तबलीगी जमात मरकज का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

Samachar Jagat | Tuesday, 07 Apr 2020 04:02:10 PM
887713065231040

तबलीगी जमात को लेकर देश भर में एक अलग तरह का माहौल बनाने में देश के मीडिया के घराने लगे हैं. ज्यादातर चैनलों में इसे लेकर बहस चल रही है. चर्चा के केंद्र में तबलीगी जमात और निजामुद्दीन का मरकज है. तबलीगी जमात को लेकर तरह-तरह की अफवाहें फैल रही हैं. सोशल मीडिया पर फर्जी वीडियो जारी किए जा रहे हैं. इस पूरे खेल में दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस की भूमिका भी सवालों में है. लोगों को अपने-अपने घरों में भेजने के लिए मरकज ने प्रशासन और दिल्ली सरकार के अधिकारियों से गुहार लगाई थी लेकिन न तो पुलिस ने मदद की और न ही दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने. अब तबलीगी जमात का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. जमीयत-उलमा-ए-हिंद ने निज़ामुद्दीन मरकज मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है.

याचिका में कहा गया है कि मीडिया के एक वर्ग में इस मामले का सांप्रदायिकरण किया जा रहा है. याचिका में कहा गया है कि इससे भारत के पूरे मुसलिम समुदाय का जीने का अधिकार प्रभावित हो रहा है. याचिका में केंद्र सरकार को निर्देश देने को कहा गया है कि वह मीडिया में इस तरह की फर्जी खबरों को रोकने के लिए कदम उठाए. याचिका में यह भी कहा गया है कि सरकार ऐसी फर्जी खबरें चलाने वाले मीडिया के वर्ग की पहचान करे और उसके खिलाफ कार्रवाई करे.

देश में लॉकडाउन के बावजूद निजामुद्दीन मरकज स्थित मुख्यालय में पिछले हफ्ते तबलीगी जमात के 2,300 से ज्यादा सदस्यों के रहने की बात सामने आने के बाद देश भर में इनकी पहचान करने की कवायद शुरू की गई थी. निजामुद्दीन मरकज में पिछले महीने हुए धार्मिक आयोजन में देश-विदेश से कम से कम नौ हजार लोगों ने हिस्सा लिया था. केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिख कर उन सभी से कोविड-19 के मरीजों के इलाज में महत्वपूर्ण मेडिकल ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा है, साथ ही इस दौरान सामाजिक दूरी बनाए रखने और स्वच्छता पर भी ध्यान देने को कहा है.

उधर केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया कि केन्द्र और राज्य सरकारों के निजामुद्दीन मरकज के कार्यक्रम में शामिल तबलीगी जमात के सदस्यों की पहचान करने के लिए चलाए गए व्यापक अभियान के बाद जमात के सदस्यों और उनके संपर्क में आए पच्चीस हजार से ज्यादा लोगों को देश के विभिन्न हिस्सों में कोरेंटाइन किय गया है. गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने पत्रकारों से कहा कि हरियाणा के पांच गांवों को सील कर दिया गया है और निवासियों को आइसोलेशन में रखा गया है क्योंकि तबलीगी जमात के विदेशी सदस्य वहां ठहरे थे. उन्होंने कहा कि तबलीगी जमात के कुल 2,083 विदेशी सदस्यों में से 1,750 सदस्यों को अभी तक काली सूची में डाला जा चुका है. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विशलेषण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.