सावन के दूसरे सोमवार को शिवालयों में उमड़ी शिव भक्तों की भीड़

Samachar Jagat | Monday, 06 Aug 2018 02:51:28 PM
On the second Monday of Savannah, crowds of Umri Shiva devotees

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जयपुर। श्रावण मास का दूसरा सोमवार आज है और आज श्रद्धालुओं ने अलग-अलग मंदिरों में जाकर भगवान शिव की पूजा-अर्चनी की। वहीं मंदिर में सैकड़ों की संख्या में कावंडियों ने गंगाजल चढ़ाया। जयपुर के चौड़ा रास्ता स्थित ताड़केश्वर महादेव मंदिर में भी श्रद्धालुओं की काफी भीड़ देखी गई। लोग सुबह से ही शिवलिंग पर जल चढ़ाने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते रहे। वैशाली नगर स्थित झारखंड महादेव मंदिर में भी श्रद्धालुओं की लंबी लाइन लगी देखी गई और सभी अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए। 

झोटवाड़ा रोड स्थित चमत्कारेश्वर महादेव मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ की वजह से मुख्य रोड जाम रही। सावन मास के सोमवार को महिलाएं और लड़कियां व्रत रखती हैं। जहां लड़कियां योग्य और मनचाहा वर पाने के लिए ये व्रत करती हैं वहीं विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए सावन के सोमवार का व्रत करती हैं। वैसे तो पूरे सावन के महीने में ही भोलेनाथ के जयकारों की गूंज से वातावरण गूंजायमान रहता है लेकिन सावन के सोमवार को अधिकतर सभी भक्त मंदिर में जाकर भोलेनाथ की पूजा करते हैं। 

If you want to fulfill the desire, then give it to Bholenath in the Sawan Month

इसी के साथ इस माह में सहस्त्रघटों की भी धूम रहती है। लोग शिव मंदिरों में जाकर सहस्त्रघट का आयोजन करते हैं। सहस्त्रघट के तहत भगवान शिव का मटकों के पानी से अभिषेक किया जाता है। सारे दिन के अभिषेक के बाद प्रसादी का आयोजन किया जाता है। कुछ मंदिरों में शाम के समय मनमोहक झांकियां सजाई जाती हैं जिन्हें देखने के लिए मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहता है। 

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका नया प्लॉट वास्तुदोष से मुक्त हो तो इन चीजों का रखें ध्यान

अगर चाहते हैं कि माता लक्ष्मी आप पर रहें मेहरबान तो इस तरह से अपनी झाडू का रखें ध्यान

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.