शिवपुरी में पर्यटन स्थलों में प्राकृतिक झरने और तालाब सूखे

Samachar Jagat | Saturday, 14 Apr 2018 10:18:35 AM
Natural waterfalls and ponds in tourism sites in Shivpuri

शिवपुरी। मध्यप्रदेश के शिवपुरी के सभी प्रसिद्ध पर्यटन स्थल जहां प्राकृतिक झरने और तालाब हैं। वह सब इस बार अल्प वर्षा के कारण सूख चुके हैं। इसकी वजह से पर्यटन पर विपरीत प्रभाव पड़ने की संभावना है। शिवपुरी का प्रसिद्ध जलप्रपात भूरा खो एवं टुंडा भर खा तथा सुल्तानगढ़ जलप्रपात पूरी तरह से सूख गए हैं। इसके अलावा प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भदैया कुंड एवं छत्री के जलाशयों का पानी भी सूख चला है। 

ये है दुनिया का सबसे बड़ा भूतिया शहर

शिवपुरी के माधव राष्ट्रीय उद्यान में संख्या सागर चांद पाठा झील के किनारे पानी के डूब क्षेत्र में बना हुआ प्रसिद्ध रेस्ट हाउस, झील में पानी कम होने के कारण पानी से बाहर निकल आया है। इसका आधा हिस्सा सामान्य तौर पर झील के पानी में डूबा रहता है, जो इसकी सुंदरता में चार चांद लगाता है। इसके ऊपर बने रेस्ट हाउस में लोग ठहर कर पानी के जहाज जैसा आनंद लेते हैं। इसी प्रकार संख्या सागर चांद पाटा झील में नौकायन भी पानी की कमी के कारण बंद हो गया है, जो यहां आने वाले पर्यटकों का आकर्षण हुआ करता है।

लंबित पर्यटन परियोजनाओं को जल्द किया जाए पूरा

इसी प्रकार शिवपुरी में अल्पवर्षा से पानी की कमी का प्रभाव जहां आम जनता पर पड़ा है लोग पानी के लिए परेशान है। वहीं पर्यटन पर भी पानी की कमी का विपरीत प्रभाव अभी से दिखाई देने लगा है। शिवपुरी के सभी पर्यटन स्थल प्राकृतिक झरने तालाबों के साथ बने हुए हैं। पानी के कारण इनकी सुंदरता में चार चांद लग जाते हैं। पानी की कमी से यह वीरान से लगने लगते हैं। पानी की कमी का प्रभाव सभी जगह दिखाई देने को मिलता है। -एजेंसी

दुनिया के सबसे सस्ते शहरों में शामिल हैं भारत के ये शहर 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.