स्व विवेक बड़ी से बड़ी समस्या का हल कर सकता है

Samachar Jagat | Saturday, 27 Apr 2019 04:54:11 PM
Self discretion can solve a bigger problem

बहुत पहले केवल चेहरा देखकर सम्पूर्ण चरित्र बताने का दावा करता था एक ज्योतिषि यूनान में। एक बार उस ज्योतिषि को यूनान के महान दार्शनिक और विचारक सुकरात के यहां जाने का मौका मिला। उस समय सुकरात अपने मित्रों के साथ बैठा हुआ था। सुकरात के विचार जितने अच्छे थे उनका चेहरा उतना ही बदसूरत बताया जाता है। जैसे ही ज्योतिषि सुकरात के यहां पहुंचा, उसने सुकरात को देखते ही तुरंत बोला- इस व्यक्ति में तो क्रोध कूट-कूटकर भरा हुआ है क्योंकि इसके नथूनों की बनावट से तो ऐसा ही साबित हो रहा है। ज्योतिषि यहीं नहीं रूका, वह आगे कहने लगा कि इसके सिर और माथे की बनावट से तो यह जबरदस्त लालची लगता है। ज्योतिषि कुछ आगे और बोलते इससे पहले ही सुकरात के शिष्य ज्योतिषि पर चीखने लगे कि आप यह क्या बकवास कर रहे हो, हमारे महान गुरुजी को क्रोधी और लालची बता रहे हो, बंद करो य सब बकवास और चले जाओ यहां से अभी। लेकिन ज्योतिषि बिना डरे आगे कहने लगा कि इसकी ठुड्डी की बनावट से यह सनकी है और होंठ और दांतों की बनावट से यह हमेशा देशद्रोह करने को लालायित रहता है।

Rawat Public School

ऐसा सब सुनने के बावजूद सुकरात ने उस ज्योतिषि को अच्छा पुरस्कार देकर सधन्यवाद विदा किया, लेकिन सुकरात के इस तरह के व्यवहार से उसके सभी शिष्य हैरान रह गए। अपने शिष्यों को संतुष्ट करते हुए सुकरात ने कहा- सच को कभी छुपाया नहीं जा सकता और इसीलिए सच कभी छुपता नहीं है। ज्योतिषि ने जितने अवगुण मेरे बारे में बताए वे सबके सब मुझ में मौजूद हैं और मैं उनको सहर्ष स्वीकार करता हूं। 

लेकिन यहां पर ज्योतिषि ने एक भूल कर दी, उसने मेरे विवेक पर कतई ध्यान नहीं दिया और इस विवेक से मैं अपने सारे दुर्गुणों पर विजय पा लेता हूं और मेरी सभी समस्याओं का समाधान मेरा विवेक कर देता है, बस ज्योतिषि ने मेरे विवेकशील होने को नजरअंदाज कर एक बड़ी भूल कर दी। मित्रो, आपके सामने रोज अपने कार्य क्षेत्र, घर-परिवार और यहां-तहां हर कहां अनेक समस्याओं, दुर्गुणों और नकारात्मक चीजों का सामना करना पड़ता है, जो आपको डिगाने के लिए होती हैं, विचलित करने के लिए होती हैं, रोकने के लिए होती हैं, हराने के लिए होती हैं और आपकी शांति भंग करने के लिए होती हैं और यह तय बात है कि आपकी सारी दुर्बलताएं इनका बखूबी साथ भी देने के लिए एकदम तैयार हैं, लेकिन आपके पास ‘स्वविवेक’ नाम की एक ऐसी शक्ति है जो इन सबको पराजित कर देगी।

प्रेरणा बिन्दु:- 
दुर्बलताओं-अवगुणों बीच
नकारात्मक का भी कीच
लेकिन इनसे विवेक बड़ा है
सहनशीलता को तू सींच।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.