बारिश के बीच संसद के मानसून सत्र की शुरुआत, पार्लियामेंट जाते वक्त पीएम मोदी ने बाहर बारिश में एक हाथ से छाता पकड़कर मीडिया को किया संबोधित, बोले - देश के 40 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना वैक्सीन लेकर 'बाहुबली' बन गए !

Samachar Jagat | Monday, 19 Jul 2021 03:14:36 PM
Monsoon session of Parliament begins amidst rain, PM Modi while going to Parliament addressed the media holding an umbrella in the rain outside, said - More than 40 crore people of the country became 'Bahubali' by taking Corona vaccine

इंटरनेट डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज एक और रूप देखने को मिला। आज बारिश के बीच ही संसद के मानसून सत्र की शुरुआत हुई है। आज सोमवार को मानसून सत्र की शुरुआत के लिए पीएम मोदी ने संसद में जाते वक्त आज संसद के बाहर बारिश के बीच ही मीडिया को संबोधित किया। एक हाथ से छाता पकड़े पीएम मोदी ने पत्रकारों से बातचीत में कोरोना वैक्सीन को लेकर कहा कि 'बाहु' (बाहों) में टीका दिया जाता है, जो इसे लेता है वह 'बाहुबली' बन जाता है। कोविड के खिलाफ लड़ाई में 40 करोड़ से ज्यादा लोग 'बाहुबली' बन गए हैं। इसे और आगे बढ़ाया जा रहा है।

 

Vaccine is given in 'baahu' (arms), those who take it become 'Baahubali'. Over 40 cr people have become 'Baahubali' in the fight against COVID. It's being taken forward. The pandemic has gripped the entire world. So we want meaningful discussions in the Parliament over it: PM pic.twitter.com/YjrKUGQAqB — ANI (@ANI) July 19, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार, पीएम मोदी ने बारिश के बीच पत्रकारों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैंने सभी फ्लोर लीडर्स से आग्रह किया है कि अगर वे कल शाम को कुछ समय निकाल सकते हैं तो मैं उन्हें महामारी के बारे में पूरी जानकारी देना चाहूंगा। हम संसद के अंदर और संसद के बाहर तल नेताओं के साथ चर्चा चाहते हैं।

 

I would like to urge all the MPs & all the parties to ask the most difficult & sharpest questions in the Houses but should also allow the Govt to respond, in a disciplined environment. This will boost the democracy, strengthen people's trust & improve pace of development: PM Modi pic.twitter.com/eG6FoqTcl8 — ANI (@ANI) July 19, 2021

उन्होंने कहा कि महामारी ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है। इसलिए हम चाहते हैं कि इस पर संसद में सार्थक चर्चा हो।उन्होंने कहा कि मैं सभी सांसदों और सभी दलों से आग्रह करना चाहता हूं कि वे सदनों में सबसे कठिन और तीखे सवाल पूछें, लेकिन सरकार को अनुशासित माहौल में जवाब देने की अनुमति भी देनी चाहिए। यह लोकतंत्र को बढ़ावा देगा, लोगों के विश्वास को मजबूत करेगा और विकास की गति में सुधार करेगा। 

 

 

 



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.