कच्चे तेल के झटके से बचने को एनआरआई बांड जारी कर सकता है रिजर्व बैंक

Samachar Jagat | Friday, 11 May 2018 12:03:19 PM
RBI can issue NRI bonds to avoid crude oil shocks

मुंबई। कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के विदेशी मुद्रा भंडार पर पड़ने वाले असर को संभालने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक 30 से 35 अरब डॉलर के एनआरआई बांड जारी कर सकता है, जिससे आयात कवर को संतोषजनक स्तर पर रखा जा सकेगा। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिच की रिपोर्ट ब्रेंट के अनुमान को बढ़ाकर 71.8 डॉलर प्रति बैरल कर दिया गया है।

फ्लिपकार्ट के सीईओ ने अपने विक्रेताओं को किया आश्वस्त

पहले उसने चालू वित्त वर्ष में इसके 62.5 डॉलर प्रति बैरल पर रहने का अनुमान लगाया था। वित्त वर्ष 2019-20 के लिए इसे 60 डॉलर प्रति बैरल के अनुमान से बढ़ाकर 75.3 डॉलर प्रति बैरल किया गया है। शोध रिपोर्ट में कहा गया है कि रिजर्व बैंक को 30 से 35 अरब डॉलर के एनआरआई बांड जारी करने चाहिए क्योंकि कच्चे तेल की ऊंची कीमतों की वजह से चालू वित्त वर्ष में आयात कवर घटकर 9.6 महीने रह जाएगा।

कर्नाटक चुनाव के समय पेट्रोल-डीजल की कीमतें नहीं बढ़ना संयोग: आईओसी

प्रस्तावित एनआरआई बांड यदि जारी किए जाते हैं तो यह इसकी चौथी किस्त होंगे। इससे विदेशी मुद्रा भंडार को मजबूत किया जा सकेगा और तेल की ऊंची कीमतों से रुपए को प्रभावित होने से बचाया जा सकेगा। -एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.