‘नये भारत’ में ‘कर आतंकवाद’ ने ली सीसीडी संस्थापक की जान : कांग्रेस

Samachar Jagat | Thursday, 01 Aug 2019 11:40:52 AM
'Tax Terrorism' In 'New India' Life of Lee CCD Founder: Congress

नई दिल्ली। कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि मोदी सरकार के शासन में ‘‘‘कर आतंकवाद’’ ने कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वी जी सिद्धार्थ की जान ले ली, जिनका शव बुधवार को कर्नाटक में नेत्रावती नदी के किनारे मिला।

सिद्धार्थ (59) की मौत ने कारोबार जगत को स्तब्ध कर दिया है। दरअसल, उनकी मौत के बारे में तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। एक ओर जहाँ पुलिस इसे प्रथम दृष्टया आत्महत्या के तौर पर देख रही है, वहीं दूसरी ओर आयकर अधिकारियों की प्रताडऩा को उनकी कथित आत्महत्या का एक संभावित कारण बताया जा रहा है। 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘व्यापार करने में सहूलियत का अंत, ‘कर आतंकवाद’ ने एक और जान ली, न्यू इंडिया।’’ कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उन लोगों के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया, जिन्होंने उन्हें मजबूत एवं निर्बाध अर्थव्यवस्था के लिए वोट दिया था।

उल्लेखनीय है कि कथित तौर पर सिद्धार्थ द्वारा लिखे गए पत्र में उन्होंने आयकर विभाग पर प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। हालांकि, विभाग ने आरोपों से इनकार किया है। कांग्रेस ने सिद्धार्थ की मौत के लिए जिम्मेदार कारणों पर चर्चा के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस भी दिया।

सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘एक पुरानी धारणा रही है कि सरकार का कारोबार जगत में कोई काम नहीं है और मोदी ने 2014 से पहले अपने चुनाव प्रचार में इस बारे में बड़ी-बड़ी बातें की थीं। आज उन्होंने उन लोगों के साथ विश्वासघात किया है, जिन्होंने उन्हें मजबूत, स्वतंत्र और निर्बाध अर्थव्यवस्था के लिए वोट किया था।’’

भसघवी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘फिर से निर्वाचित होने के बाद मोदी ने बहुसंख्यकवाद, अल्पसंख्यकवाद, कश्मीर, पाकिस्तान, मुस्लिम महिला, राम और यहंा तक कि ‘मैन वर्सेज वाइल्ड’ के जरिये लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश की। लेकिव वास्तव में किन चीजों से? चरमराती अर्थव्यवस्था, बढ़ती बेरोजगारी, ढहता हुआ आधारभूत ढांचा, मरते किसान, खराब होती कानून एवं व्यवस्था से।’’

सिद्धार्थ के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि उनकी मृत्यु ने ‘‘ चिंताजनक प्रवृत्ति’’ को प्रदॢशत किया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इज ऑफ डूइंग बिजनेस भाजपा शासन में ‘इज ऑफ इंडिग बिजनेस’ में तब्दील हो रही है। ’’

कांग्रेस की कर्नाटक इकाई ने सिद्धार्थ की मौत मामले की एक निष्पक्ष और उचित जांच की मांग की। कांग्रेस की राज्य इकाई ने सोशल मीडिया में जारी बयान में कहा है कि यह घटना आयकर अधिकारियों द्वारा उत्पीडऩ और भारत की उद्यमशीलता की स्थिति में गिरावट, कर आतंक और अर्थव्यवस्था के पतन का नतीजा है। संप्रग के शासनकाल में फलने-फूलने वाली कंपनियां बंद हो गई हैं और कई लोग बेरोजगार हो गए हैं। 

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धरमैया ने कहा कि सिद्धार्थ की मृत्यु ‘‘दुखद और रहस्यमय’’ है। उन्होंने कहा, ‘‘उन कारणों के साथ ही उनके (सिद्धार्थ के) जीवन का इस दुखद तरीके से अंत करने वाले अदृश्य कारणों का पता एक निष्पक्ष एवं उचित जांच से चलना चाहिए।’’ कर्नाटक कांग्रेस प्रवक्ता ब्रजेश कलप्पा ने कहा कि ‘‘उन्हें कर आतंकियों ने निर्दयतापूर्वक मार डाला।’’ -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.