राजपक्षे ने पार्टी एकता विफलता का ठीकरा श्रीलंका के राष्ट्रपति के सिर फोड़ा 

Samachar Jagat | Tuesday, 05 Dec 2017 03:39:56 PM
Rajapaksa blames Sri Lanka president for breakdown of party unity talks

कोलंबो। श्रीलंका के सत्तारढ़ दल एसएलएफपी के प्रतिद्वंद्वी गुट की अगुवाई करने वाले पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने अपने उत्तराधिकारी राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के सिर पर दोनों गुटों के बीच की एकता वार्ता की विफलता का ठीकरा फोड़ा है।

उत्तर कोरिया की यात्रा पर जाएंगे संयुक्त राष्ट्र राजनीतिक प्रमुख

श्रीलंका फ्रीडम पार्टी (एसएलएफपी) के दोनों गुटों ने स्थानीय परिषद चुनाव का मिलकर मुकाबला करने की कोशिश के तहत बातचीत की है। मध्य फरवरी में इस चुनाव की संभावना है। राजपक्षे ने कल बादुल्ला शहर में अपनी नयी पार्टी श्रीलंका पोदुजाना पेरामुना (एसएलपीपी) की रैली में कहा, प्रयास विफल हो गया क्योंकि वे (सिरिसेना गुट) सरकार छोडऩा नहीं चाहते हैं।

हम यूएनपी के साथ किसी भी गठजोड़ के लिए राजी नहीं हो सकते। वैसे एसएलपीपी राजपक्षे के भाई बासिल के दिमाग की उपज है। कल तक राजपक्षे एसएलपीपी के साथ सार्वजनिक रप से साथ जाने से इनकार करते रहे थे।

ग्लोबल थिंकर्स सूची में शीर्ष पर रही भारतीय अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस 

एसएलपीपी में राजपक्षे समर्थक चाहते हैं कि सिरिसेना गुट प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघ की यूनाइटेट नेशनल पार्टी (यूएनपी)के साथ एकता सरकार से बाहर आए।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.