अदालत ने जेएनयू शिक्षकों के अनिवार्य रूप से हाजिरी लगाने के परिषद के फैसले पर रोक लगाई

Samachar Jagat | Saturday, 19 Jan 2019 08:45:47 PM
court banned the decision of the council to make the presence of JNU teachers inevitably

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को शिक्षकों के लिए हाजिरी लगाना अनिवार्य बनाने के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के शैक्षणिक एवं कार्यकारी परिषदों के फैसले पर रोक लगा दी। अदालत ने कहा कि अनाधिकृत अनुपस्थिति के खिलाफ कार्रवाई शिक्षकों की सेवा से संबंधित नियमों के अनुसार होनी चाहिए।


न्यायमूर्ति सुरेश कैत ने यह अंतरिम आदेश सुनाया। इससे पहले, उन्होंने 14 जनवरी को जेएनयू प्रशासन के उस सर्कुलर पर रोक लगा दी थी जिसमें शिक्षकों के दिन में एक बार हाजिरी लगाना अनिवार्य किया गया था। अदालत ने याचिकाकर्ता जेएनयू प्रोफेसर आयशा किदवई को अंतरिम राहत प्रदान करते हुए जेएनयू को नोटिस जारी किया। 

आयशा ने अपनी याचिका में विश्वविद्यालय के शैक्षणिक परिषद और कार्यकारी परिषद के फैसलों को चुनौती दी है। इस मामले में आगे की सुनवाई के लिए तीन मई की तारीख तय की गई है। -(एजेंसी)

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.