कठुआ मामले की CBI जांच की मांग को लेकर लाल सिंह ने रैली निकाली, सीएम का इस्तीफा मांगा

Samachar Jagat | Tuesday, 17 Apr 2018 06:18:28 PM
Lal Singh took out a rally, demanded CM resignation, over demand for CBI inquiry into kattua issue

साम्बा ( कश्मीर )। कठुआ दुष्कर्म और हत्या मामले के विरोध में राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाले बीजेपी नेता लाल सिंह के नेतृत्व में मंगलवार की घटना की सीबीआई जांच की मांग को लेकर रैली निकाली गई। उन्होंने इस मुद्दे से निबटने में जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की विफलता के लिए उनका इस्तीफा मांगा गया।

सरकार के खिलाफ आवाज उठायें भाजपा सांसदः यशवंत

कठुआ में 8 वर्षीय एक बच्ची की बलात्कार के बाद हत्या मामले में आरोपियों के समर्थन में एक रैली निकाली गई थी जिसमें शामिल होने वाले सिंह और उद्योग मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा ने इसी वजह से 13 अप्रैल को इस्तीफा दिया था। पूर्व वन मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जनता की भावनाओं को समझने में विफल रही है और उन्होंने इस बर्बर मामले में अब भी सीबीआई जांच की मांग नहीं उठाई है।

 सिंह ने यहां मीडिया से कहा कि यह उनकी ( महबूबा ) सबसे बड़ी विफलता है। यदि उनके पास जमीर है , उनके पास विवेक है तो उन्हें इस्तीफा देना चाहिए। पीडीपी नेता पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अमन की खातिर यदि दो मंत्री अपने पद को त्याग सकते हैं, तो जो लोग ऐसा माहौल बनाने के लिए वाकई जिम्मेदार हैं उन्हें अपनी अंतररात्मका की आवाज सुनना चाहिए। सिंह ने कहा कि वह घटना की सीबीआई जांच के लिए दबाव बनाएंगे।

राज्य सरकार से इस्तीफा देने के उनके फैसले के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने इसका दोष मीडिया को देते हुए कहा कि उसने चीजों को इस तरह पेश किया कि उन्हें मजबूरन यह कदम उठाना पड़ा। उन्होंने कहा कि हमें इस्तीफा देना पड़ा, क्योंकि राष्ट्रीय मीडिया ने चीजों को जिस तरह से पेश किया वह अच्छा नहीं था। उसने हालात को गलत ढंग से पेश किया , जबकि ऐसा कुछ भी नहीं था। उसने ऐसे दिखाया जैसे कि पूरा जम्मू क्षेत्र बलात्कारियों का पक्ष ले रहा है।

संसद में 15 मिनट बोलने का समय मिल जाए तो खड़े नही हो पाएंगेे मोदी: राहुल

बीजेपी नेता ने कहा कि मीडिया ने मामले को इस तरह पेश नहीं किया होता तो इस्तीफा देने की जरूरत नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि इसके कारण हमारे प्रधानमंत्री और देश के लिए समस्या खड़ी हुई। यह अच्छा नहीं था। इसलिए हमने इस्तीफा देने का फैसला किया। हमने कुछ भी गलत नहीं किया। घुमंतू बकरवाल समाज की बच्ची की बलात्कार के बाद बर्बरता से हत्या और इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी के बारे में न्यूयॉर्क टाइम्स में संपादकीय में लिखा गया था।

संपादकीय का शीर्षक दिया गया था ‘‘ भारत में महिलाओं पर होते हमले और मोदी की लंबी चुप्पी। न्यूयॉर्क टाइम्स के संपादकीय में सम्पादकीय मण्डल ने लिखा है कि मोदी अक्सर ट्वीट करते हैं और स्वयं उन्हें एक प्रतिभाशाली वक्ता बताते हैं लेकिन जब महिलाओं और अल्पसंख्यकों के समक्ष पेश खतरों के बारे में बोलने का मौका आता है तो वह चुप्पी लगा लेते हैं। इसमें ये भी कहा गया कि महिलाएं और अल्पसंख्यक उन राष्ट्रवादी और सांप्रदायिक ताकतों द्वारा लगातार निशाना बनाए जा रहे हैं जो बीजेपी के आधार का हिस्सा हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.