हेरिटेज में शामिल होगी बिसाऊ की मूक रामलीला

Samachar Jagat | Saturday, 08 Sep 2018 09:36:43 AM
Bissau mook Ram leela Will be included in the heritage

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

झुंझुनूं। राजस्थान में झुंझुनू जिले के बिसाऊ कस्बे की मूक रामलीला 180 साल से जारी है। अपनी बरसों पुरानी परम्पराओं को बरकार रखने के लिए लोगों में किस कदर उत्साह है, इसका जीता-जागता नमूना है मूक रामलीला को दुनिया के मानचित्र में लाने के लिए पूरे कस्बेवासी एकजुट हुए। इसे विरासत गतिविधि (हेरिटेज एक्टिविटी) में शामिल करने के उद्देश्य से बिसाऊ वेलफेयर ट्रस्ट के सौजन्य से गुरुवार को शाम से देर रात तक इसका विशेष मंचन किया गया। कलाकारों ने रामलीला के प्रसंगों को एक ही दिन में दिखाकर सांस्कृतिक समृद्धता का परिचय दिया।

बिसाऊ में मूक रामलीला का मंचन प्रतिवर्ष अश्विन शुक्ल एकम् से पूर्णिमा तक होता है। आमतौर पर यह रामलीला 15 दिन तक चलती है। लेकिन इसे हेरीटेज एक्टिविटी में शामिल कराने के लिए कल स्थानीय लोग और प्रवासी बंधु मातृभूमि पर पहुंचे। संबंधित कला एवं संस्कृति मंत्रालय एवं देवस्थान विभाग के अधिकारी कस्बे की अनमोल विरासत को परखने पहुंचे। कस्बे की हेरिटेज सिटी के दावे को परखने और सत्यता जांचने के लिए उच्च स्तरीय टीम भी मौजूद रही। टीम ने बिसाऊ के ऐतिहासिक स्थलों का बारीकी से निरीक्षण किया।

बिसाऊ वेलफेयर ट्रस्ट के पदाधिकारी और सदस्यों ने टीम को विभिन्न स्थलों का दौरा कराने के अलावा ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्ता की जानकारी दी। इस अवसर पर बांके बिहारी मंदिर के पास विशेष मूक रामलीला का मंचन किया गया और एक पखवाड़े तक चलने वाले प्रसंगों को छह घंटे में बखूबी मंचित किया गया। मूक रामलीला के सभी दृश्य कलाकारों ने एक के बाद एक कडिय़ों में मंचित किया। इस अनूठी रामलीला को देखने के लिए दूरदराज से भी लोग आए। प्रत्येक पात्र ने अपनी भूमिका को शानदार ढंग से निभाया। मूक रामलीला के विशेष मंचन में सवा सौ कलाकारों ने भाग लिया।

जिनमें सौ से ज्यादा कलाकारों ने मुखौटे पहन रखे थे। इस दौरान रावण के पुतले का भी दहन किया गया एवं रामायण के सभी प्रसंगों का मंचन किया गया। रामलीला मंडल कमेटी के अध्यक्ष महावीर सोती और बिसाऊ वेलफेयर ट्रस्ट के कमल पोद्दार ने बताया कि मूक रामलीला बिसाऊ सहित समूचे राजस्थान की धरोहर है। इसे दुनिया से रूबरू कराने के लिए एक दिन में रामलीला का विशेष आयोजन किया गया। कलाकारों के हुनर और स्थानीय लोगों की मेहनत को देखने के लिए इस विशेष रामलीला को देखने देश के विभिन्न प्रांतों और विदेश से भी लोग पहुंचे। इस अवसर पर बिसाऊ वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष अरुण बजाज और महासचिव श्याम सुंदर शर्मा सहित अनेक गणमान्य नागरिक मौजद रहे।- एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.