न हिंदी और न अंग्रेजी, आज के दौर की सबसे तेज़ भाषा है EMOJI, जानिए इसका इतिहास

Samachar Jagat | Saturday, 17 Jul 2021 11:20:55 AM
Neither Hindi nor English, Emoji is the fastest language of today's era, know its history

नई दिल्ली: अगर आपसे कोई पूछे कि आज के नए युग की वैश्विक भाषा क्या है? सबसे बड़ा अंग्रेजी बोलने वाला देश भारत में ज्यादातर लोग अंग्रेजी को यह उपाधि दे सकते हैं। परन्तु यह सच नहीं है। दरअसल, आज की वैश्विक भाषा इमोजी है। इसमें कोई अक्षर नहीं है, लेकिन एक तस्वीर है, एक भावना है, एक प्रतिक्रिया है। असमानता के खिलाफ आवाज उठाई जा रही है। इंटरनेट पर इस भाषा की कोई सीमाएँ और नस्लें नहीं हैं। ब्रिटेन में बांगोर विश्वविद्यालय में भाषा विज्ञान के प्रोफेसर व्यव इवांस का दावा है कि इमोजी मानव इतिहास में दुनिया की सबसे तेजी से फैलने वाली भाषा है।

कुल 176 आइकन से शुरू होकर आज भाषा 3,353 इमोजी तक पहुंच गई है। उनका कहना है कि एक दृश्य भाषा के रूप में इमोजी प्राचीन मिस्र की पेंटिंग (मिस्र के चित्रलिपि) को पहले ही पार कर चुका है, जिसे विकसित होने में पांच शताब्दियों से अधिक समय लगा। आज इमोजी दुनिया में न सिर्फ रिश्तों को मजबूत कर रहे हैं बल्कि नस्लीय और राजनीतिक असमानता से लड़ने का जरिया भी बन गए हैं। बिना किसी आवाज के हम पर इसका इतना गहरा असर हो रहा है कि मनोवैज्ञानिकों को हमारे दिमाग में इसके निशान दिखाई देते हैं।


2015 में, Apple ने अपने गैजेट्स के लिए कई स्किन कलर इमोजी जारी किए। इनमें LGBT समूह का प्रतिनिधित्व करने वाले इमोजी भी शामिल थे। इमोजी में नस्लीय भेद को दूर करने और उन्हें सभी नस्लों का प्रतिनिधित्व करने के लिए सोशल मीडिया पर कई ऑनलाइन अभियान शुरू किए गए। इससे पहले 2014 में एंटी बुलिंग इमोजी के खिलाफ एक इमोजी था। पिछले साल दो अलग-अलग नस्लों के जोड़ों के इमोजी भी जारी किए गए थे। खासकर काले और सफेद जोड़ों के लिए।



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.