तरक्की चाहते हैं तो पूजा के बाद बची सामग्री को रखें इस स्थान पर

Samachar Jagat | Thursday, 16 Aug 2018 05:29:47 PM
If you want to progress then keep the content left after worship.

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का बहुत महत्व होता है, कोई भी शुभ कार्य पूजा और हवन के बिना पूरा नहीं होता है। हवन और पूजा करने से पूरा घर शुद्ध हो जाता है, जब पूजा होती है तो उस समय कुछ नियमों का पालन किया जाता है। पूजा के समय नियमों के पालन करने के साथ ही पूजा समाप्त होने के बाद भी कुछ बातों को ध्यान में रखना आवश्यक होता है। अगर इन बातों को ध्यान में रखा जाए तो इससे घर वास्तु दोष से मुक्त रहता है और तरक्की के रास्ते खुलते हैं, आइए आपको बताते हैं इनके बारे में.....

हवन करवाने के बाद हवन की राख को फैंकना नहीं चाहिए बल्कि इसे घर में छिड़ककर पेड़ों में डाल देना चाहिए।

पूजा में काम आने वाले फूलों और माला को घर के दरवाजे पर लटका देना चाहिए और जब ये मुरझा जाएं तब इन्हें पौधों के आस-पास बुरक देना चाहिए।

पूजा होने के बाद नारियल को लाल कपड़े में बांधकर घर के मंदिर में रख देना चाहिए। 

पूजा में काम आने वाले चावल और सुपारी को लाल कपड़े में बांधकर तिजोरी में रख देना चाहिए, इससे तिजोरी कभी खाली नहीं होती है। वहीं अगर आप चाहें तो इसे अपने पर्स में भी रख सकते हैं, इससे पैसों की तंगी नहीं होती है। 

पूजा के बाद फलों और मिठाई को प्रसाद के रूप में वहां उपस्थित सभी लोगों को वितरित कर देना चाहिए।

पूजा में काम आने वाली चुनरी को तिजोरी में रख दें, इससे घर में सुख और समृद्धि बनी रहती है। 

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका नया प्लॉट वास्तुदोष से मुक्त हो तो इन चीजों का रखें ध्यान

अगर चाहते हैं कि माता लक्ष्मी आप पर रहें मेहरबान तो इस तरह से अपनी झाडू का रखें ध्यान

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.