तालिबान का भारत के खिलाफ हो रहा है इस्तेमाल : अमेरिकी कमांडर

Samachar Jagat | Wednesday, 05 Dec 2018 06:48:29 PM
American Commander said taliban is being used against India

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा अफगानिस्तान शांति वार्ता में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मदद मांगे जाने के कुछ दिन बाद एक शीर्ष अमेरिकी कमांडर ने सांसदों को बताया कि इस्लामाबाद की नीति में कोई बदलाव दिखाई नहीं दे रहा है और वह लगातार तालिबान का इस्तेमाल भारत के खिलाफ कर रहा है।

न्यू कैलेडोनिया के पास एक बार फिर आया भूकम्प, तीव्रता 6.6 मापी गई

मरीन कोर के लेफ्टिनेंट जनरल केनेथ मैकेंजी ने यूस सेंट्रल कमांड के कमांडर (सेंटकॉम) पद पर नियुक्ति के लिए सुनवाई के दौरान सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति से कहा है कि अफगनिस्तान में दीर्घकालिक स्थायित्व के लिए पाकिस्तान अनिवार्य तत्व है। उन्होंने कहा कि तालिबान और अफगानिस्तान की सरकार के बीच बातचीत कराने में पाकिस्तान अहम भूमिका निभा सकता है।

हर 70 वें आदमी को मानवीय सहायता की जरूरत: संरा राहत प्रमुख

उन्होंने कहा कि मैं उस प्रगति का स्वागत करूंगा। हालांकि, इस वक्त ऐसा नहीं लगता कि तालिबान को वार्ता की मेज तक लाने में पाकिस्तान अपने प्रभाव का पूरा इस्तेमाल कर रहा है। मैकेंजी ने सुनवाई के दौरान कहा है कि हम लगातार देखते आ रहे हैं कि स्थायी तथा सामंजस्यपूर्ण अफगानिस्तान का हिस्सा बनने की बजाए तालिबान का इस्तेमाल भारत के खिलाफ किया जा रहा है। मैकेंजी ने लिखित प्रश्नों के जवाब में ये बातें कहीं। उनका यह जवाब ऐसे वक्त में आया है जब ट्रंप ने हाल ही में इमरान को पत्र लिख कर अफगान शांति वार्ता में मदद मांगी है।

जो बाइडेन लड़ सकते हैं 2020 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव

व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के एक प्रवक्ता ने पीटीआई भाषा से कहा, राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रधानमंत्री खान को एक पत्र भेजा है जिसमें अमेरिका नीत अफगान शांति प्रक्रिया तथा अफगानिस्तान मैत्री राजदूत के विशेष प्रतिनिधि जलमय खलीलजाद की क्षेत्र में होने वाली यात्रा में पाकिस्तान का पूरा सहयोग मांगा गया है। उन्होंने कहा है कि पत्र में राष्ट्रपति ने कहा है कि पाकिस्तान में क्षमता है कि वह अपनी जमीन में तालिबान की सुरक्षित पनाहगाह नहीं बनने दे। इस पर मैकेंजी ने सांसदों से कहा कि वह अफगानिस्तान के प्रति अथवा आतंकवाद के प्रति पाकिस्तान के रवैये में कोई खास परिवर्तन नहीं देखते। उन्होंने कहा कि दक्षिण एशिया रणनीति पर पाकिस्तान के सकारात्मक रवैए के बावजूद हिंसक कट्टरपंथी संगठन अफगानिस्तान की सीमा से लगते उसके क्षेत्र में सक्रिय हैं। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.