मुझे‘नीच’कहने वाले पर शाब्दिक हमले न करें, चुनाव में कांग्रेस से बदला लें – मोदी

Samachar Jagat | Thursday, 07 Dec 2017 06:28:06 PM
Do not literally attack me by saying 'Despicable', take revenge from Congress in election - Modi

सूरत।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर के उन्हें‘नीच’कहने को कांग्रेस की हताशा और‘सल्तनती और मुगली’मानसिकता का परिचायक बताते हुए लोगों से सामान्य तौर अथवा ट्विटर या अन्य सोशल मीडिया पर उन पर अपशब्दयुक्त जवाबी हमले नहीं करने की अपील की पर प्रधानमंत्री और गुजरात के बेटे (स्वयं) के लिए ऐसी अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करने का बदला चुनाव के जरिये लेने को कहा।

 

7 दिसंबरः एक क्लिक में पढ़े देश दुनिया की 10 बड़ी खबरें

मोदी ने यहां चुनावी सभा में कहा,‘कांग्रेस पार्टी हताश निराश और चारो तरफ से साफ हो गयी है। यह अमेठी और रायबरेली तक में नहीं बची है। ऐसी हताशा में बहुत ही विद्वान परिवारिक पृष्ठभूमि तथा विदेश सेवा के अधिकारी, राजदूत और मनमोहन सरकार में मंत्री रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने आज कहा कि मोदी नीच जाति का है। यह गुजरात का अपमान है कि नहीं। यह ऐसी मुगली और सल्तनती मानसिकता का परिचायक है जिसमें गांवों में किसी को (छोटी जाति के लोगों को) अच्छा महंगा कपड़ा पहन कर अथवा बारात में घोड़े पर सवार होकर निकलने नहीं दिया जाता था।

हाईकोर्ट ने मानहानि मामले में केजरीवाल को निजी तौर पर पेश होने से छूट दी

कांग्रेस की ओर से पहले भी उनके लिए कड़े शब्दों का प्रयोग करने की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा,‘यह मुगली सल्तनती मानसिकता है जिसमें यह दूसरे को नीच तरीके से देखना होता है। तुमने हमे गधा कहा। तुमने हमे गंदी नाली का कीड़ा कहा। अब तुमने हमे नीच जाति का कहा, तुमने हमे नीच कहा, पर हम अपने संस्कार के अनुसार जिये हैं। 18 तारीख (गुजरात चुनाव की मतगणना) के दिन मतपेटी बतायेगी कि गुजरात के संतान को ऐसे बोलने को बदला कैसे जनता लेगी।‘

मोदी ने कहा,‘आपने मुझे 14 साल मुख्यमंत्री और बाद में प्रधानमंत्री के तौर पर देखा है। मैने ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे किसी नागरिक को नीचे देखना पडा है। क्या मैने कोई नीच काम किया ऊंच नीच का विचार किया। कांग्रेस के महारथी पराजय सामने होने पर मानिसक संतुलन गंवा कर भले मुझे नीच कहते हों पर मुझे जरा दुख नहीं। मैने समाज के अंतिम छोर पर बैठे लोगों के लिए काम करता हूं और उनके साथ बैठना अगर तुम्हे नीच लगता है तो मुझे मेरी इस पृष्ठभूमि पर गर्व है। भले ही मै नीची जाति का हूं पर मुझे ऊच्च काम करने का संतोष है। मै हाथ जोड़ कर विनति करता हूं कि इसके विरूद्ध कोई ऐसे या ट्विटर वगैरह पर एक शब्द न बोले। उन्होने जो कहा उन्हें मुबारक। अगर आपके दिल में ऐसी मानसिकता से रोष हो तो 9 वीं और 14 तारीख को चुनाव के दिन कमल निशान पर बटन दबा कर ऊच्च काम करके बताओं। नीच कहने का जवाब यही है। उन्हें पाठ पढ़ाने का रास्ता मतपेटी ही है।

एक परिवार के लिए अंबेडकर के योगदान को मिटाने के प्रयास हुएः मोदी

उन्होंने कहा,‘मुख्यमंत्री के समय से ही मैने अनेक अपमान सहा है। मुझे मौत का सौदागर कहा और जेल में डालने का षडयंत्र किया तथा आधी सरकार को जेल में डाला। जुल्म करने में कुछ बाकी नहीं रखा पर मैने बदले की भावना से आज तक एक कदम नहीं उठाया। यह मेरा रास्ता नहीं, मै सार्वजनिक जीवन के मूल्यों के अनुरूप काम करता हूं।‘ ज्ञातव्य है कि अय्यर ने मोदी के नेहरू-गांधी परिवार पर हमले को लेकर आज कहा था कि मोदी नीच किस्म के आदमी है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.