Makar Sankranti 2021 : मकर संक्रान्ति पर इस वर्ष पुण्य काल 09 घण्टे 16 मिनट का होगा, महापुण्यकाल सुबह इतने बजे से होगा शुरू

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jan 2021 03:39:18 PM
 Makar Sankranti 2021: On the Makar Sankranti this year, the virtuous period will be of 09 hours 16 minutes, the Mahapulya period will start from this morning

इंटरनेट डेस्क। हिन्दू धर्म में मकर संक्रांति का विशेष महत्व है। मकर संक्रांति के दिन स्नान, दान और सूर्य देव की आराधना का विशेष महत्व होता है। आज के दिन सूर्य देव को लाल वस्त्र, गेहूं, गुड़, मसूर दाल, तांबा, स्वर्ण, सुपारी, लाल फूल, नारियल, दक्षिणा आदि अर्पित किया जाता है। मकर संक्रांति के पुण्य काल में दान करने से अक्षय फल एवं पुण्य की प्राप्ति होती है। सूर्य देव जब मकर राशि में प्रवेश करते हैं, तो वह घटना सूर्य की मकर संक्रांति कहलाती है।

सूर्य देव के मकर राशि में आने के साथ ही मांगलिक कार्य जैसे विवाह, मुंडन, सगाई, गृह प्रवेश आदि होने लगते हैं। मकर संक्रांति को भगवान सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होते हैं। मकर संक्रांति के आगमन के साथ ही एक माह का खरमास खत्म हो जाता है। इस वर्ष लोगों में मकर संक्रांति की तारीख को लेकर असमंजस की​ स्थिति न हो।

पुण्यकाल

पंचांग के अनुसार, इस वर्ष मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी ​ गुरुवार को ही मनाया जाएगा। उत्तर भारत में मकर संक्रांति, दक्षिण में पोंगल, उत्तर-पूर्वी में बिहू सहित कई राज्यों में इसे अलग-अलग नाम से जाना जाता है। इस दिन सूर्य देव सुबह मकर राशि में 08.30 बजे प्रवेश करेंगे। यह मकर संक्रान्ति का क्षण होगा। इस दिन मकर संक्रान्ति का पुण्य काल कुल 09 घण्टे 16 मिनट का है। 14 जनवरी को मकर संक्रांति का पुण्य काल सुबह 08 बजकर 30 मिनट से शाम को 05 बजकर 46 मिनट तक है। वहीं, मकर संक्रान्ति का महा पुण्य काल 01 घंटा 45 मिनट का है, जो सुबह 08 बजकर 30 मिनट से दिन में 10 बजकर 15 मिनट तक है।

 



 
loading...




Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.