राजद का 22वां स्थापना दिवस आज, लालू की गैरमौजूदगी में होगा आयोजित 

Samachar Jagat | Thursday, 05 Jul 2018 10:18:54 AM
RJD 22nd Foundation Day

पटना। करोडों रुपए के चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद के इलाज के लिए मुंबई में होने की वजह से उनकी पार्टी राजद अपना 22वां स्थापना दिवस उनकी गैरमौजूदगी में आज मनाएगी। राजद के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने बताया कि उनकी पार्टी का स्थापना दिवस समारोह राजद के पटना स्थित मुख्यालय परिसर में कल आयोजित किया गया है।

शिवसेना ने फडणवीस से पाक-साफ साबित होने को कहा, लाड ने कांग्रेस नेताओं से माफी मांगने को कहा

समारोह का उद्घाटन बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी प्रसाद यादव करेंगे। उन्होंने बताया कि समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह, पूर्व सांसद जगदानन्द, शिवानन्द तिवारी, कांति सिंह, सांसद जयप्रकाश नारायण यादव, बुलो मंडल सहित अन्य सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी एवं नेता उपस्थित रहेंगे।

गगन ने बताया कि राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पू्र्वे की अध्यक्षता में आयोजित समारोह मे पार्टी के सभी सांसद, पूर्व सांसद, विधानसभा सदस्य सहित अन्य पार्टी पदाधिकारी भाग लेंगे। राजद के स्थापना दिवस को लेकर जारी आमंत्रण में राजद प्रमुख लालू प्रसाद के बडे पुत्र तेजप्रताप यादव और बडी पुत्री मीसा भारती का नाम नहीं होने की चर्चा के बारे में उनसे पूछे जाने पर तेजप्रताप ने कहा कि नाम रहने या रहने से क्या फर्क पडता है, पार्टी हमारी है, पार्टी के लोग हमारे है।

RSS के नेता महात्मा गांधी की बात करते हैं और गोडसे को आदर्श मानते हैं :राहुल

हालांकि पार्टी के बैनर-पोस्टर पर तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्य राय और मीसा भारती के फोटो लगे हुए हैं। लालू की राजनीतिक विरासत को लेकर परिवार में खींचतान की चर्चा के बीच यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें किनारे करने की कोई साजिश तो नहीं हो रही है, तेजप्रताप ने कहा कि हमें कोई क्यों किनारे करेगा। कोई साजिश नहीं और जो भी इस तरह का प्रचार कर रहा है वे बीजेपी और आरएसएस के लोग हैं।

यह पूछे जाने पर कि कल आयोजित पार्टी के स्थापना दिवस समारोह में क्या वे शामिल होंगे, तेजप्रताप ने कहा कि क्यों नहीं शामिल होंगे। इसके लिए हम लोगों ने काफी तैयारी कर रखी है और यह रातदिन मेहनत कर यह योजना बनायी है कि कैसे तेजस्वी को सम्मान देना है। उन्होंने बताया कि हम दोनों भाई कल इकठ्ठे होकर कृष्ण और अर्जुन की तरह फिर शंखनाद करेंगे।

उल्लेखनीय है तेजप्रताप जो कि पूर्व में अपने को कृष्ण और अपने छोटे भाई तेजस्वी को अर्जुन की संज्ञा दे चुके हैं, ने हाल में अपनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए पार्टी के भीतर अपनी अनदेखी को लेकर नाराजगी जतायी थी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.