कनिका कपूर पर चार एफआईआर दर्ज, पीजीआई में भर्ती गायिका से डाक्टर परेशान

Samachar Jagat | Sunday, 22 Mar 2020 07:56:45 AM
3297591821009289

कोरोना वायरस से संक्रमित गायिका कनिका कपूर पर देश के अलग-अलग हिस्सों में चार एफआईआर दर्ज हुए हैं. कनिका को शुक्रवार को लखनऊ के पीजीआई में भर्ती कराया गया है लेकिन कहा जा रहा है कि उनके व्यवहार से डाक्टर परेशान हैं. वे वहां नखरे कर रही हैं और इलाज में डाक्टरों का सहयोग नहीं कर रही हैं. डाक्टर को उनसे निपटने में खासा परेशानी हो रही है और इसकी सूचना डाक्टरों ने राज्य सरकार को भी दे दी है. कनिका कपूर बेबी डॉल गाने से मशहूर हुईं थीं. सैकड़ों लोगों को संकट में डालने वाली कनिका कपूर के खिलाफ शुक्रवार देर रात लखनऊ में एफआईआर दर्ज की गई. कनिका के खिलाफ कोरोना वायरस की जानकारी छिपाने सहित आईपीसी की तीन धाराओं में हजरतगंज, सरोजनीनगर और गोमतीनगर थाने में सीएमओ की ओर से मामला दर्ज कराया गया है. 

कनिका कपूर के खिलाफ आइपीसी की धारा 188, 269 व 270 के तहत मामला दर्ज कराया गया है. यूपी में इस समय महामारी कानून धारा 188 के तहत ही लागू है. आईपीसी की धारा 269 जानबूझकर लापरवाही बरतते हुए किसी दूसरे शख्स के जीवन पर खतरे के लिए लगाई गई है. यह एक जमानती अपराध है. इसमें छह महीने या इससे अधिक की सजा या जुर्माना दोनों का प्रावधान है. आइपीसी की धारा-270 कोरोना के संदिग्ध व्यक्ति या उसके संपर्क में आए किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार जांच न करवाने के लिए लगाई गई है. कनिका पर जानबूझकर संक्रमण फैलाने का आरोप लगा है. इस धारा में दो साल तक के कारावास या जुर्माने का प्रावधान है.

कनिका कपूर की घोर लापरवाही की वजह से लखनऊ में बड़ी आबादी तो संकट में है ही, सियासी लोगों की वजह से खतरा दिल्ली तक पहुंच गया है. विदेश से लौटने के बाद वे सरकार की सलाह के बावजूद बेरोकटोक पार्टियां करती रहीं. उनकी पार्टी में अफसरों से लेकर राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित कई सांसदों, मंत्री व नेताओं ने हिस्सा लिया. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह भी पार्टी में शामिल हुए थे. राज्य सरकार ने कनिका कपूर के तीन कार्यक्रमों में शामिल होने वाले लोगों को चिह्नित कर उनको आइसोलेशन में रखने का निर्देश दिया है. इन व्यक्तियों की स्वास्थ्य संबंधी सभी जरूरी जांच कराने का भी निर्देश दिया है.

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रमुख सचिव चिकित्सा व स्वास्थ्य, मंडलायुक्त लखनऊ, निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, पुलिस कमिश्नर लखनऊ व कानपुर के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को यह निर्देश दिए गए हैं. शुक्रवार सुबह कनिका कपूर की किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में जांच के बाद वायरस की पुष्टि होने पर लखनऊ से लेकर दिल्ली तक हड़कंप मच गया. फोन की घंटियां बजने लगीं और पता चलाया जाने लगा कि वे किन-किन से मिलीं हैं. संपर्क में आए कई मंत्री, अफसर खुद ही घरों में क्वांरटाइन हो गए. अब 31 मार्च तक लॉकडाउन जैसी स्थिति घोषित कर दी गई है. दरअसल, कनिका कपूर लंदन गई थीं. वे 11 मार्च को लखनऊ लौटी थीं. विदेश से आने के बावजूद सरकार की तय एडवाइजरी पर उन्होंने अमल नहीं किया.

वे करीब दस दिनों तक होम क्वारंटाइन का पालन करने की बजाए शहर में पार्टियां करती रहीं. इसमें कई राज्यों के सांसद, विधायक, मंत्री, अफसर समेत सहित हाई प्रोफाइल लोग जुटे. वे लखनऊ के अलावा कानपुर व दूसरे शहर भी गईं. ऐसे में बड़ी आबादी में संक्रमण फैलने की आशंका से सरकार के हाथ-पांव फूल गए हैं. केजीएमयू में शुक्रवार को कनिका में कोरोना कोविड-19 वायरस की पुष्टि हुई. सुबह जांच में पुष्टि होते ही लखनऊ समेत दिल्ली तक हड़कंप मचा. पार्टी में शामिल हुए कई जनप्रतिनिधि सदन में भी भाग लेने पहुंचे थे. कनिका कपूर को अस्पताल में भर्ती कराया गया और उनके माता-पिता को घर में ही क्वारंटाइन किया गया. वसुंधरा राजे, उनके सांसद पुत्र दुष्यंत सिंह, उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, कांग्रेस के पूर्व सांसद जितिन प्रसाद, पूर्व सांसद अकबर अहमद डंपी, विधायक रघुराज प्रताप सिंह, डीजी फायर जावेद अहमद सहित पूर्व नौकरशाह और जज पार्टी में शामिल हुए थे.

पूर्व बसपा सांसद अकबर अहमद डंपी के डालीबाग स्थित घर में पार्टी हुई थी. पास में ही पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद के ससुर आदेश सेठ का घर है. यहां 15 मार्च को पार्टी थी. इसके साथ ही लोकायुक्त संजय मिश्र के यहां भी पार्टी का आयोजन हुआ, जिसमें कनिका पहुंचीं. कनिका को पिछले चार दिन से बुखार-जुकाम था. बुधवार हो उन्होंने सीएमओ सहित अन्य अधिकारियों को फोन पर तबियत बिगड़ने की सूचना दी. गुरुवार शाम को उनके डंडईया स्थित फ्लैट में हेल्थ टीम पहुंची. यहां उनका सैंपल कलेक्शन कर केजीएमयू जांच के लिए भेजा गया. सुबह नौ बजे संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने कनिका में वायरस की पुष्टि की. नौ बजे कनिका में वायरस की पुष्टि के बाद घंटों अफसरों की मशक्कत चलती रही. मामला तूल पकड़ गया. इसके बाद दोपहर में एंबुलेंस उनके फ्लैट पर पहुंची. यहां से उन्हें एंबुलेंस से पीजीआई भेजा गया. जहां कोरोना आइसोलेशन वार्ड में पौने दो बजे भर्ती कराया गया.

कनिका कपूर के पिता के मुताबिक लंदन से आने के बाद कनिका तीन पार्टियों में जा चुकी हैं. इस दौरान वे करीब चार सौ लोगों से मिलीं. कनिका पूर्व सांसद अकबर अहमद डम्पी के यहां पार्टी में शामिल हुई थीं, जिसमें भाजपा के कई बड़े नेता, मंत्री व अधिकारी शामिल हुए थे. वह एक बड़े कारोबारी के घर आयोजित पार्टी में भी गई थीं. होटल ताज में भी एक मंत्री और कई आईएएस अफसर शामिल हुए थे. दोनों ही पार्टियों में कैटरिंग स्टाफ व होटल स्टाफ को हटाकर 500-700 लोग शामिल हुए. कनिका ने कई लोगों के साथ सेल्फी खिंचवाई और हैंडशेक किया.

अस्पताल में भर्ती कनिका ने एक चैनल से बातचीत में उन सभी खबरों का खंडन किया है जिसमें यह कहा जा रहा है कि वे एयरपोर्ट से छुपकर भागीं थीं और वे दो से तीन पार्टियों में गईं जहां उनके संपर्क में तीन से चार सौ लोग आए थे. कनिका ने दावा किया कि उन्होंने लखनऊ एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग कराई थी उस दौरान उनमें कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए थे, लेकिन उनकी गलती यह रही कि विदेश से लौटने के बाद भी उन्होंने खुद को एकांतवास में नहीं रखा और सार्वजनिक पार्टियों में शामिल होती रहीं. वहीं आइसोलेशन वार्ड में पानी तक न मिलने की बात कही. साथ ही दावा किया कि हेल्थ टीम ने उन्हें एफआईआर की धमकी दी है.

कनिका कूपर में वायरस की पुष्टि होने पर डंडईया स्थित कॉलोनी में हड़कंप मच गया. टॉवर से निकलकर लोग बाहर आ गए. अफसरों से संक्रमण से बचाव की गुहार लगाई. साथ ही गायिका की लापरवाही पर भी आक्रोश व्यक्त किया. ऐसे में अधिकारियों ने पूरे क्षेत्र में बैरिकेडिंग कर ब्लॉक कर दिया. कनिका के आवास के आस-पास स्क्रीनिंग होगी. घर-घर हेल्थ टीम दस्तक देगी. सभी से सर्दी-जुकाम, बुखार की हिस्ट्री लेगी. साथ ही 14 दिन तक मॉनिटिरिंग करेंगी. ऐसे में महानगर में भी कोरोना पॉजिटिव परिवार के आस-पास स्क्रीनिंग होगी. कनिका कपूर के कोरोना वायरस संक्रिमत होने पर अभिनेत्री सोनम कपूर ने ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. सोनम कपूर ने कनिका कपूर को लेकर अपने ट्ववीट में लिखा कि कनिका कपूर नौ तारीख को भारत आईं. भारत के लोग इस दौरान अलग-थलग नहीं थे लेकिन होली खेल रहे थे. सोनम कपूर के इस ट्वीट पर यूजर्स उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं और कह रहे हैं कि आप ट्वीट मत ही किया करो. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.