क्या पूर्व न्यायिक अधिकारी अतिरिक्त न्यायाधीश बन सकते हैं : शीर्ष अदालत करेगी फैसला

Samachar Jagat | Tuesday, 13 Feb 2018 09:20:48 AM
Can former judicial officer become additional judge: top court will decide

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को कहा कि वह इस सवाल पर अपना आदेश देगा कि कोई सेवानिवृत्त न्यायिक अधिकारी किसी उच्च न्यायालय में अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हो सकता है या नहीं।

शीर्ष अदालत इस सवाल पर गौर कर रही है कि क्या कोई व्यक्ति जिसे अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया जाना है, वह पद रिक्त होने या नियुक्ति की अधिसूचना के समय न्यायिक अधिकारी होना चाहिए।

न्यायमूर्ति ए के सीकरी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने कहा कि वह उस मुद्दे पर आदेश पारित करेगी जो दो अतिरिक्त न्यायाधीशों न्यायमूर्ति वीरेंद्र कुमार माथुर और न्यायमूर्ति राम चंद्र सिंह ज्वाला की नियुक्ति के बाद पैदा हुआ था।

नीतीश ने भागवत के बयान का किया बचाव

उनकी नियुक्ति को इस आधार पर चुनौती दी गई थी कि उनकी दो साल की तय समयसीमा से कम समय के लिए नियुक्ति हुई थी और वे नियुक्ति से पहले न्यायिक सेवा से सेवानिवृत्त हो चुके थे।

भागवत माफी मांगे, मोदी रूख स्पष्ट करें: विपक्ष

शीर्ष अदालत अधिवक्ता सुनील समदारिया द्वारा दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें उच्चतम न्यायालय कालेजियम द्वारा नियुक्ति को दी गई हरी झंडी पर सवाल उठाए गए थे।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.