कांग्रेस ने भारत बंद को बताया ऐतिहासिक, सरकार से पेट्रोल डीजल की कीमतें तत्काल कम करने के लिए कहा

Samachar Jagat | Monday, 10 Sep 2018 08:06:38 PM
Congress said bharat bandh is historically, government should reduce petrol and diesel prices immediately

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सोमवार को बुलाए ‘भारत बंद’ को ऐतिहासिक और सफल करार देते हुए कहा कि सरकार पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस पर उत्पाद शुल्क में कटौती कर जनता को तत्काल राहत दे। पार्टी ने यह भी दावा किया कि सरकार पेट्रोलियम उत्पादों में कीमत में बढ़ोतरी के लिए जिन अंतरराष्ट्रीय कारणों का हवाला दे रही है, वो ‘झूठ का पुलिंदा’ हैं। कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने संवाददाताओं से कहा कि भारत बंद पूरे देश में कामयाब रहा। यह ऐतिहासिक है।

अफ्रीका फिर प्रतिद्वन्द्वी महत्वाकांक्षाओं का मंच नहीं बने : सुषमा स्वराज

इसके सभी देशवासियों, राजनीतिक दलों का धन्यवाद करते हैं। उन्होंने कहा कि ‘‘2014 के चुनाव से पहले पूरे देश को गुमराह किया गया और ऐसा माहौल बना दिया गया कि मोदीजी सत्ता में आएंगे तो आसमान से तारे तोडक़र लाएंगे। अब देखिये स्थिति क्या है। गहलोत ने कहा कि पहली बार देखा कि सत्ताधारी दल अपनी कार्यकारिणी में जनता के मुद्दों पर बात नहीं करती है। उनको विपक्ष की चिंता है।

ईडी की याचिका पर अदालत ने कार्ति चिदंबरम से जवाब मांगा

यह कहते हैं कि गठबंधन टिकेगा नहीं। अगर नहीं टिकेगा तो चिंता उन्हें क्यों हो रही है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री मौनी बाबा बन गए हैं। उन्होंने दो मंत्रियों को जवाब देने के लिए उतारा। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हम कीमतें कम करने में असहाय हैं। कीमतें बढऩे के लिए सरकार जो आधार बता रही है वो झूठ का पुलिंदा है।

जनता से जुड़े मुद्दों पर कुछ नहीं बोलते मोदी: राहुल

उन्होंने दावा किया, ‘‘पेट्रोल पर 210 फीसदी और डीजल पर 443 फीसदी उत्पाद शुल्क बढ़ाया। 11 लाख करोड़ रुपए की लूट की गई। हम चुनौती देते हैं कि आप बढ़ी हुई उत्पाद शुल्क कम करें। सुरजेवाला ने कहा कि जब हम सरकार में थे तो डीजल 55.59 रुपए प्रति लीटर और पेट्रोल की कीमत 63 रुपए प्रति लीटर थी और आज डीजल 73 रुपए प्रति लीटर और पेट्रोल करीब 80 रुपए प्रति लीटर है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.