मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देश की प्रतिभाओं को कही ये बात!

Samachar Jagat | Monday, 20 Aug 2018 05:37:43 PM
Shivraj singh chauhan said do not let the talents get frustrated

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बच्चे देश का भविष्य हैं। बच्चे पढ़ते जाएं, बढ़ते जाएं, अपना भविष्य गढ़ते जाएं। उन्होंने कहा कि प्रतिभाओं को कुंठित नहीं होने दिया जाएगा। राह में जो भी बाधा आएगी, उसे दूर किया जाएगा। शिवराज सिंह चौहान सोमवार को विधानसभा के मानसरोवर सभागार में स्वर्ण शारदा स्कॉलरशिप समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने छात्र-छात्राओं को आश्वस्त किया कि वे बनी बनाई लकीर पर नहीं चलते हैं।

ममता ने राजीव गांधी को उनकी जयंती पर याद किया

छात्र-छात्राओं को जो भी समस्या होगी, उसका समाधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ जो पल बीतते हैं, वो उनके जीवन के सबसे सुखद पल होते हैं, उन्हें प्रसन्नता देते हैं। उन्होंने कहा कि प्रतिभाओं के साथ वे सदैव खड़े हैं और उन्हें हरसंभव सहायता देने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा नि:शुल्क पुस्तकें, दूसरे गांव पढऩे जाने के लिए साइकिलें, लाड़ली लक्ष्मी योजना आदि अनेक योजनाएं बनाई गई हैं।

केरल बाढ़ राहत के लिए एक महीने का वेतन दान करेंगे शिवसेना के सांसद और विधायक

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के मेधावी बच्चों की फीस भरने की समस्या उन्हें बताई जाती थी। समस्या के समाधान के लिए मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना लागू की गई। उन्होंने कहा कि पहले योजना के लिए 75 प्रतिशत अंकों की सीमा थी, जिसे बच्चों की मांग पर 70 प्रतिशत कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह उपलब्धि पड़ाव है, मंजिल अभी आगे हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पश्चिमी संस्कृति का अंधा अनुकरण नहीं करना चाहिए।

सिद्धू की पाकिस्तान यात्रा से पल्ला झाड़ा कांग्रेस ने

भारतीय संस्कृति में महिलाओं को देवी का सम्मान दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है। मासूम के साथ दुराचार करने वाले दरिंदों को फांसी दिलवाने का मध्यप्रदेश विधानसभा द्वारा सबसे पहले निर्णय किया गया था। अभी तक दस लोगों को राज्य में फांसी की सजा सुनाई गई है। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा ने कहा कि सच्चा राजनेता वो है, जो अपने विजन पर चलता है। समाज उसका अनुसरण करने लगता है। मुख्यमंत्री के बेटा-बेटी पढ़ाओ विकान को समाज ने स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह मुख्यमंत्री ने स्वयं बेटियों का सम्मान कर समाज के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया, यही राजनेता का दायित्व है। कार्यक्रम के प्रारंभ में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी को दो मिनिट का मौन रख श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को स्कॉलरशिप का वितरण किया और कॉफी टेबल बुक मेधा का विमोचन किया। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.