गोल्ड मोहर पान मसाले से भरे हुएं ट्रक को पुलिस ने पकड़ा

Samachar Jagat | Monday, 07 Oct 2019 01:57:35 PM
Police caught the truck filled with gold stamp paan spices

इंटनेट डेस्क। यहां मिली जानकारी के अनुसार भरतपुर से हिंडौन आ रहे गुटखे, पान मसाले से भरे एक ट्रक को देर रात को पुलिस ने सूरौठ के पास जब्त कर लिया। अवैध रूप से ट्रक में गोल्ड मोहर पान मसाला और सफल जर्दा भरा हुआ था। पुलिस ने ट्रक जब्त कर पान मसाले से भरे ट्रक को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम को सौंपने के लिए सूरोठ थाना परिसर में खड़ा करवा दिया। सीएमएचओ टीम को सूचना के बाद भी टीम सेंपल के लिए मौके पर नहीं पहुंची। दूसरी तरफ यह सवाल चर्चा का विषय बना हुआ है कि गोल्ड मोहर पान मसाला अवैध रूप से लाकर बेचने के कई मामले सामने आ चुके लेकिन संबंधित अफसर कोई कदम उठाने के बजाय संरक्षण में जुटे हुए हैं। जब्त किए गए पान मसाले को क्लीन चिट लेने के लिए गोल्ड मोहर पान मसाला की कंपनी अफसरों से सांठगांठ में जुटी हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सूरौठ थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि अवैध रूप से गुटखा, पान मसाला लाया जा जा रहा है। पान मसाला ला रहे ट्रक को मौके पर पकड़ लिया और बिल दिखाने को कहा, तो ट्रक चालक वहां से खिसक गया। बिना बिल के लाए जा रहा गोल्ड मोहर 2० लाख रूपए बताया गया। बाद में पुलिस ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को तो पत्र लिख दिया लेकिन जीएसटी की टीम को कोई सूचना नहीं दी। पुलिस के इस रवैये के बाद विक्रेता ने अवैध रूप से पकड़े गए पान मसाले का बिल मंगवाने की सांठगांठ कर तैयारी कर ली और पुलिस को बिल पहुंचान्कर गोल्ड मोहर पान मसाले की कंपनी इस मामले को दबाने में जुटी हुई है। दूसरी तरफ जिला चिकित्सा एवं स्वस्थ्य अधिकारी ने दोपहर तक कोई कार्रवाई नहीं की। उल्ल्ेखनीय है कि एक महा में दूसरी बार गोल्ड मोहर पान मसाले के ट्रक पकड़ में आए हैं लेकिन एंटी विजन टीम की ढिलाई के चलते अवैध रूपए से बिना बिल के पान मसाला धड़ल्ले से लाया जा रहा है। सूरौठ थानाधिकारी गिर्राज प्रसाद न कहा कि अवैध रूप से गुटखा पान मसाले की सूचना पर ट्रक जब्त कर लिया और सीएमएचओ को पत्र लिख दिया लेकिन सीएमएचओ की कोई टीम अभ्ी तक नहीं पहुंची। लाखों रूपए का पान मसाला है लेकिन अभी तक बिल नहीं मिला है। संबंधित विभाग ही इस संबंध में आगे कार्रवाई कर सकते हैं। गोल्ड मोहर पान मसाले के विक्रेता अनूप कंसाड़िया का कहना है कि गोल्ड मोहर पान मसाले का उनका ट्रक नहीं है, दूसरे किसी विक्रेता का ही ट्रक है। जब उनसे पूछा कि कोनसे विक्रेता का है तब उन्होंने कहा कि कंपनी को पता है या अफसरों को।
 


loading...



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.