प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जन्मदिन विशेष: मोदी के हाफ कुर्ते से लेकर उल्टी घड़ी पहनने के पीछे क्या है राज 

Samachar Jagat | Tuesday, 17 Sep 2019 01:07:16 PM
Prime Minister Narendra Modi's Birthday Special: From Modi's Half Kurtas to Wearing a Reverse Watch, What's the Secret?

इंटरनेट डेस्क। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपना जन्मदिन हर्षोल्लास के साथ मना रहे है। मोदी आज 69 वर्ष के हो गए हैं। पीएम नरेन्द्र मोदी इस उम्र में भी काफी एक्टिव रहते हैं। मोदी का जो लुक है वो बिल्कुल अलग है। उनकी कुछ बातें ऐसी हैं जो भीड़ से एकदम अलग होती हैं। वह उल्टी घड़ी पहनते हैं। साथ हाफ कुर्ते का चलन भी मोदी ने ही चलाया है। इसी विषय को लेकर जानते है मोदी के बर्थडे पर उनकी जिदंगी से जुडे़ हुएं पहलू।  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपना 69वां बर्थडे मना रहे हैं। उम्र के इस पड़ाव को लोग आराम का दौर बताते हैं लेकिन इस उम्र में भी पीएम मोदी एक युवा की तरह जोश से भरे दिखते हैं। नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर, 1950 को गुजरात के मेहसाणा जिला स्थित वडनगर में हुआ। उनकी मां हीराबेन मोदी और पिता दामोदरदास थे। पीएम नरेंद्र मोदी ने बचपन में रेलवे स्टेशन पर चाय भी बेची हैं। एक चायवाले से पीएम तक का सफर तय करने वाले नरेंद्र मोदी बचपन से ही काफी एक्टिव रहे। पीएम ने खुद इस बात का खुलासा अपने इंटरव्यू में किया है। नरेंद्र मोदी बचपन में गुल्ली डंडा खेलने के साथ ही तालाबों में तैरने भी जाते थे।

वहीं अधिकांश संघ की शाखाओं में बीतता था। जहां वह काफी कुछ सीखते थे। इसके अलावा पीएम अकेले की बजाय लोगों के साथ रहना ज्यादा पसंद करते थे। बचपन में योग से भी जुड़ गए थे। नरेंद्र मोदी ने काफी समय तक अपने कपड़े खुद धोए हैं। वहीं बचपन में वह क्लास रूम से चाॅक के टुकड़े उठाकर लाते थे क्योंकि उन टुकड़ों को घर लाकर अपने सफेद जूतों पर रगड़ते थे। जिससे जूते हमेशा चमकते रहें।

पीएम नरेंद्र मोदी अक्सर हाफ कुर्ते पहने दिखाई देते हैं। उनके हाफ कुर्ते पहनने के पीछे की लंबी बाहें हैं। पीएम का मानना है कि वह अगर लंबी बाहें रखेंगे तो ज्यादा धुलाई करनी पड़ेगी। पीएम नरेंद्र मोदी बेहद कम समय सोते हैं। पीएम की नींद 3 से 4 घंटों में ही पूरी हो जाती है। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी उल्टी घड़ी पहनना पसंद करते हैं। पीएम मोदी खुद उल्टी घड़ी पहनने के पीछे का राज भी बता चुके है। वह कहते हैं कि उन्हें बहुत सी मीटिंग करनी पड़ती और वक्त भी देखना पड़ता है। ऐसे में अगर मीटिंग में घड़ी की तरफ देखा जाए तो वहां मौजूद लोगों को लगता है कि वो जाने के लिए इशारा कर रहे हैं। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.