जल्द ही स्मार्ट सिटी बनेगा लखनऊ : राजनाथ

Samachar Jagat | Sunday, 05 Aug 2018 03:41:45 PM
Lucknow will soon become a smart city: Rajnath

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

लखनऊ। केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र लखनऊ में अनेक विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करते हुए कहा कि लखनऊ जल्द ही स्मार्ट सिटी बनेगा। सिंह ने लखनऊ में 938 करोड़ रुपए की लागत वाली 438 परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करते हुए कहा कि लखनऊ के सर्वांगीण विकास के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं। लखनऊ के विकास की जो नींव पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने रखी थी, उसे बाद में सांसद लालजी टंडन और अब वह खुद आगे बढ़ा रहे हैं। लखनऊ जल्द ही स्मार्ट सिटी बनेगा।

उन्होंने कहा कि लखनऊ की आबादी 35 लाख से भी ज्यादा है और 20 लाख से भी ज्यादा पंजीकृत वाहन यहां हैं। राजधानी में 25-30 वर्षों के बाद की स्थिति के मद्देनजर आधारभूत ढांचे पर काम किया जा रहा है। आउटर रिंग रोड की घोषणा इसी की एक कड़ी है। गृह मंत्री ने कहा कि आउटर रिंग रोड की स्वीकृति मिलते ही लखनऊ में आर्थिक गतिविधियों में तेजी आयी है। वर्ष 2013-14 तक जहां प्रतिवर्ष 23 लाख यात्रियों का राजधानी स्थित हवाई अड्डे से आना-जाना होता था, वहीं  2017-18 में यह संख्या 47 लाख तक पहुंच गयी है। इसे देखते हुए हवाई अड्डे की पैसेंजर हैंडलिग क्षमता को सालाना एक करोड़ करने के लिए नयी इंटीग्रेटेड टर्मिनल बिल्डिंग का 1383 करोड़ रुपए की लागत से निर्माण स्वीकृत कर लिया गया है। इस महीने या अगले माह इसका शिलान्यास होगा।

सिंह ने विकास कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि गरीबों और किसानों के उत्थान के लिए 4350 करोड़ रुपए की लागत से सबका साथ, सबका विकास ग्राम सड़क योजना शुरू की गयी। प्रदेश सरकार की गौरवपथ योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडियट परीक्षाओं में प्रमुख स्थान पाने वाले 24 मेधावी विद्यार्थियों के गांव को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए सात करोड़ रुपए और 2018 के ऐसे 88 विद्यार्थियों के गांव को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए 23 करोड़ रुपए की लागत से काम किया जा रहा है।

गृह मंत्री ने कहा कि प्रदेश में पहली बार एक साथ 6.24 किलोमीटर लंबाई के चार एलिवेटेड हाईवे का आज शिलान्यास हो रहा है। इनके निर्माण पर 414 करोड़ रुपए की लागत अनुमानित है। इसके अलावा 1900 करोड़ रुपए की लागत से गोमती नगर टर्मिनस का काम शुरू हो गया है। इसके बन जाने के बाद चारबाग रेलवे स्टेशन के बोझ को कम किया जा सकेगा। 
उन्होंने कहा कि चारबाग रेलवे स्टेशन पर 1800 करोड़ रुपए की लागत से काम हो रहा है। इससे जहां एक ओर यात्री सुविधाएं बढ़ेंगी वहीं आउटर पर रेलगाड़ियों में होने वाले संचालन विलंब को भी दूर किया जा सकेगा। इसी तरह 96 करोड़ रुपए की लागत से आलम नगर रेलवे स्टेशन के विकास का कार्य किया जा रहा है। 

गोमती को प्रदूषण मुक्त करने के लिए उठाए गए महत्वपूर्ण कदमों की चर्चा करते हुए सिंह ने कहा कि हैदर कैनाल पर 336 करोड़ रुपए की लागत से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के काम को मंजूरी दे दी गई है। पिछले महीने की 25 जुलाई से काम भी शुरू हो गया है। इसी तरह 11 करोड़ रुपए की लागत से सामुदायिक शौचालयों पर काम किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर कहा कि उनकी सरकार के पिछले 15 महीनों के कार्यकाल के दौरान जहां प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति बहाल हुई है वहीं सड़कों तथा सस्ती दर पर निर्बाध बिजली मुहैया कराने की दिशा में भी उल्लेखनीय कार्य हुआ है। स्मार्ट सिटी और अमृत योजनाओं के तहत लखनऊ के विकास की दिशा में तेजी से कार्य हो रहा है। कार्यक्रम में गृहमंत्री और मुख्यमंत्री ने सबका साथ सबका विकास, ग्राम सड़क योजना और गौरवपथ- एक अभिनव प्रयास योजना पर पुस्तिकाओं का विमोचन भी किया। -एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.