BREAKING NEWS
Hindi News

Recipes News

इंटरनेट डेस्क। दाल की कचौरी की तरह ही आलू की कचौरी भी बनाई जाती है, आलू की कचौरी खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती है, आप इसे आसानी से घर पर बना सकती हैं।
इंटरनेट डेस्क। हरियाली तीज का दिन महिलाओं के लिए बहुत ही खास होता है वे इस दिन सजती-संवरती हैं और सोलह श्रृंगार करके तीज माता की पूजा करती हैं। तीज के दिन अधिकतर सभी घरों में पूरी -पकवान बनते हैं, इस दिन कई घरों में मीठे पूए भी बनते हैं जिससे तीज माता की पूजा की जाती है।
इंटरनेट डेस्क। सावन माह की तीज महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। महिलाएं इस दिन माता पार्वती की पूजा करती है। पूजा में घेवर का होना बहुत आवश्यक होता है इसी कारण तीज के त्योहार पर अगर सबसे ज्यादा किसी चीज की मांग रहती है वो है घेवर। वैसे तो सभी घरों में घेवर बाजार से खरीदकर ही लाया जाता है।
इंटरनेट डेस्क। गुजरात की एक बहुत ही फेमस डिश है खांडवी, बच्चे हों या बड़े सभी इसे बड़े ही चाव से खाना पसंद करते हैं। आप आसानी से इस डिश को घर में बना सकती हैं, इसे बनने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है। आइए आपको बताते हैं कैसे बनाई जाती है गुजराती की स्पेशल डिश खांडवी
इंटरनेट डेस्क। केला स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है, आप केले का शेक, इसकी चाट बनाने के साथ ही केले का हलवा भी बना सकते हैं। आमतौर पर हलवा गाजर का या सूजी का ही बनाया जाता है। लेकिन आपको बता दें कि केले का हलवा बनाया जा सकता है। केले के हलवे को व्रत में भी खाया जा सकता है।
इंटरनेट डेस्क। अधिकतर लोग मेथी खाना पसंद नहीं करते हैं जबकि मेथी स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। ऐसे में इसे किसी न किसी तरह से खाना आवश्यक होता है। आप मेथी के कबाब बना सकती हैं, मेथी चपली कबाब एक बहुत ही स्वादिष्ट डिश है, इसे बड़े हों या बच्चे सभी चाव से खाना पसंद करते हैं।
इंटरनेट डेस्क। इस मौसम में खाने - पीने के साथ ही अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना भी आवश्यक होता है। ऐसे में आप घर पर ही कुछ हेल्दी बना सकती है। बारिश के मौसम में काफी मात्रा में मक्के के भुट्टे आते हैं आप इन्हें सेककर खान के साथ ही इससे हेल्दी फूड मकई सब्ज शोरबा बना सकती हैं।
इंटरनेट डेस्क। आज सावन शिवरात्रि है और अगर आज के दिन खजूर गुड की खीर का भोग भगवान शिव को लगाया जाए तो वो बहुत प्रसन्न होते हैं। आपको बता दें कि खजूर गुड देखने में साधारण गुड की तरह ही होता है लेकिन इसका स्वाद अलग होता है।
गावों में बारिश के मौसम में झाड़ियों पर अक्सर कांटेदार गोल आकार के ककोड़े लगते है। उन्हें कंटोला या फिर छोटा करेला भी कहा जाता है। बारिश के मौमस में जहां कुछ सब्जियां खाने से मना किया जाता है वहीं ककोड़ा औषधीय गुणों से
आमतौर पर भारतीय लोगों को तीखा खाना पसंद आता है। यहां के लोग खाने में मसालेदार और चटपटी चीजों का सेवन अधिक करते हैं। यहीं कारण है कि हम इन चटपटी चीजों को जहां भी देखते हैं वहीं इसे खाने का मन करने लगता है।

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.