शिवराज ने प्रचार में सबको पछाड़ा,सिंधिया ने कमलनाथ से दुगुनी सभाएं कीं

Samachar Jagat | Tuesday, 27 Nov 2018 05:51:52 PM
Madhya Pradesh assembly election 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश का ताज अपने सिर सजाने इस बार भारतीय जनता पार्टी ने जहां अभूतपूर्व जोर लगाया है, वहीं कांग्रेस के दिग्गजों ने भी कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत दोनों ही दलों के अध्यक्षों से लेकर प्रदेश के आला नेताओं तक ने कल शाम चुनाव प्रचार समाप्त होने तक समूचा प्रदेश नाप लिया।

चुनाव प्रचार में मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कई केंद्रीय मंत्रियों, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और पार्टी की चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिधिया ने दम दिखाया।

इस बार का विधानसभा चुनाव आमने-सामने संपर्क के अलावा दिग्गजों के पहली बार सोशल मीडिया पर भी जनता से जुड़े रहने के लिए याद रखा जाएगा। लगभग सभी दिग्गजों के कार्यक्रमों का फेसबुक और ट्विटर पर लाइव टेलीकॉस्ट हुआ, जिससे दूरदराज के लोग घर बैठे भी नेताओं की बात सुन सके।

प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रमों से जुड़े भाजपा नेता विनोद गोटिया के अनुसार प्रधानमंत्री ने पांच दिनों में झाबुआ, रीवा, विदिशा, ग्वालियर, शहडोल, जबलपुर, छतरपुर, इंदौर, छिदवाड़ा और मंदसौर में 10 सभाओं को संबोधित किया। इन 10 सभाओं के माध्यम से वे करीब 200 विधानसभाओं तक पहुंचे। उनके कार्यक्रम इस प्रकार तय किए गए कि वे अधिकतम विधानसभाओं तक पहुंच सकें।

प्रधानमंत्री किसान आंदोलन के बाद इसी प्रचार अभियान में मंदसौर पहली बार आए। सभाओं की संख्या में मुख्यमंत्री चौहान ने सभी दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया। चौहान ने आज ट्वीट करते हुए बताया कि उन्होंने पूरे राज्य में 154 सभाएं कीं। इस दौरान वे सभी जिलों तक पहुंचे।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने 15 नवंबर से 26 नवंबर के बीच प्रदेश भर में सात दिन में 27 कार्यक्रम किए। इसमें सभाएं और रोड शो भी शामिल रहे। शाह ने कल प्रचार के अंतिम दिन प्रदेश की औद्योगिक राजधानी इंदौर में एक रोड शो किया।

इसके अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, राजनाथ सिंह, नरेंद्र सिंह तोमर, उमा भारती और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस, छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह भी विभिन्न स्थानों पर प्रचार की कमान संभालते नजर आए। कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष डॉ भूपेंद्र गुप्ता के मुताबिक कांग्रेस के दिग्गज भी प्रचार में पीछे नहीं रहे।

पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के सितंबर से लेकर अब तक प्रदेश में 30 से भी ज्यादा कार्यक्रम हुए। उन्होंने प्रदेश के सभी प्रमुख स्थानों भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर समेत कई जिलों में या तो सभाओं को संबोधित किया या उनके रोड शो हुए।

कमलनाथ की इन दिनों में जहां 61 सभाएं हुईं, वहीं सिंधिंया ने कुल 120 सभाएं कीं। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी करीब 42 जिलों में संपर्क के लिए पहुंचे। दोनों दलों का आला नेतृत्व इन दिनों प्रदेश में प्रेस से भी मुखातिब हुआ। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन के अलावा रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद इसी श्रेणी में शामिल रहे।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.