महिला प्रत्याशी पर Kamal Nath की टिप्पणी की BJP ने की निंदा, पार्टी नेता रखेंगे मौन व्रत

Samachar Jagat | Monday, 19 Oct 2020 10:00:03 AM
BJP condemns Kamal Nath's remarks on women candidates, party leaders will keep silent fast

दतिया (मध्यप्रदेश)। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ उस वीडियो के कारण विवादों में घिर गए हैं, जिसमें वह कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुकी एक महिला प्रत्याशी के लिए कथित रूप से ''आइटम’’ शब्द का इस्तेमाल करते दिखाई दे रहे हैं।

इस बयान पर भाजपा ने कमलनाथ को सामंतवादी सोच वाला व्यक्ति बताकर उन्हें घेरना शुरू कर दिया है और चुनाव आयोग में इसकी शिकायत करने के साथ-साथ इस टिप्पणी के प्रति विरोध जताने एवं इस संबंध में जनजागरण के लिए सोमवार को पूरे प्रदेश में एक साथ मौन व्रत करने का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिह चौहान भोपाल एवं प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ग्वालियर में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मौन व्रत करेंगे, जबकि पार्टी के नेता, जनप्रतिनिधि, मोर्चा अध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारी एवं जिला पदाधिकारी अन्य जगहों पर मौन व्रत के इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।
गौरतलब है कि राज्य की 28 विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को उपचुनाव होना है।

इमरती देवी के खिलाफ डबरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के लिए चुनाव प्रचार करते हुए कमलनाथ ने रविवार को कहा, ''डबरा से सुरेश राजे जी हमारे उम्मीदवार हैं। वह सरल स्वभाव के और सीधे-सादे हैं। ये तो उसके जैसे नहीं हैं। क्या है उसका नाम?’’ इसी बीच वहां मौजूद जनता जोर-जोर से 'इमरती देवी’, 'इमरती देवी’ कहने लगी।

इसके बाद कमलनाथ ने हंसते हुए कहा, ''मैं क्या उसका (डबरा की भाजपा प्रत्याशी) नाम लूं। आप तो उसे मुझसे ज्यादा पहचानते हैं। आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था। ये क्या आइटम है? ये क्या आइटम है?’’ इस पर वहां मौजूद जनता ने खूब तालियां बजाईं और कमलनाथ हंसते हुए मंच से दोहराते रहे, ''ये क्या आइटम है? सुरेश राजे जी का साथ दीजिएगा।’’ इस पर, शिवराज सिह चौहान ने कमलनाथ पर पलटवार करते हुए कहा कि एक महिला के लिए कमलनाथ ने 'आइटम’ जैसे शब्द का उपयोग कर अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी है।
चौहान ने ट्वीट किया, ''कमलनाथ जी! इमरती देवी उस गरीब किसान की बेटी का नाम है जिसने गांव में मजदूरी करने से शुरुआत की और आज जनसेवक के रूप में राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे रही हैं। क ांग्रेस ने मुझे 'भूखा-नंगा’ कहा और एक महिला के लिए आपने 'आइटम’ जैसे शब्द का उपयोग कर अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी।’’

उन्होंने आगे लिखा, ''खुद को 'मर्यादा पुरुषोत्तम’ बताने वाले ऐसी 'अमर्यादित भाषा’ का प्रयोग कर रहे हैं? नवरात्रि के पावन पर्व पर देश नारी की उपासना कर रहा है, ऐसे में आपके बयान से आपकी ओछी मानसिकता झलकती है। बेहतर होगा कि आप अपने शब्द वापस लें और इमरती देवी सहित प्रदेश की हर बेटी से माफी मांगें।’’ भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को चुनाव आयोग पहुंचकर मध्यप्रदेश क ांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की शिकायत की और उनकी राजनीतिक गतिविधियों एवं कार्यक्रमों पर रोक लगाने की मांग की।
भाजपा ने चुनाव आयोग से शिकायत में कहा है कि कमलनाथ ने डबरा में आयोजित जनसभा में सार्वजनिक मंच पर अपने भाषण के दौरान पार्टी प्रत्याशी इमरती देवी को 'आइटम’ शब्द से संबोधित किया है, जो न केवल आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है अपितु दंडनीय अपराध की श्रेणी का कृत्य है।

उन्होंने कहा कि आज पूरा देश और प्रदेश नवरात्रि में मां की आराधना कर रहा है, तो वहीं कमलनाथ ने इमरती देवी को 'आइटम’ बोलकर समस्त नारी जाति का अपमान किया है, जो पूरे प्रदेश की महिलाओं एवं बेटियों का अपमान है। भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से कमलनाथ के खिलाफ कार्रवाई करने, उन्हें उपचुनाव में प्रचार-प्रसार के लिए प्रतिबंधित करने और उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की।
वहीं, मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि आज ग्वालियर जिले के डबरा में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक सभा को संबोधित करते हुए अपनी बातें रखी। उन्होंने अपने भाषण में कहीं भी मंत्री इमरती देवी का नाम तक नहीं लिया।

सलूजा ने कहा कि उन्होंने (कमलनाथ) स्पष्ट रूप से कहा कि मैं किसी का नाम नहीं लेता। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि 'यह क्या आइटम है’। इन शब्दों में कहीं इमरती देवी का नाम तक नहीं है, लेकिन मुद्दा विहीन भाजपा, फुर्सत में बैठी भाजपा ने कहा कि मंत्री इमरती देवी के लिए 'आइटम’ शब्द का इस्तेमाल किया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा खुद इमरती देवी के नाम के साथ 'आइटम’ शब्द जोड़ कर ना सिर्फ नारी जाति का अपमान कर रही है बल्कि मंत्री का भी अपमान कर रही है। इसके लिए भाजपा को माफी मांगना चाहिए। सलूजा ने बताया, ''वैसे भी आइटम शब्द के कई अर्थ होते हैं लेकिन भाजपा की सोच में ही खोट है । इसीलिए वह आइटम शब्द की गलत व्याख्या कर रही है और उसे इमरती देवी से गलत तरीके से जोड़ रही है। यह उसी प्रकार है जैसे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने कभी शिवराज जी को नालायक नहीं कहा, लेकिन भाजपा चालू हो गई कि शिवराज जी को नालायक कहा और कमलनाथ जी माफी मांगे।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा की चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करेगी। (एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.