मौद्रिक नीति घोषणा के बाद सेंसेक्स 5०० अंकों से अधिक चढ़ा, निफ्टी 11,2०० के पार

Samachar Jagat | Thursday, 06 Aug 2020 07:30:01 PM
After the monetary policy announcement, the Sensex rose more than 500 points, the Nifty crossed 11,200

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्बारा कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित अर्थव्यवस्था के समर्थन के लिए उदार रुख अपनाने की बात कहने के बाद घरेलू शेयर बाजार में गुरुवार को दोपहर के कारोबार के दौरान सेंसेक्स में 5०० अंकों से अधिक की तेजी देखने को मिली।
केंद्रीय बैंक ने मौद्रिक नीति की समीक्षा में नीतिगत दरों में यथास्थिति को बनाए रखते हुए ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया। बैंक ने इसके साथ ही कंपनियों और छोटी इकाइयों के कर्ज के पुनर्गठन की भी बैंकों को मंजूरी दे दी है। कंपनियों के स्वामित्व में बदलाव किये बिना ही कर्ज समस्या के समाधान के लिये कहा है।
दोपहर के कारोबार के दौरान बीएसई सेंसेक्स 53०.9० अंक या 1.41 प्रतिशत बढ़कर 38,194.23 अंक पर कारोबार कर रहा था, जबकि एनएसई निफ्टी 124.9० अंक या 1.13 प्रतिशत बढ़कर 11,226.55 अंक पर पहुंच गया।
सेंसेक्स में सबसे अधिक करीब दो प्रतिशत की तेजी टाटा स्टील में देखने को मिली। इसके अलावा एचडीएफसी बैंक, बजाज फाइनेंस, एचसीएल टेक, इंफोसिस, कोटक बैंक, टीसीएस और रिलायंस इंडस्ट्रीज बढृत वाले शेयरों में शामिल थे।
दूसरी ओर एमएंडएम, मारुति, बजाज ऑटो और भारती एयरटेल में गिरावट रही।
आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने गुरुवार को केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) के निर्णयों की घोषणा की।
आरबीआई ने प्रमुख रेपो दर को चार प्रतिशत पर यथावत रखा है। इसके साथ ही रिवर्स रेपो दर भी 3.35 प्रतिशत पर बनी हुई है।
जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा कि नीतिगत दरों में ठहराव और उदार रुख से मुद्रास्फीति के बारे में केंद्रीय बैंक की चिताओं का पता लगता है।
दोपहर के कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया छह पैसे की मजबूती के साथ 74.87 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.