झांसी हत्याकांड:पत्नी के साथ अवैध संबंधों के शक में की थी व्यापारी की हत्या

Samachar Jagat | Saturday, 13 Jul 2019 01:49:12 PM
Jhansi massacre: In connection with illegal relations with his wife, the murder of the businessman

झांसी। उत्तर प्रदेश के झांसी में पिछले दिनों एक व्यापारी का अपहरण कर हत्या मामले का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा करते हुए बताया कि पत्नी के साथ अवैध संबंधों के शक के चलते इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) डा़ ओ पी सिंह ने पत्रकारों को बताया कि संजय जोशी की हत्या को अंजाम देने वाले आरोपी ओमप्रकाश साहू को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके पास से पिस्टल, चार पहिया और दो पहिया वाहन बरामद किया है। हत्या का कारण अवैध सम्बंध का शक बताया जा रहा है। फिलहाल पुलिस ने सभी हत्यारोपियों को खिलाफ कार्यवाही शुरु कर दी है। 

संजय जोशी स्कूलों के बच्चों की ड्रेस बनाने का कारोबार करता था और 20 जून को झांसी के एक चर्चित कालेज के बच्चों की ड्रेस की नाप लेने के लिए घर से निकला था। वह शाम को वापस घर नहीं आया तो परिजनों ने खोजबीन करते हुए नवाबाद थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। गुमशुदगी दर्ज होने के बाद पुलिस ने संजय की तलाश शुरु कर दी। 

इसके बाद 25 जून को गुमशुदगी से मामला अपहरण में परिवर्तित किया गया। अपहरण में मामला परिवर्तित होने के बाद एसएसपी झांसी के निर्देश पर नवाबाद थाना प्रभारी और स्वॉट की संयुक्त टीम को लगाया गया। छानबीन के दौरान पुलिस टीम ने आरोपी ओम प्रकाश साहू को गिरफ्तार किया और सख्ती से पूछताछ की गई। पूछताछ में काफी हद तक स्थिति स्पष्ट हो गई। 

डा़ सिंह ने बताया कि पकड़े गये आरोपी ओमप्रकाश ने पूछताछ में बताया कि लगभग 6-7 माह पूर्व उसका और संजय के साथ मंदिर पर विवाद हुआ था जिसमें संजय ने उसकी काफी बेइज्जती करते हुए धमकी दी थी। ओम प्रकाश ने भी संजय जोशी को सबक सिखाने की ठान ली थी। 

इसके बाद ओम प्रकाश और संजय जोशी की आपस में बातचीत बंद हो गई थी लेकिन ओम प्रकाश की पत्नी और संजय जोशी के बीच आपस में बातचीत बादस्तूर जारी थी, जो ओम प्रकाश को नागवार गुजर रही थी। ओम प्रकाश का साढ़ू नरेन्द्र साहू का भाई दीपक साहू ग्वालियर में ट्रक लूटकांड में जेल गया था। दीपक साहू का साथी काके उर्फ गुरभबदर भी साथ में जेल गया था।

इसके बाद जून माह में गुरभबदर काम के सम्बंध में ओमप्रकाश के पास आया। जिस पर उसने संजय जोशी को मारने की बात करते हुए काके को दो लाख में सुपारी दी और 5 हजार रुपए पेशगी के रुप में दिये। सुपारी देने के बाद गुरभबदर ने अपने साथी विजय त्रिपाठी, लकी और ड्राईवर जगत उर्फ रक्कू उर्फ फौजी ने मिलकर संजय का इलाईट चौराहे से अपहरण किया और हत्या कर उसके शव को सतना में फेंक दिया था। हत्या करने के बाद उन्होनें संजय जोशी का आधार कार्ड व एटीएम कार्ड ओमप्रकाश को दिया और सुपारी की शेष रकम एक लाख 95 हजार रुपए ले लिये।

एसएसपी ने बताया कि पकड़े गये आरोपियों के पास से एक बाइक यूपी 32 डीएक्स 8795, एक पिस्टल और कार यूपी 78 ईक्यू 1414 को बरामद किया। इसके आरोपियों की निशानदेही पर घटना स्थल पर जाकर मृतक का सामान बरामद कर शिनाख्त कराई। पकड़े गये हत्यारोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.