या सैन्य कर्मी से जुड़े मुद्दे में राजनीतिक तत्व आ जाए तो बेहतर है कि इसकी उपेक्षा की जाए। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि रक्षा बल सबसे अच्छा काम तब करते हैं जब वे देश के राजनीतिक मामलों में नहीं पड़ते।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.