कश्मीर में हिमपात, राष्ट्रीय राजमार्ग और ऐतिहासिक मुगल रोड बंद

Samachar Jagat | Sunday, 04 Nov 2018 12:04:10 PM
Snow, national highway and historic Mughal road in Kashmir

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में हिमपात और भूस्खलन की वजह से देश के बाकी हिस्सों को कश्मीर घाटी से जोड़ने वाला श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग रविवार को बंद रहा। दक्षिण कश्मीर के शोपियां को जम्मू क्षेत्र के राजौरी और पूंछ से जोड़ने वाले ऐतिहासिक मुगल रोड भी भारी बारिश और हिमपात से सड़क पर फिसलन होने के कारण आज लगातार चौथे दिन बंद रखा गया।


एक यातायात पुलिस अधिकारी ने यूनीवार्ता को बताया कि रामबन और रामसू के बीच अधिकांश जगहों पर बारिश के कारण भूस्खलन होने से कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग पर शनिवार से यातायात को स्थगित कर दिया गया। उन्होंने कहा कि सड़क से मलबा हटाने और यातायात को सामान्य करने के लिए सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने मशीनों की मदद सड़क को साफ करने का काम शुरु कर दिया है।

उन्होंने कहा कश्मीर में अलग-अलग जगहों पर तैनात यातायात पुलिस अधिकारियों और बीआरओ प्राधिकरण द्बारा हरी झंडी मिलने के बाद ही राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात का आवागमन शुरू किया जाएगा। अधिकारी ने कहा कि आज हमने केवल थोड़े समय के लिए श्रीनगर से जम्मू की तरफ जाने वाले यात्रियों और हल्के मोटर वाहनों को मंजूरी दी गई।

उन्होंने कहा कि भारी बर्फबारी और रात के समय कड़ाके की सर्दी होने के कारण सड़क पर फिसलन बढ़ने से यह कह पाना मुुश्किल होगा कि वाहनों का आवागमन कब शुरू होगा। एनएचएआई के कर्मचारी चार लेन रोड को दुरुस्त करने के काम में जुटे हुए हैं लेकिन राजमार्ग पर किसी एक तरफ से ही वाहनों को जाने की इजाजत दी जाती है।

इसके कारण फलों और अन्य चीजों के निर्यात को बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। यातायात पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऐतिहासिक मुगल रोड पर हिमपात के बाद कई फीट बर्फ जम जाने तथा सड़कों पर फिसलन के कारण रविवार को लगातार चौथे दिन भी बंद रहा। रोड फिर से कब खुलेगा इसके बारे में निश्चित तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता क्योंकि हिमपात के बाद कई फीट बर्फ जमा हो चुकी है जिसे हटाने में कई दिनों का वक्त लगने वाला है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.