पीओके में पाक सेना और सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग

Samachar Jagat | Tuesday, 10 Sep 2019 11:34:21 AM
People took to the streets against the Pak Army and the government in PoK

इंटरनेट डेस्क। पाकिस्तानी सेना और सरकार की ज्यादती के खिलाफ पीओके में एक बार फिर लोग सड़कों पर उतरे है। पीओके के तत्तापानी इलाके में आज पाकिस्तानी सरकार, सेना के खिलाफ जमकर प्रदर्शन हुए। लोगों ने पाकिस्तानी सेना और सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन करते हुए पाकिस्तानी फौजियों छोड़ दो कश्मीर को और ये सब गुंडागर्दी है, इसके पीछे वर्दी है जैसे नारे लगाएं। इस प्रदर्शन का वीडियो भी सामने आया है।

इसमें बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी मौजूद हैं, जिन्हें फोर्स हटाने की कोशिश कर रही है। इस प्रदर्शन से एक बार फिर साफ हो गया कि पाकिस्तान कश्मीर को लेकर भारत पर झूठे आरोप लगाता है लेकिन पीओके में अपनी फौज के जुल्म पर आंखें बंद कर लेता है। पाकिस्तानी सेना पीओके के आम लोगों को एलओसी की तरफ धकेल रही है ताकि भारतीय सेना की गोलीबारी में आम नागरिक मारे जाएं और भारतीय सेना का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नाम खराब किया जा सके।

एलओसी पर नौशेरा सेक्टर पर करीब आधा दर्जन पाकिस्तानी नागरिक एलओसी के करीब 150 मीटर के दायरे तक पहुंच गए। ये पाकिस्तानी नागरिक पाकिस्तानी सेना की चैकियां पार कर यहां तक पहुंचे थे। नौशेरा के दूसरी तरफ पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानि पीओके का लाम इलाका हैं। ये सभी लोग पठानी सूट पहने थे।

 नौशेरा सेक्टर में तैनात भारतीय सैनिकों ने बेहद संयम बरते हुए फायरिंग की ताकि इन पाकिस्तानों लोगों को एलओसी से खदेड़ दिया भी जाए और कोई हतातत भी ना हो। कुछ ही देर की फायरिंग में ये सभी लोग वहां से भाग खड़े हुए। ये लोग पाकिस्तानी सेना की चैकियों को पार कर एलओसी के इतने करीब पहुंचे थे। लेकिन इनका एलओसी के इतने करीब आने का मकसद साफ साफ पता नहीं लग पाया है।

लेकिन इतना जरूर पता चल पाया है कि इस घटना से कुछ देर पहले ही लाम इलाके की पाकिस्तानी चैकियों के पीछे विरोध प्रदर्शन और शोरगुल की आवाज सुनाई दी थी। ऐसे में ये कयास लगाए जा रहे हैं कि ये लोग एलओसी के करीब रहने वाले हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.