मायावती ने गुजरात सरकार की पुस्तकों में अम्बेडकर के गलत नारे को पढ़ाए जाने को लेकर सवाल उठाए

Samachar Jagat | Saturday, 03 Aug 2019 03:49:15 PM
Mayawati raises questions about teaching Ambedkar's wrong slogan in books of Gujarat government

लखनऊ। बसपा प्रमुख मायावती ने गुजरात सरकार की पुस्तकों में बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर के गलत नारे को पढ़ाए जाने पर शनिवार को सवाल किया और कहा कि यह कांग्रेस की तरह भाजपा के दलित विरोधी चेहरे को उजागर करता है। उन्होंने उसमें तत्काल सुधार करने की मांग की।

मायावती ने ट्वीट कर कहा कि ‘‘शिक्षित बनो, संघर्ष करो, संगठित रहो’ बाबा साहेब डा अम्बेडकर का वह अमर वाक्य है जो करोड़ों दलितों व पिछड़ों को आगे बढऩे की प्रेरणा व शक्ति देता है पर गुजरात सरकार की पुस्तक में उसे गलत पढ़ाया जा रहा है जो कांग्रेस की तरह बीजेपी के अम्बेडकर व दलित-विरोधी चेहरे को बेनकाब करता है।’’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि‘‘ दलित अत्याचार व उत्पीडऩ के जघन्य अपराधों के साथ-साथ गुजरात बीजेपी सरकार के इस प्रकार के घोर षडयंत्रकारी कदम का तीव्र विरोध स्वाभाविक है। परम पूज्य डा.अम्बेडकर के ऐतिहासिक नारों/उद्धरणों को तोड़-मरोड़ कर पढ़ाने का बसपा तीव्र विरोध करती है व उसे तत्काल वापस लेने की मांग करती है।‘‘ -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.