25 मार्च : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Monday, 25 Mar 2019 04:44:04 PM
25 march top 10 news

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

चुनाव से पहले राहुल का बड़ा वादा: हर गरीब के खाते में देंगे 72000 हजार रुपए सालाना

Rahul big promise before election: Will give 72000 thousand rupees annually in every poor account

Loading...

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव से पहले सोमवार को बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि उनकी पार्टी की सरकार बनने पर देश के हर गरीब परिवार को सालाना 72 हजार रुपए दिए जाएंगे। गांधी ने इसे गरीबी पर आखिरी प्रहार करार देते हुए कहा कि इससे देश के पांच करोड़ परिवारों यानी 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला जा सकेगा।

पार्टी की कार्य समिति की बैठक के बाद गांधी ने संवाददाताओं से कहा, पिछले पांच वर्षों में देश की जनता को बहुत मुश्किलें सहनी पड़ी हैं। हमने निर्णय लिया और हम हिदुस्तान के लोगों को न्याय देने जा रहे हैं। यह न्याय न्यूनतम आय गारंटी है। ऐसी योजना दुनिया में कहीं नहीं है। उन्होंने कहा कि हम 12000 रुपए माह तक की आय वाले परिवारों को न्यूनतम आय गारंटी देंगे।

कांग्रेस गारंटी देती है कि वह देश में 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों में से प्रत्येक को हर साल 72000 रुपए देगी। यह पैसा उनके बैंक खाते में सीधा डाल दिया जाएगा। राहुल ने कहा कि अगर मोदी जी सबसे अमीर लोगों को पैसा दे सकते हैं तो कांग्रेस भी सबसे गरीब लोगों को पैसा देगी। इसे दुनिया की सबसे बड़ी न्यूनतम आय योजना करार देते हुए उन्होंने कहा कि यह गरीबी पर आखिरी प्रहार है।

यह योजना चरणबद्ध तरीके से चलाई जाएगी। यह बहुत ही प्रभावशाली और सोची समझी योजना है। हमने योजना पर कई अर्थशास्त्रियों से विचार-विमर्श किया है। गांधी ने कहा कि पूरा आकलन कर लिया गया। सब कुछ तय कर लिया गया। उन्होंने कहा कि इससे पांच करोड़ परिवार यानी 25 करोड़ लोगों को फायदा होगा।

उन्होंने कहा कि आप याद रखिए कि हमने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में 10 दिन में किसानों के कर्ज माफ करने का वादा किया था जिसे पूरा किया। मैं फिर वादा कर रहा हूं कि हम 20 फीसदी सबसे गरीब लोगों के साथ न्याय करेंगे और साल का 72 हजार रुपए देंगे। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि साढ़े तीन रुपये किसानों को दिए तो संसद में ताली बजी।

भाइयों और बहनों आपको गुमराह किया जा रहा है। वो आपको साढ़े तीन रुपए देते हैं और निजी हवाई जहाज वालों को लाखों करोड़ रुपये देते हैं। बाद में गांधी ने ट्वीट किया, आज एक ऐतिहासिक दिन है। आज के दिन कांग्रेस ने गरीबी पर आखिरी प्रहार किया है। पांच करोड़ परिवारों को सालाना 72 हजार रुपए दिए जाएंगे। बदलाव का समय आ गया है।

चंद्रबाबू नायडू ने दिया ये बड़ा बयान, कहा-ये लोग करना चाहते हैं आंध्र को बर्बाद

This big statement given by Chandrababu Naidu

चित्तूर। तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव और वाईएसआर कांग्रेस के जगन मोहन रेड्डी पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि ये तीनों मिलकर आंध्र को बर्बाद करना चाहते हैं। नायडू ने अपने चुनावी अभियान के तहत यहां एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जगन और केसीआर का साथ आना राज्य के लिए बहुत चिंता की बात है।

उन्होंने लोगों से जगन को वोट नहीं देने की अपील की। नायडु ने कहा कि अगर आप वाईएसआर को वोट देते हैं तो यह मोदी को वोट देने जैसा ही होगा। चुनावी रैली के दौरान मुख्यमंत्री ने जनता से तेदेपा को वोट देने की अपील की। इसके बाद नायडू ने श्रीकालाहस्ती में जनसभा को संबोधित किया जहां से पूर्व मुख्यमंत्री बोज्जाला गोपालकृष्ण रेड्डी के पुत्र बी सुधीर रेड्डी विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं।

समय की कमी के कारण चंद्रागिरी और तिरुपती में रैली और रोड शो को स्थगित कर दिया गया। पालामानेर और श्रीकालाहस्ती रैली के दौरान नायडू ने कहा कि कृष्णा नदी का पानी जिले के पश्चिमी मंडलों में लाया गया और हांडरी-नीवा, गलेरु-नागरी परियोजनाओं के पूरा होने के साथ ही हर समय खेती और पीने की जरुरत के लिए पानी उपलब्ध होगा।

उन्होंने कहा कि तेदेपा की सरकार नें हमेशा किसानों, महिलाओं, विद्यार्थियों और कर्मचारियों के हितों को प्राथमिकता दी है। अपनी सरकार के विकास कार्यों को बताते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में आज नए उद्योग लग रहे हैं, लोगों को रोजगार मिल रहा है और यह सब तेदेपा की सरकार के कारण संभव हो सका है।

ट्रंप के प्रचार अभियान की रूस के साथ मिलीभगत का कोई सबूत नहीं मिला : अमेरिकी अटॉर्नी जनरल

Russia promotion campaign No evidence of collusion with

वाशिंगटन। अमेरिका के अटॉर्नी जनरल विलियम बर्र ने कहा कि विशेष अधिवक्ता रॉबर्ट मूलर को इस बात के सबूत नहीं मिले कि डोनाल्ड ट्रंप या उनके प्रचार अभियान ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप करने के लिए रूस के साथ साजिश रची थी। इस रिपोर्ट के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति ने पूरी तरह से दोषमुक्त होने का दावा किया।

कांग्रेस को रविवार को लिखे चार पन्नों के पत्र में बर्र ने कहा कि हालांकि इस रिपोर्ट में यह निष्कर्ष नहीं दिया गया है कि राष्ट्रपति ने अपराध किया, यह रिपोर्ट उन्हें दोषमुक्त नहीं करती। इस पत्र को बाद में सार्वजनिक किया गया। ट्रंप के करीब दो साल के कार्यकाल में इस मामले की जांच का साया रहा।

डेमोक्रेटिक नेताओं ने आरोप लगाया कि रूस के हस्तक्षेप की मदद से ट्रंप ने 2016 का चुनाव जीता। बर्र ने कहा कि मूलर को ट्रंप के प्रचार अभियान में मदद करने की रूस से जुड़े कई लोगों की पेशकश के बावजूद इस तरह की साजिश का कोई सबूत नहीं मिला। अटॉर्नी जनरल ने कहा कि विशेष अधिवक्ता की जांच में यह नहीं पाया गया कि ट्रंप के प्रचार अभियान या उससे जुड़े किसी भी व्यक्ति ने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने की रूस की कोशिश में उसके साथ साजिश रची या मिलीभगत की।

बर्र ने सांसदों को बताया कि मूलर ने अपनी रिपोर्ट में यह निष्कर्ष नहीं दिया कि क्या किसी तरह से जांच में बाधा आई। पत्र में उन्होंने यह भी कहा कि न्याय विभाग इस बात को लेकर दृढ़ है कि इस बात के पर्याप्त सबूत नहीं है कि ट्रंप ने जांच में बाधा डाली।

पत्र में कहा गया है, इन मुद्दों पर विशेष अधिवक्ता की अंतिम रिपोर्ट, विभिन्न विभागों के अधिकारियों से विचार विमर्श कर और संघीय अभियोजक के सिद्धांतों के आधार पर, मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि विशेष अधिवक्ता की जांच के दौरान मिले सबूत यह साबित करने के लिए पर्याप्त नहीं है कि राष्ट्रपति ने न्याय में बाधा डालने का अपराध किया। डेमोक्रेट 2020 के चुनावों में ट्रंप को हराने के लिए मूलर की जांच के नतीजों का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। रिपोर्ट में रूस और ट्रंप के अभियान के बीच मिलीभगत का खुलासा होने पर कई सांसद तो राष्ट्रपति पर अभियोग चलाने की भी बात कर रहे थे। राष्ट्रपति ने फ्लोरिडा में पत्रकारों से कहा कि यह पूरी तरह से दोष मुक्ति है।

मिलीभगत के आरोपों को अब तक की सर्वाधिक हास्यास्पद बात बताते हुए ट्रंप ने कहा कि यह शर्मनाक है कि हमारे देश को इससे गुजरना पड़ा। ईमानदारी से बताऊं तो यह शर्मनाक है कि आपके राष्ट्रपति को इससे गुजरना पड़ा। ट्रंप रूस के साथ मिलीभगत के आरोपों को खारिज करते हुए यह कहते आ रहे हैं कि उन्हें दुर्भावनावश निशाना बनाया गया। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि रिपोर्ट राष्ट्रपति के रुख को सही ठहराती है। रिपब्लिकन नेशनल कमिटी की अध्यक्ष रोना मैकडेनियल ने कहा कि यह सभी अमेरिकियों के लिए बड़ा दिन है। 

हिन्दू नाबालिग लड़कियों ने कोर्ट से संरक्षण की गुहार लगाई

Hindu minor girls offered protection from court

लाहौर। पाकिस्तान में दो नाबालिग हिन्दू लड़कियों की शादी कराने में कथित मदद करने के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है। इन किशोरियों ने पंजाब प्रांत की अदालत का रूखकर संरक्षण देने का अनुरोध किया। खबरों के अनुसार, इन लड़कियों को अगवा करके जबरन इस्लाम में धर्मांतरित कराया गया है। होली के मौके पर सिंध प्रांत के घोटकी जिले से रवीना (13) और रीना (15) को रसूखदार लोगों ने कथित रूप से अगवा कर लिया था।

उनके अपहरण के कुछ वक्त बाद ही, एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें एक काज़ी कथित रूप से दोनों का निकाह (शादी) करा रहा था। इसने देश भर में गुस्से का माहौल पैदा कर दिया। प्रधानमंत्री इमरान खान ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। जियो टीवी के मुताबिक, नाबालिग लड़कियों ने पंजाब के बहावलपुर की एक अदालत का रूख कर संरक्षण देने का अनुरोध किया है। टीवी की खबर में कहा गया है, पुलिस ने खानपुर से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

उस पर शक है कि उसने लड़कियों का निकाह कराने में मदद की है। बहरहाल, अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि गिरफ्तार शख्स ही शादी कराने वाला काज़ी है या नहीं। इससे पहले खबरें थी कि लड़कियों की शादी कराने वाले काज़ी को सिध के खानपुर से गिरफ्तार किया गया है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के प्रतिष्ठित हिन्दू सांसद रमेश कुमार वंकवानी ने कहा कि वह कौमी (नेशनल) असेंबली के अगले सत्र में जबरन धर्मांतरण को खत्म करने की मांग करने वाला एक प्रस्ताव पेश करेंगे।

मसौदा प्रस्ताव में मांग की गई है कि अपहरण और जबरन धर्मांतरण की दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं की संसद के सभी सदस्यों को सर्वसम्मति निदा करनी चाहिए। मसौदा प्रस्ताव कहता है, सिंध असेंबली ने 2016 में जबरन धर्मांतरण के खिलाफ सर्वसम्मति से एक विधेयक पारित किया था, लेकिन चरमपंथी तत्वों के दबाव की वजह से इसे पलट दिया गया था। इस विधेयक को फिर से पेश किया जाना चाहिए और प्राथमिकता के आधार पर असेंबली में पारित करना चाहिए।

प्रस्ताव ऐसे अमानवीय चलन की हिमायत करने वाले विवादित धार्मिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करता है। दो नाबालिग हिन्दू लड़कियों के कथित अपहरण,जबरन धर्मांतरण और शादी को लेकर भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के सूचना मंत्री फव्वाद चौधरी के बीच वाक युद्ध छिड़ गया था।

स्वराज ने इस बाबत पाकिस्तान में भारतीय दूत से विवरण मांगा था जिसके बाद यह वाक युद्ध छिड़ा। स्वराज ने एक मीडिया रिपोर्ट टैग करते हुए ट्वीट किया कि उन्होंने पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त से मामले पर रिपोर्ट भेजने को कहा है। पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी ने उनके ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि यह उनके मुल्क का अंदरूनी मामला है।

चौधरी ने रविवार को उर्दू में किए गए ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री ने सिंध के मुख्यमंत्री से उन खबरों की जांच करने को कहा है जिनमें दावा किया गया है कि लड़कियों को पंजाब के रहीम यार खान ले जाया गया है। इस घटना के बाद पाकिस्तान के हिन्दू समुदाय ने व्यापक प्रदर्शन किए और कसूरवारों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।

फिल्म 'छपाक' का पहला पोस्टर हुआ लांच, इस लुक में नजर आई ​दीपिका

Launch of the first poster of 'Chhapak', Deepika, seen in this look

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' का पहला पोस्टर लांच हो चुका है। इस पोस्टर में दीपिका को देखकर पहचान में नहीं आ रही है। इसके अलावा इस पोस्टर को देखकर आपके रोंगटे खडे भी हो सकते है। इस फिल्म में दीपिका पादुकोण एसिड सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल का किरदार निभा रही है। बताया जा रहा है कि इस फिल्म की कहानी लक्ष्मी अग्रवाल पर निर्भर है। 

आपको बता दें कि फिल्म के पहले पोस्टर में इतना प्रभावशाली है कि पहली नजर में ही आपका दिल जीत लेगा। इस पोस्टर में दीपिका एसिड हमले का शिकार हुई लडकी की तरह नजर आ रही है। इस पोस्टर में दीपिका मुस्कुराती हुई शीशे के पीछे से देख रही हैं और शीशे में भी उनका चेहरा दिख रहा है। 

आपको बता दें कि इस फिल्म को मेघना गुलजार डायरेक्ट कर रही हैं। दीपिका और मेघना पहली बार साथ में काम करते दिखेंगे । यह फिल्म 10 जनवरी 2020 को रिलीज होगी। इसके साथ ही इस फिल्म को फॉक्स स्टार दीपिका पादुकोण का केए एंटरटेनमेंट और मेघना गुलजार मिलकर प्रोड्यूस कर रहे है। 

गौरतलब है कि इस फिल्म की शूटिंग 25 मार्च से शुरू होगी। फिल्म में दीपिका मालती नाम की एक ऐसी लड़की का रोल निभा रही हैं जिसपर एसिड अटैक होता है लेकिन वो अपने जिंदगी की जंग जीत जाती है और बहादुरी से इन हालातों का सामना करती है। मेघना ने फिल्म छपाक की स्क्रिप्ट को दीपिका के साथ शेयर करने के बारे में बताया था। 

धारावाहिकों में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ गलत: रजा मुराद

Raza Murad latest news

लखनऊ। बॉलीवुड के जाने-माने अभिनेता रजा मुराद ने ऐतिहासिक किरदारों पर आधारित टेलीविजन धारावाहिकों में तथ्यों को तोड़-मरोड़कर मसालेदार अंदाज में पेश किए जाने को गलत करार देते हुए कहा कि जो होना चाहिए और जो हो रहा है, उसमें बड़ा फर्क है। अपनी फिल्म दुलारी की शूटिंग के लिए लखनऊ आए रजा मुराद ने भाषा से बातचीत में आजकल ऐतिहासिक घटनाओं और किरदारों पर आधारित टीवी धारावाहिकों में तथ्यों, घटनाक्रमों और पात्रों के पहनावों तथा भाव-भंगिमाओं को मनमाने तरीके से पेश किए जाने पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि इससे ऐतिहासिक तथ्यों के बारे में नयी पीढ़ी में गलतफहमियां फैल रही हैं।

प्रेम रोग, बाजीराव मस्तानी, पद्मावत और राम तेरी गंगा मैली जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्मों में यादगार किरदार निभा चुके मुराद ने अक्सर धारावाहिकों में ऐतिहासिक तथ्यों को गलत तरीके से पेश किये जाने पर 'उपकार' फिल्म में प्राण द्बारा कहा गया एक संवाद याद करते हुए कहा कि दिन में मैं वह कहता हूं, जो होना चाहिये, और रात में मैं वह कह रहा हूं जो हो रहा है।

तो जो होना चाहिए और जो हो रहा है, उसमें बड़ा फर्क है। उन्होंने कहा कि टीवी मीडिया उद्योग और फिल्म इंडस्ट्री की हमेशा से जिम्मेदारी रही है कि वह समाज को उसके आज और गुजरे हुए कल के बारे में सही और तथ्यात्मक जानकारी दे, मगर बाजारीकरण के इस दौर ने प्राथमिकताओं को पूरी तरह बदल डाला है।

अब तक 250 से ज्यादा फिल्मों में विभिन्न भूमिकाएं निभा चुके मुराद ने एक सवाल पर कहा कि खासकर ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर आधारित धारावाहिकों के निर्माण में तथ्यों को लेकर जरूरी गहरे शोध की घोर कमी महसूस होती है। यहां तक कि पौराणिक धारावाहिकों में भी तथ्यों से छेड़छाड़ नजर आती है।

साथ ही धार्मिक मान्यताओं से जुड़ी चीजों के चित्रण में भी अधकचरापन नजर आता है। उन्होंने कहा कि इससे पहले कि चीजें और ज्यादा खराब हों, इस चलन को जल्द से जल्द रोका जाना चाहिए। मुराद ने पद्मावत फिल्म को लेकर पिछले साल देश के विभिन्न हिस्सों में हुए बवाल के बारे में कहा कि यह तो प्रजातंत्र है ही नहीं कि बिना किसी गवाही और सुबूत के आधार पर आप किसी नतीजे पर पहुंच जाएं।

प्रदर्शन करने का हक तो सभी को है, लेकिन कानून को अपने हाथ में लेना, तोड़फोड़ करना तो कानूनन जुर्म है। पद्मावत समेत हाल में आई फिल्मों में एक समुदाय विशेष को नकारात्मक पात्रों के तौर पर दिखाये जाने के बारे में इस 72 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि यह बात सिर्फ पद्मावत की ही नहीं है, यह बड़ी आम बात हो गयी है। चूंकि प्रभावित तबका इन बातों को नजरअंदाज कर रहा है, लिहाजा ये बदस्तूर जारी हैं।

आईपीएल में पंत ने धोनी के इस रिकॉर्ड को तोड़ा, ऐसा करने वाले बन गए पहले बल्लेबाज

In the IPL, Pant broke Dhoni's record, becoming the first batsman to do so

स्पोटर्स डेस्क। आईपीएल 2019 में रविवार को दिल्ली कैपिटल्स और मुुंबई इंडियंस के बीच मैच खेला गया। इस मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने जीत हासिल की। दिल्ली की तरफ से जीत के हीरो युवा खिलाडी ऋषंभ पंत रहे थे। पंत ने इस मैच में ताबडतोड बल्लेबाजी की। इतना ही नहीं उन्होंने इस पारी के साथ चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान एमएस धोनी का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। 

आपको बता दें कि इस मैच में ऋषंभ पंत ने नाबाद 78 रनों की शानदार पारी खेली। अपनी इस पारी में पंत ने महज 27 गेंदों का सामना किया। अपनी इस पारी में पंत ने 7 चौके और 7 छक्के भी लगाए। पंत की बल्लेबाजी से ही दिल्ली कैपिटल्स ने 200 रन का स्कोर पार किया। 

इतना ही नहीं इस युवा ​बल्लेबाज की बदौलत ही दिल्ली ने आखिरी छह ओवर में 99 रन बना डाले। इस तरह मुंबई को जीत के लिए 214 रन का विशाल लक्ष्य दियाा। अपनी इस पारी की बदौलत पंत ने अपने नाम एक रिकॉर्ड को भी कर लिया है। पंत ने अपना अर्धशतक  महज 18 गेंदों पर पूरा किया। इस तरह उन्होंने धोनी को भी पछाड दिया। 

गौरतलब है कि मुंबई के खिलाफ सबसे तेज अर्धशतक धोनी के नाम था। धोनी ने साल 2012 में 20 गेंदों में यह कमाल किया था। हालांकि यदि आईपीएल में सबसे तेज अर्धशतक की बात की जाए तो वह केएल राहुल के नाम है। राहुल ने साल 2018 में दिल्ली के खिलाफ 14 गेंदों पर यह कारनामा अपने नाम किया। इसके बाद सुनील नरेन और यूसुफ पठान 15 गेंद और सुरेश रैना 16 गेंद का नंबर आता है। 

राणा ने आउट होने के लिए इसे ठहराया जिम्मेदार, वजह जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान!

Rana upheld it to be responsible

कोलकाता। कोलकाता नाइट राइडर्स के रविवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग मैच के दौरान एक फ्लड लाइट के शार्ट सर्किट के कारण बंद होने से 12 मिनट तक खेल रोकना पड़ा। केकेआर के बल्लेबाज नितीश राणा ने अपने आउट होने के लिए बत्ती गुल होने को जिम्मेदार ठहराया।

यह घटना सात बजकर 18 मिनट पर हुई जब सनराइजर्स के राशिद खान 16वें ओवर की तीसरी गेंद फेंकने की तैयारी कर रहे थे। राणा तब 68 रन बनाकर खेल रहे थे। राणा ने केकेआर की छह विकेट की जीत के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मुझे पता ही नहीं चला कि ऐसा हुआ है। अचानक मेरी रणनीति में बाधा आ गई।

जब मैं ड्रेसिंग रूम में आया तो मैंने लय गंवा दी। माहौल भी थोड़ा सहज हो गया। उन्होंने कहा कि ब्रेक के कारण मैं रक्षात्मक हो गया। अगर ब्रेक नहीं होता तो मैं मैच को खत्म कर सकता था। सुनील नारायण की अंगुली में चोट के कारण राणा को क्रिस लिन के साथ पारी का आगाज करने भेजा गया था। उन्होंने केकेआर को मैच में बनाए रखा लेकिन राशिद ने ब्रेक के बाद पहली गेंद पर ही उन्हें पगबाधा कर दिया।

बैंक से कर्ज लेकर भागने वालों पर कसी जाएगी नकेल, चुनाव लड़ने पर लगेगी रोक!

Lok Sabha Elections 2019 latest news

हैदराबाद। अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी महासंघ (एआईबीईए) ने मुख्य चुनाव आयुक्त से बैंक का कर्ज लेकर भागने वाले लोगों को लोकसभा का चुनाव लड़ने से वंचित रखने की अपील की है। एआईबीईए के महासचिव सीएच वेंकटचलम ने रविवार रात सीईसी सुनील अरोड़ा को भेजे गए अपने पत्र में लिखा, यह एक सर्वविदित तथ्य है कि इन बुरे ऋणों से बड़े व्यवसाय खड़े किए जाते हैं और संपन्नता अर्जित की जाती है।

बैंक का कर्ज नहीं लौटाने वाले कई मामलों में जानबूझकर और फंड के डायवर्सन आदि कारण पाये जाते हैं, दुर्भाग्य से, बैंक लोन डिफॉल्ट अभी भी एक सिविल अपराध है और इसलिए बैंक से कर्जा लेने वालों के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई नहीं की जा रही है। वेंकटचलम ने कहा कि हम सरकार से समय-समय पर इन बकाएदारों के नामों के प्रकाशन की मांग करते रहे हैं लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

हम फिर से जानबुझकर बैंक का कर्जा नहीं लौटाने वालों के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। लेकिन सरकार इसे भी टाल रही है और इससे बच रही है। ये सभी बड़े कर्जदारों को कर्ज लेने और बैंकों को धोखा देने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। यह स्पष्ट है कि बैंकों को धोखा देना लोगों को धोखा देने के अलावा और कुछ नहीं है, क्योंकि बैंक लोगों की ओर से जमा किए गए धन से ही ऋण का वितरण करते हैं।

उन्होंने कहा कि गबन करने वाले कर्जदारों पर कड़ी कार्रवाई करने के बजाय, केंद्र सरकार बहुत अधिक उदारता दिखा रही है जिसके कारण यह कर्जदार पुनर्भुगतान में भारी रियायतें हासिल कर रहे हैं। जिसके कारण बैंकों को भारी नुकसान का सामना करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

शीर्ष संघ नेता ने कहा कि हमारे पास अतीत में कड़वा अनुभव है जहां बैंक ऋण डिफाल्टर चुनाव लड़ने में सक्षम हो गए तथा सांसद और विधायक बन गए हैं एवं मंत्री भी बन गए हैं। हम सार्वजनिक हित में मांग कर रहे हैं, कि बैंक ऋण चूककर्ताओं को चुनाव लड़ने या किसी भी सार्वजनिक कार्यालय को रखने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें यकीन है कि चुनाव आयोग इसमें शामिल राष्ट्रीय हितों पर विचार करेगा और उपयुक्त दिशानिर्देश जारी करेगा।

356 अंक की गिरावट लेकर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी 103 अंक लुढ़का

Sensex closes 356 points down Nifty rolled 103 points

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सुबह कारोबार की शुरूआत गिरावट के साथ लाल निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर भी ये गिरावट के साथ ही बंद हुआ, गिरावट के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स जहां 355.50 अंक यानि 0.93 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,808.91 के स्तर पर बंद हुआ, वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 102.65 यानि 0.90 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,354.25 के स्तर पर बंद हुआ।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शेयर बाजार सुबह बढ़त के साथ खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये गिरावट के साथ बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 92.31 अंक यानि 0.24 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 38,479.06 के स्तर पर  खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 222.14 अंक यानि 0.58 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,164.61 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 30.00 अंक यानि 0.26 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,551.05 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 64.15 अंक यानि 0.56 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,456.90 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.