जनता की पहुंच से दूर होता जा रहा है राशन, पाॅस मशीन के कारण राशन वितरण में हो रही है धांधली

Samachar Jagat | Monday, 02 Sep 2019 04:50:22 PM
Ration is becoming far away from the reach of the public, due to the pass machine, ration distribution is being rigged

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की ओर से राशन का वितरण किया जाता है। प्रदेश में कांग्रेस सरकार के गठन हुएं 9 माह के करीब हो गएं। भाजपा सरकार के द्वारा भामाशाह योजना के तहत राशन कार्ड ।


loading...

धारकों को राशन का वितरण किया गया था। जिसके अंतर्गत पाॅस मशीन के माध्यम से राशन वितरण किया गया। गरीब और आम जनता तक सरकारी योजना का फायदा मिले, जिस कारण से पाॅस मशीन लगाई गई थी। कांग्रेस सरकार के बदलने के बाद भी अभी तक पाॅस मशीन से अनाज का वितरण किया जा रहा है।

आम जनता डिजीटल तकनीक नहीं समझने के कारण अपने हक से वंचित हो जाती है।राशन डीलरर्स का कहना है कि राशन का वितरण बीपीएल परिवार, अंत्योदय योजना, अन्नपूर्णा योजना और आस्था कार्ड धारकों को किया जाता है। राशन की दुकान के कोटे का अनाज मशीन में डालने के बाद ही आम जनता को अनाज का वितरण किया जाता है।

सरकार की ओर से गेहूं समितियों को आवंटन किया जाता है। सहकारी समितियों में पैसा नहीं होने के कारण राशन डीलर को पैसा जमा करवाने के बाद राशन की खरीद की जाती है। राशन विक्रेता और आम जनता के बीच जिद्द बहस का घटनाक्रम चलता रहता है।

आम जनता का कहना है कि दुकान में अनाज होने के बाद भी पाॅस मशीन में राशन की एंट्री होने के कारण घंटों तक दुकान पर बैठा रहना पड़ता है। कई बार तो पाॅस मशीन नेटवर्क क्षेत्र से बाहर और हैंग भी हो जाती है।

ऐसे में राशन का वितरण पुराने सिस्टम रजिस्टर में एंट्री करने के बाद जैसी प्रक्रिया के माध्यम से ही किया जाएं। क्योंकि राशन की दुकान पर राशन होने के बाद भी राशन का वितरण नहीं हो पाता है।

ऐसे में राशन डीलर और उपभोक्ता के बीच सामंजस्य नहीं बैठ पाता है। इस संबंध में जिला रसद अधिकारी से लेकर आम जनता द्वारा खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग मंत्री रमेश मीणा और राज्य मंत्री सुखराम विश्नोई तक भी लिखित में शिकायत दर्ज करवाई जा चुकी है। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.